प्रधान भतीजे की हत्या कर फोर्स से घंटों मुठभेड़ करता रहा चाचा, गिरफ्तार

Subscribe to Oneindia Hindi

कानपुर। यूपी में कानपुर से करीब 55 किलोमीटर दूर बिल्हौर थाना क्षेत्र के गजना गांव के प्रधान को सगे चाचा ने गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। गोली मारने के बाद हत्यारा चाचा ने खुद को घर के अन्दर बन्द कर लिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने जब हत्यारे को पकड़ना चाहा तो उसने घर के अंदर से कई फायर कर दिए। कई घंटे की मुठभेड़ के बाद हत्यारे को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। अरौल पुलिस चौकी इंचार्ज अशोक मिश्रा को एसएसपी ने सस्पेंड कर दिया।

भतीजे की मां का भी किया था मर्डर

भतीजे की मां का भी किया था मर्डर

बिल्हौर के गजना गांव में दबंग ओम प्रकाश का लम्बे समय से आतंक चला आ रहा है। ओम प्रकाश ने जमीनी विवाद के चलते भतीजा डिम्पल कटियार को बेरहमी से गोली मारकर कत्ल कर दिया। डिम्पल कटियार गजना का प्रधान है जिसकी वजह से चाचा ओम प्रकाश उससे नफरत करता था। सूत्रों से पता चला है कि 15 साल पहले ओम प्रकाश ने प्रधान डिम्पल कटियार की मां की भी हत्या की थी लेकिन सबूतों और पैरोकारी के अभाव के चलते ओम प्रकाश बच गया था। इस हत्या के बाद ग्रामीणों में आक्रोश फैल गया। ग्रामीणों ने आरोपी ओमप्रकाश का घर घेर लिया और घर को फूंकने का प्रयास करने लगे लेकिन पुलिस के आला अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर स्थिति को नियंत्रण किया।

जमीनी विवाद में भतीजे को भी मार डाला

जमीनी विवाद में भतीजे को भी मार डाला

बिल्हौर कोतवाली के गजना गांव में रहने वाले डिम्पल कटियार ग्राम प्रधान थे। जमीन को लेकर पड़ोस में रहने वाले सगे चाचा ओम प्रकाश कटियार से विवाद चल रहा था। कुछ दिनों पूर्व चाचा-भतीजे में जमीन को लेकर कहासुनी हुई थी। सोमवार देर शाम दोनों में एक बार फिर इसको लेकर बातचीत हुई और देखते ही देखते बातचीत मारपीट में बदल गई। इस दौरान चाचा आक्रोश में घर के अंदर गया और तमंचा लाकर ग्राम प्रधान भतीजे पर फायर झोंक दिया। ग्राम प्रधान लहुलूहान होकर जमीन पर गिर पड़ा। घटना देख परिवार व गांव में दहशत फैल गई। ग्रामीणों व भतीजे के परिवारीजनों के जुटने पर वारदात के बाद आरोपी घर में घुस गया। ग्रामीण जैसे ही आरोपी को पकड़ने का प्रयास करने लगे तो उसने ईंट-पत्थर चलाना शुरू कर दिया। इस बीच तड़पते हुए घायल ग्राम प्रधान की मौत हो गई। सूचना पर पहुंचे एसपी ग्रामीण जय प्रकाश सिंह, एसडीएम विनीत कुमार, सीओ बिल्हौर सुबोध जायसवाल व इंस्पेक्टर रमेश पांडेय फोर्स के साथ पहुंचे।

चाचा ने फोर्स पर चलाई गोलियांं

चाचा ने फोर्स पर चलाई गोलियांं

जैसे ही हत्यारोपी को पुलिस पकड़ने के लिए घर में दाखिल होने लगी उसने छत से फायरिंग शुरू कर दी। फायरिंग होने पर पुलिस ने मोर्चा संभालते हुए जवाबी कार्यवाही की। करीब तीन घंटे की मुठभेड़ के दौरान पुलिस ने आखिरकार हत्यारोपी को धर दबोचा। एसपी ग्रामीण जेपी सिंह ने बताया कि जमीनी विवाद में चाचा ने वर्तमान ग्राम प्रधान भतीजे की गोली मारकर हत्या कर दी है। हत्यारोपी को कड़ी मशक्कत के बाद हिरासत में ले लिया गया है तो वहीं ग्रामीणों में हत्यारोपी के प्रति गुस्सा देख बिल्हौर थाना की जगह दूसरे थाने में भेज दिया गया है।

प्रधान को चाहने वालों में हत्यारोपी के प्रति जबरदस्त गुस्सा है। इसी के चलते कई बार ग्रामीण हत्यारोपी का घर फूंकने का प्रयास किया लेकिन घर में महिलाओं के होने के चलते पुलिस हत्यारोपी से मुठभेड़ के साथ ही ग्रामीणों को भी खदेड़ा। इसी को देखते हुए एसएसपी अखिलेश कुमार मीणा ने गांव को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया है। पुलिस ने ओम प्रकाश और उसके लड़के विजय कटियार को गिरफ्तार कर लिया।

Read Also: जानिए, रायबरेली डीएम की फरियादी लड़की से चर्चित शादी के पीछे का सच

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Uncle encountered with force after killing pradhan nephew in Kanpur.
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.