• search
उत्तराखंड न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

UKSSSC पेपर लीक :साधारण कुक से पेपरलीक का मास्टरमाइंड तक की 'हाकम' की कहानी पूरी फिल्मी

|
Google Oneindia News

देहरादून, 19 अगस्त। उत्तराखंड अधीनस्थ चयन आयोग के पेपर लीक प्रकरण के सामने आने के बाद हर दिन एसटीएफ बड़े-बड़े खुलासे कर रहे हैं। इस प्रकरण में अब तक 20 आरोपी पकड़े जा चुके हैं। लेकिन इन 20 चेहरों में एक ऐसा चेहरा है, जिसके बारे में हर कोई जानना चाहता है। वो है इस प्रकरण का मास्टरमाइंड कहा जा रहा हाकम सिंह। हाकम सिंह उत्तरकाशी जिले का रहने वाला है। जिसकी राजनीतिक पृष्ठभूमि के साथ-साथ विदेशों तक कारोबार होने का दावा किया जा रहा है। लेकिन सवाल ये है कि आखिर हाकम सिंह ने इतनी संपत्ति कैसे अर्जित की।

uttarakhand uttarkashi uksssc paper leak mastermind hakam singh rawat story simple cook

हाकम नेता, कारोबारी और अभिनेता भी

अब तक जांच में जो बातें सामने आई है। एसटीएफ हाकम सिंह को ही सरकारी नौकरियों का सौदागर मानकर चल रही है। लेकिन हाकम सिंह की कहानी भी किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है। हाकम नेता, कारोबारी और अभिनेता भी है। हाकम को वीडियो एल्बम का भी काफी शौक रहा है। यूट्यूब पर हाकम सिंह के कई वीडियो इन दिनों वायरल हो रहे हैं। हाकम सिंह ने उत्तरकाशी के मौरी इलाके से छोटा काम शुरू किया और उत्तरप्रदेश के नकल माफियाओं तक कनेक्शन जोड़ लिए। हाकम सिंह की कहानी एक अधिकारी के कुक के साथ शुरू हुई जो कि अधिकारी के लिए खाना बनाने का काम करता था। जानकारी के अनुसार हाकम सिंह उत्तरकाशी के एक प्रशासनिक अधिकारी के घर कुक का काम करने लगा। कुछ दिनों बाद उस अधिकारी का ट्रांसफर हरिद्वार हुआ तो वह हाकम सिंह को भी अपने साथ ले गए। यहां वह अधिकारी का ड्राइवर बन गया।

हरिद्वार से खुला नकल माफियाओं का द्वार, राजनीति से भी मिली नई पहचान

हरिद्वार में हाकम का कुछ लोगों के साथ उठना बैठना हुआ तो वह पेपरलीक के धंधे से जुड़ गया। यहां उसकी मुलाकात यूपी के नकल माफियाओं से हो गई। इसके बाद हाकम ने इस धंधे में घूसने के लिए राजनीति का सहारा लिया। वर्ष 2008 में वह पंचायत की राजनीति में सक्रिय हो गया। वर्ष 2019 के पंचायत चुनाव में वह जिला पंचायत सदस्य बन गया। इस बीच हाकम ने राजनीति में अच्छी पेंठ बना ली। हाकम बड़े बड़े नेताओं और अधिकारियों से मिलकर फोटो खींचवाने लगा। जिसका इस्तेमाल वह अपने धंधे में करने लगा। हाकम सिंह ने मुख्यमंत्री, पूर्व मुख्यमंत्री से लेकर डीजीपी तक के साथ फोटो खिंचवाकर संवाद भी स्थापित कर लिए। इससे हाकम सिंह ने अकूत संपत्ति अर्जित कर सांकरी में आलीशान रिजॉर्ट तैयार करवा लिया। साथ ही विदेश तक कारोबार चलाने के संकेत मिल रहे हैं। जो कि भविष्य में सामने आ सकता है। इस मामले में जिस तरह हाकम सिंह की संलिप्तता सामने आई है, उससे साफ है कि हाकम ने अधिकािरयों से लेकर राजनेताओं के बीच अच्छी पैठ बिठा दी थी। लेकिन सवाल ये भी उठ रहा है कि हाकम सिंह का असली हुकुम कौन है।

उत्तरकाशी जिले में हाकम के कारोबार को लेकर पूरे क्षेत्र में हड़कंप

हाकम सिंह के यूकेएसएसएसपी पेपर लीक प्रकरण में संलिप्तता पाए जाने के बाद अब पुलिस दूसरे परीक्षाओं और पुराने नकल माफियाओं पर भी शिकंजा कसने जा रही है। उत्तरकाशी जिले में हाकम के इस कारोबार को लेकर सोशल मीडिया में कई पुरानी नौकरियों और हाकम सिंह के करीबियों पर सवाल उठ रहे हैं। जिससे पूरे क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है। जिस तरह से एक ही क्षेत्र के कई अभ्यर्थियों को पिछले समय में सरकारी नौकरियां मिली है। उससे ये पूरा गिरोह अब संदिग्ध हो गया है।

ये भी पढ़ें-राजकीय दून मेडिकल अस्पताल में राज्य का पहला लाइफस्टाइल क्लीनिक शुरू, यहां जीवनशैली को सुधारने का होगा प्रयासये भी पढ़ें-राजकीय दून मेडिकल अस्पताल में राज्य का पहला लाइफस्टाइल क्लीनिक शुरू, यहां जीवनशैली को सुधारने का होगा प्रयास

Comments
English summary
The story of 'Hakam' from the simple cook to the mastermind of Pepperleak is full film.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X