• search
बिहार न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

Pics- छठ पर्व पर देश भर में खुशियां, पटना में मातम

By Ajay Mohan
|
Google Oneindia News

पटना/नई दिल्‍ली। छठ पर्व के दूसरे दिन मंगलवार को बिहार में पटना की सुबह गमगीन थी। अखबारों के मुख्‍य पृष्‍ठों पर शवों की तस्‍वीरें और लोगों की आंखों में आंसू। गंगा के तट पर जिस समय लोग उगते सूर्य को नमस्‍कार कर रहे थे, तब कई लोग अपनी मां, भाई, बहन, बेटी, बेटों की तलाश में तट पर भटकते दिख रहे थे। नज़ारा काफी गमगीन था।

जी हां सोमवार की शाम जहां लाखों लोगों ने छठ मैया का पूजन कर खुशियां मनायीं, वहीं पटना में दर्जनों घरों को यह त्‍योहार जिंदगी भर के गम देकर गया। इसके लिये अगर कोई जिम्‍मेदार है तो वो है सिर्फ बिहार सरकार की व्‍यवस्‍था।

जी हां हर साल लाखों की संख्‍या में लोग गंगा के तट पर पूजन करने आते हैं, यह जानते हुए भी पुलिस की व्‍यवस्‍था में चूक हो गई। पुलिस ने न तो कोई बैरीकेडिंग की और न किसी अनहोनी के लिये बचाव दल को तैयार किया। सरकारी तंत्र ने एक अस्‍थाई पुल भी बनाया वो भी कमजोर। पुल के टूटने के कारण मची भगदड़ में 18 जानें चली गईं। गैर सरकारी आंकड़ों के मुताबिक यह संख्‍या 21 है। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने मुआवजा का ऐलान कर अपनी जिम्‍मेदारी को पूरा कर दिया, लेकिन उन परिवारों का क्‍या जो शायद अब कभी छठ पर्व नहीं मनायेंगे।

खैर यह एक होनी थी और होनी को कौन आल सकता है। चलिये अब हम आपको लेकर चलते हैं हिंदुस्‍तान के उन शहरों में जहां छठपर्व धूम-धाम से मनाया गया। इन्‍हीं तस्‍वीरों में हम आपको दिखायेंगे भगदड़ के बाद की तस्‍वीरें।

रायपुर के बचेली में छठ पूजन का आयोजन

रायपुर के बचेली में छठ पूजन का आयोजन

रायपुर के बचेली में छठ पूजन का आयोजन किया गया, जिसमें सैंकड़ों परिवार इकठ्ठा हुए और सूर्य को अर्घ दिया।

रायपुर में छठ पूजा

रायपुर में छठ पूजा

देखें किस तरह से लोग छठ मैया की पूजा करने के लिये तट पर पहुंचे हैं। यहां हर परिवार के लगभग सभी सदस्‍य पहुंचे हुए हैं।

मुंबई के जूहू में छठ पूजा

मुंबई के जूहू में छठ पूजा

मुंबई में रहने वाले उत्‍तर भारतीयों ने जूहू बीच पर छठ पूजन किया। यहां पर 50 हजार से ज्‍यादा लोग आये। लेकिन हर बार की तरह इस बार यहां ज्‍यादा हर्षोल्‍लास नहीं दिखा, क्‍योंकि पूरी मुंबई बाल ठाकरे के गम में डूबी हुई थी।

पटना में छठ पूजन

पटना में छठ पूजन

छठ पर्व पर जनता को बधाई देने के लिये मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार खुद गंगा के तट पर पहुंचे। उस समय तक सब कुछ ठीक चल रहा था।

नीतीश कुमार ने भी की पूजा

नीतीश कुमार ने भी की पूजा

छठ पर्व पर जनता को बधाई देने के लिये मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार खुद गंगा के तट पर पहुंचे। उस समय तक सब कुछ ठीक चल रहा था। बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने भी सूर्य को अर्घ दिया।

गंगा के तट पर पूजन

गंगा के तट पर पूजन

देखिये किस तरह लोगों ने गंगा के तट पर पूजन किया।

अर्घ देती महिला

अर्घ देती महिला

यह तस्‍वीर उस समय की है, जब सब कुछ सही चल रहा था और महिलाएं नदी किनाने पानी में उतर कर अर्घ दे रही थीं।

आगरा में छठ पर्व

आगरा में छठ पर्व

आगरा में यमुना नदी के किनारे कुछ इस तरह छठ पर्व मनाया गया।

दिल्‍ली में छठ पर्व

दिल्‍ली में छठ पर्व

दिल्‍ली में यमुना नदी के तट पर महिलाओं ने सूर्य को अर्घ दिया।

दिल्‍ली में यमुना नदी के तट पर पर्व

दिल्‍ली में यमुना नदी के तट पर पर्व

दिल्‍ली में यमुना नदी के तट पर लोगों ने इस तरह से छठ पर्व मनाया।

जयपुर में छठ की रौनक

जयपुर में छठ की रौनक

देखिये छठ पर्व की रौनक जयपुर में भी रही। यहां पर लोगों ने द्वीप दान किया और सूर्य देवता की पूजा की।

कोलकाता में अनोखा तरीका

कोलकाता में अनोखा तरीका

कोलकाता में सड़क पर लेट-लेट कर महिलाएं तट तक जाती हैं और वहां पूजन करती हैं।

छठ पर्व पर सूर्यास्‍त

छठ पर्व पर सूर्यास्‍त

छठ पर्व पर जब भारत में सूर्य अस्‍त हुआ तो देश भर में मिठाईयां बांटी जा रही थीं। लेकिन शायद तब पटना को नहीं पता था कि यह रात उसके लिये काली होगी।

अचानक मची भगदड़

अचानक मची भगदड़

अचानक भगदड़ मच गई और लोग इधर-उधर भागने लगे। इस दौरान महिलाएं, पुरुष और बच्‍चे कौर किधर भागा किसी को पता नहीं था। इसी बीच कई बच्चों और महिलाओं समेत 21 लोग भीड़ के नीचे दब कर मर गये।

कई लापता

कई लापता

भगदड़ में 50 से ज्‍यादा लोगों के लापता होने की खबर है। जिन लोगों के बच्‍चे या अपने नहीं मिले, वो रात भर गंगा के तट पर भटकते रहे। यहां तक मंगलवार की सुबह भी लोग अपनो को खोजते नजर आये।

मृतकों में बच्‍चे ज्‍यादा

मृतकों में बच्‍चे ज्‍यादा

इस भगदड़ में कुल 21 लोगों की मैत हुई, जिनमें 9 बच्‍चे हैं। बताया जा रहा है कि कई बच्‍चे घायल भी हुए हैं, कई की हालत गंभीर है।

शोक में डूबे परिजन

शोक में डूबे परिजन

इस दर्दनाक घटना के बाद सैंकड़ों परिवार शोक में डूब गये। यूं कहिये कि पूरे बिहार राज्‍य का दिल दहल सा उठा।

English summary
The death of 21 people during the stampede in Patna turned down the happiness of the festival into life time sadness.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X