• search
keyboard_backspace

21 अक्टूबर के दिन ही सुभाष चंद्र बोस ने बनाई थी वैकल्पिक सरकार, जानिए नेताजी पर कैसे लिखें निबंध

Google Oneindia News

नई दिल्ली, 21 अक्टूबर: भारत की आजादी की लड़ाई लड़ने वालों में सुभाष चंद्र बोस या नेताजी सबसे अग्रणी स्वतंत्रता सेनानियों में से एक थे। सुभाष चंद्र बोस भारतीय राष्ट्रवादी और क्रांतिकारी थे, जिन्होंने भारत माता की आजदी के लिए 1943 में 21 अक्टूबर के दिन आजाद हिंद फौज के सेनापति के रूप में स्वतंत्र भारत की वैकल्पिक सरकार बनाई थी। जिसका नाम उन्होंने ''आरजी हुकूमत-ए-आजाद हिंद'' रखा था। नेताजी सुभाष चंद बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 में हुआ था। नेता जी ने अपने विचारों और शिक्षाओं से लाखों लोगों को प्रेरित किया। उनकी अटूट देशभक्ति और भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में उनके योगदान को आज भी याद किया जाता है।

subhash chandra bose

नेता जी सुभाष सुभाष चंद्र बोस का मानना था कि आजादी हमारा अधिकार है। उन्होंने कहा था कि आजादी दी नहीं जाती, आजादी छीनी जाती है। 1921 में नेता जी सुभाष सुभाष चंद्र बोस ने प्रशासनिक सेवा की प्रतिष्ठित नौकरी छोड़कर देश की आजादी की लड़ाई में शामिल हो गए। हालांकि उनके विचार महात्मा गांधी से मेल नहीं खाते थे, उनका मानना था कि अहिंसा के रास्ते पर चलकर आजादी नहीं मिल सकती है। नेता जी के उग्र विचारों के कारण देश कई लाखों युवाओं का उनको समर्थन मिला। इसी समर्थन की वजह से उन्होंने आजाद हिंद फौज की स्थापना की। उन्होंने अपने नौजवानों को कहा था , ''तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा''

सुभाष चंद्र बोस पर निबंध

- स्वतंत्रता सेनानी नेता जी सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 को ओडिशा के कटक में हुआ था। सुभाष चंद्र बोस के पिता का नाम जानकीनाथ बोस और उनकी माता का नाम प्रभाती दत्त बोस था।

-सुभाष चंद्र बोस एक महान राष्ट्रवादी और स्वतंत्रता सेनानी थे। सुभाष चंद्र बोस ने बहादुरी से भारत की आजादी के लिए लड़ाई लड़ी।

-सुभाष चंद्र बोस को 'नेता जी' के नाम से भी जाना जाता है।

- सुभाष चंद्र बोस स्वामी विवेकानंद के विचारों से काफी प्रभावित थे।

- नेताजी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सक्रिय सदस्य थे। उन्हें 1923 में अखिल भारतीय युवा कांग्रेस के अध्यक्ष के रूप में चुना गया था।

-सुभाष चंद्र बोस को 1939 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया था।

-सुभाष चंद्र बोस ने सविनय अवज्ञा आंदोलन में हिस्सा लिया था।

-सुभाष चंद्र बोस के विचार महात्मा गांधी से अलग थे। हालांकि नेताजी गांधी जी के नेतृत्व वाले असहयोग आंदोलन में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया था।

- सुभाष चंद्र बोस की भारतीय राष्ट्रीय सेना को आज़ाद हिंद फौज के नाम से जाना जाता है।

-नेता जी सुभाष चंद्र बोस का दिया हुआ सबसे मशहूर नारा है- 'तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा''

-भारतीय सैनिकों ने जर्मनी में सुभाष चंद्र बोस को 'नेता जी' की उपाधी दी थी।

- नेताजी सुभाष चंद्र बोस की मृत्यु 18 अगस्त 1945 को ताइवान में एक विमान दुर्घटना में हुई थी।

-अंग्रेजों ने सुभाष चंद्र बोस को नजरबंद कर दिया।

-माना जाता है कि 18 अगस्त 1945 को नेता जी का निधन हुआ। हालांकि उनकी मृत्यु का सच आजतक सामने नहीं आया है। कहा जाता है कि 18 अगस्त 1945 को नेता जी का अतिभारित जापानी विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था।

ये भी पढ़ें- जानिए कब से मनाया जा रहा है अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस, इन संदेशों के जरिए लड़कियों को कराएं स्पेशल फीलये भी पढ़ें- जानिए कब से मनाया जा रहा है अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस, इन संदेशों के जरिए लड़कियों को कराएं स्पेशल फील

Comments
English summary
short speech on subhash chandra bose all you need to know about netaji
For Daily Alerts
Related News
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X