बिना पैंट्स के अंडरवियर में मेट्रो में घूमते रहे लड़के-लड़कियां, लेकिन क्यों?

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। कड़ाके की ठंड के बीच लोग बिना पैंट के घूमते नजर आएं तो क्या हो? आप अगर इसे मजाक समझ रहे हैं तो आप गलत हैं। अमेरिका, ब्रिटेन, यूरोंप के कई देशों में 8 जनवरी को कड़ाके की ठंड के बीच लोग बिना पैंट के अंजरवियर में घूमते नजर आएं। हर साल की तरह इस साल भी 8 जनवरी को अमेरिका और यूरोप के कई देशों में नो पैंटेस डे मनाया गया। न्यूयार्क, शिकागो, लॉस एंजिलिस, लंदन, पेरिस समेत कई देशों में लोगों ने 'नो पैंट्स सबवे राइड डे' सेलिब्रेट किया गया।

man and women walk in underwear in metro on no pants day

बिना पैंट्स के लड़के-लड़कियां

इस मौके पर लोगों ने एक पूरा दिन बिना पैंट्स के बिताया। लड़के-लड़कियां सभी बिना पैंटेस के अंडरवियन में नजर आएं। आपको बता दें कि ठंड को देखते हुए लोगों को को अंदेशा था कि इतनी तादात में लोग नो पैंट्स डे में हिस्सा नहीं लेंगे, लेकिन जब सुबह लोगों का नाजारा दिखा तो उत्साह और दोगुना हो गया। गौरतलब है कि साल 2002 में नो पैंट्स सबवे राइड डे की शुरूआत हुई थी।

कब हुई शुरूआत

2002 में 'इवप्रोव' नाम के मशहूर थिएटर ग्रुप ने इस की शुरूआत की। उस वक्त ग्रुप के सात सदस्यों ने पूरा दिन बिना पैंट्स के सबवे में गुजारा और मेट्रो का सफर किया। न्यूयार्क में शुरू हुआ ये इवेंट धीरे-धीरे पूरे अमेरिका और यूरोप में फेमस हो गया। इस इवेंट में हिस्सा लेने वाले लोग पूरे कपड़े पहनते हैं। कोर्ट, जैकेट, कैंप, जूते-मौजे, लेकिन पैंट्स कोई नहीं पहनता। लड़के हो या लडकियां, बिना पैंट्स के होने के बावजूद बिल्कुल भी असहज महसूस नहीं करते हैं।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
This strike is pants! Passengers strip off ahead of today's stoppage to take part in No Trousers On The Tube Day.
Please Wait while comments are loading...