PICs: एक्शन में आई पुलिस तो लोगों को लगा हो रही है फिल्म की शूटिंग

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

वाराणसी। वाराणसी के सिगरा थाने के आस-पास अचानक सड़कों पर पुलिस एक्शन में लाठियों के साथ दौड़ती नजर आई। किसी को कुछ भी समझ में नहीं आ रहा था। इतना ही नहीं कुछ पुलिस वाले तो जान पर खेलकर चलती कारों के बीच से छलांग मारते हुए डिवाइडर पर कूदते दिखे। वहीं कुछ राहगीरों को लगा किसी फिल्म की शूटिंग का पार्ट तो नहीं है, पुलिस का दौड़ना, राहगीर महेंद्र ने बताया कि कुछ देर के लिए बाइक रोककर पुलिस की भाग-दौड़ देखता रहा, लगा कोई शूटिंग चल रही है। जैसे पता चला रीयल एक्शन है, मैं तत्काल निकल लिया। दरअसल शहर के काशी विद्यापीठ के 2 छात्रों के गुटों में वर्चस्व को लेकर जमकर मारपीट हो गई। इसमें एक गुट थाने के सामने चक्काजाम करके हंगामा करने लगा। इसके बाद पुलिस उपद्रवियों को खदेड़ने के लिए लाठियां लेकर उन्हें दौड़ाने लगी।

UP Police in Action, people misunderstood Filmy shooting
UP Police in Action, people misunderstood Filmy shooting

ये है विवाद की असल वजह

दरअसल इस हंगामे के पीछे मुख्य वजह ये थी कि वाराणसी के काशी विद्यापीठ में अब छात्र संघ चुनाव की गहमागहमी शुरू हो गई है। लोग अपने-अपने लोगों को प्रत्याशी बनाना चाहते हैं। यही नाम के जोड़-तोड़ के बीच एक का नाम कटने के बाद दूसरे को प्रत्याशी बनाए जाने की सूचना के बाद एक गुट दूसरे गुट को देखते ही विवाद शुरू कर बैठा। जिसके बाद मार खाए गुट के लोग सिगरा थाने पहुंच कर शक्ति प्रदर्शन करने लगे। इसी पर वाराणसी पुलिस एक्शन में आई तो आस-पास की दुकाने बंद होने लगी, यही नहीं इन शरारती तत्वों की तलाशी के लिए पुलिस वालों ने दुकानों के शटर उठाकर तलाशी ली।

UP Police in Action, people misunderstood Filmy shooting
UP Police in Action, people misunderstood Filmy shooting

क्या कहती है वाराणसी पुलिस?

सीओ उपेंद्र तिवारी ने बताया कि दो पुराने छात्र नेता खगोलन और झिलमिल राय आपस में चाचा-भतीजा हैं। कॉलेज की राजनीति में दोनों एक दूसरे से वर्चस्व की लड़ाई लड़ते हैं। खगोलन ने महामंत्री के लिए विकास पटेल को कैंडीडेट बनाया है। वहीं झिलमिल ने अनिल यादव को नाम सामने रखा है। विकास पटेल ग्रुप विद्यापीठ से सिगरा की ओर आ रहा था, तभी अचानक अनिल यादव गुट के लोग भी दूसरी ओर से आते दिखे।

UP Police in Action, people misunderstood Filmy shooting
UP Police in Action, people misunderstood Filmy shooting

दोनों पक्षों में झगड़ा शुरू हो गया। जिसमें दो छात्र घायल भी हो गए। घायल छात्रों के गुट ने चक्काजाम कर दिया। जिसको हटाने के लिए पुलिस ने लाठियां पटकीं। कुछ छात्रों को पुलिस ने हिरासत में भी लिया है। वहीं नाराज छात्र कोई भी बात करने को तैयार नहीं हुए। दोनों गुट एक दूसरे के खिलाफ तहरीर दे रहे हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
UP Police in Action, people misunderstood Filmy shooting
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.