आतंकवाद की घटनाओं पर अल्पसंख्यक समाज को शक की नजर से देखा जा रहा है- मायावती

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मुजफ्फरनगर। बसपा सुप्रीमो मायावती ने मुजफ्फरनगर में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में बसपा अकेले ही पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने जा रही है। उन्होंने कहा कि सपा के पांच साल के कार्यकाल के बाद प्रदेश की जनता उनसे काफी त्रस्त हैं। एक तरफ जहां भाजपा अपना सीएम उम्मीदवार नहीं घोषित कर पा रही है और तो दूसरी तरफ अखिलेश यादव की छवि दागदार है और उन्होंने कांग्रेस के साथ गठबंधन करके तमाम मुद्दों से लोगों का ध्यान हटाने की कोशिश कर रही है। कांग्रेस पार्टी अपने मूल सिद्धांतो और उसूलों को ताक पर रखकर गठबंधन किया है।

mayawati

मायावती के भाषण के मुख्य अंश

  • अगर आप लोग चाहते हैं कि भाजपा और अन्य सांप्रदायिक ताकतों को हराना चाहते हैं तो अपना मतदान सोच समझकर कीजिएगा। 
  • भाजपा के लोग प्रदेश की कानून व्यवस्था को बेहतर करने की बात करते हैं लेकिन जब वह केंद्र में देश की राजधानी की दिल्ली की कानून व्यवस्था को ठीक ढंग से संभाल नहीं सकती तो यूपी जिसकी आबादी कई गुना है की कानून व्यवस्था कैसे संभाल सकती है। 
  • गरीब और बेरोजगार लोग अपनी रोजी-रोटी के लिए परेशान हैं। 
  • सच्चर कमेटी की सिफारिशों को भाजपा सरकार में कभी भी लागू नहीं किया जा सकता है। 
  • आतंकवाद के नाम पर पूरे देश में खासकर कि देश के अल्पसंख्यक समाज को शक की नजर से देखा जा रहा है जिससे इनमें डर का माहौल रहता है। 
  • तीन तलाक, कॉमन सिविल कोड और जामिया मिलिया की अल्पसंख्यक मान्यता को खत्म करने की कोशिश हो रही है वह सही नहीं है और मैं इसके खिलाफ है। 
  • भाजपा ने अपने चहेते ललित मोदी, विजय माल्या के खिलाफ कुछ नहीं किया और इन लोगों को बचाने का काम किया है, जबकि हमारी सरकार ने यूपी में भ्रष्ट लोगों के खिलाफ कार्रवाई की है। 
  • अब यूपी की जनता गुमराह नहीं होने वाली है। 
  • इस बार का भी केंद्रीय बजट लोकसभा चुनाव के वायदों की तरह हवा-हवाई साबित हुआ है। 
  • नोटबंदी का फैसला सिर्फ राजनीतिक स्वार्थ और लोगों का ध्यान बांटने के लिए लिया गया है। 
  • बसपा के द्वारा खुली चुनौती देने के बाद भी भाजपा सरकार यह नहीं बता पा रही है कि नोटबंदी के बाद कितना कालाधन इकट्ठा किया गया। 
  • सपा और कांग्रेस की मिलीभगत के चलते पदोन्नति में प्रमोशन आजतक अटका हुआ है। 
  • भाजपा ने अपना एक ही वायदा पूरा किया है अपने खास धन्नासेठों को पहले से भी अधिक मालामाल बना दिया है, जिसके दम पर वह राज्य में भी सत्ता में आने का सपना देख रही है। 
  • भाजपा ने अपने बजट में नहीं बताया कि नोटबंदी के बाद तीन महीने में कितना पैसा इकट्ठा किया और किसे गिरफ्तार किया, इससे साफ है कि यह सिर्फ लोगों का ध्यान बांटने के लिए यह फैसला लिया गया था। 
  • नोटबंदी को राष्ट्रहित से जोड़कर इसे लागू किया, जिसकी मार से देश में 90 फीसदी लोग अभी तक उभर नहीं पा रहे हैं, करोड़ों लोग बेरोजगार हो गए हैं।
  • भाजपा का यह खास चुनावी वायदा भी अन्य वायदों की तरह हवा-हवाई साबित हुआ। 
  • भाजपा ने अपने चुनावी वायदे में कहा था कि वह सरकार बनने के बाद 100 दिन के भीतर कालाधन वापस लाएगी और लोगों के खाते में 15-20 लाख रुपए जमा कराए जाएंगे, लेकिन आजतक ऐसा नहीं किया गया। 
  • भाजपा को प्रदेश की सत्ता से दूर रखने के लिए अल्पसंख्यकों को भाजपा को वोट देना होगा। 
  • इसके चलते शिवपाल खेमा अखिलेश खेमे के खिलाफ जमीन पर काम करेगा। 
  • मुलायम सिंह ने कदम-कदम पर अपने भाई का पुत्र मोह में अपमान किया है
  • विकास के कार्य अधिकांश आधे-अधूरे ही किए गए और इसके प्रचार पर जनता का करोड़ो रुपया खर्च कर दिया गया। 
  • दादरी की घटना, बुलंदशहर की शर्मनाकक घटना ने सपा सरकार की पोल खोली है।
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Mayawati says we are going to make government with full majority. She address a rally in Muzaffarnagar takes on SP and Congress.
Please Wait while comments are loading...