जानिए सोनिया गांधी किसको बना सकती हैं बिहार कांग्रेस अध्यक्ष?

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। बिहार में प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाए गए कांग्रेस नेता अशोक चौधरी ने कांग्रेस प्रतिनिधि सम्मेलन का बहिष्कार किया है। अशोक चौधरी मीटिंग छोड़कर अपने समर्थकों से बाहर निकले, अपने समर्थकों के साथ मारपीट का आरोप भी लगाया। इस दौरान कुछ समर्थकों के कपड़े भी फटे हुए थे। इसी बीच खबर है कि कांग्रेस नेता अखिलेश प्रसाद सिंह बिहार कांग्रेस पद की रेस में आगे चल रहे हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अखिलेश प्रसाद सिंह के नाम पर कांग्रेस आला नेता विचार कर सकते हैं।

पैसा लेकर डेलीगेट बनाया गया

पैसा लेकर डेलीगेट बनाया गया

बिहार कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक चौधरी ने आरोप लगाया कि डेलीगेट्स की लिस्ट बदली गई है और दूसरी पार्टियों से आए लोगों को पैसा लेकर डेलीगेट बनाया गया। उन्होंने कहा कि पार्टी को तोड़ने की कोशिश की जा रही है, मैं इसकी शिकायत राहुल गांधी से करुंगा।आपको बता दें कि ब्लॉक लेवल के डेलीगेट्स ही प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव करते हैं, वहीं चौधरी का आरोप है कि लिस्ट को फर्जी तरीके से बदला गया ताकि अपने पसंद का अध्यक्ष पद चुना जा सके।

अशोक चौधरी पर निशाना

अशोक चौधरी पर निशाना

बिहार प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कोकब कादरी ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए कहा कि सब कुछ पार्टी के संविधान के मुताबिक हो रहा है। उन्होंने पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी पर निशाना साधते हुए कहा कि आलाकमान से ऊपर कोई नेता नहीं है। कोई भी व्यक्ति आलाकमान पर टिप्पणी करेगा, पार्टी में गतिरोध की स्थिति पैदा करेगा या फिर पार्टी को कमजोर करना चाहेगा वो चाहे कितना बड़ा नेता हो मैं उस पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करूंगा।

अखिलेश प्रसाद सिंह को मिल सकता है मौका

अखिलेश प्रसाद सिंह को मिल सकता है मौका

प्रदेश कांग्रेस में संगठन चुनाव की प्रक्रिया पूरी हो गई है। सोमवार को प्रत्येक ब्लॉक से चुने गए प्रतिनिधि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को बिहार का अध्यक्ष चुनने के प्रस्ताव पर अपनी मुहर लगाएंगे। उसके बाद बिहार कांग्रेस अध्यक्ष के चयन का रास्ता साफ हो जाएगा। सूत्रों की मानें तो पूर्व केंद्रीय मंत्री अखिलेश प्रसाद सिंह को इस पद का प्रबल दावेदार माना जा रहा है।कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अखिलेश प्रसाद सिंह ने अशोक चौधरी की तुलना गाय बैल से करते हुए कहा था कि अशोक चौधरी को सोमवार के सम्मेलन में आने का न्यौता भेजा गया है। उन्होंने कहा कि क्या वो गाय बैल हैं कि उन्हें पकड़ कर लाया जाए। वो पार्टी के सम्मनित नेता हैं। कुल मिलाकर देखा जाए तो बिहार कांग्रेस में सबकुछ ठीक ठाक नहीं चल रहा है।

10 मिनट में पकड़िए फ्लाइट, बेंगलुरू में देश का पहला 'आधार एयरपोर्ट'

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
All eyes on new Bihar Congress president; announcement expected by October 16
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.