अखिलेश सरकार में हुईं इन भर्तियों पर बैठी CBI जांच, इसी धांधली का आरोप लगा रहे थे योगी

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

इलाहाबाद। समाजवादी पार्टी की पूर्ववर्ती अखिलेश सरकार में हुई भर्तियों की जांच अब सीबीआई करेगी। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के द्वारा लगभग 20 हजार भर्तियां की गई हैं और ये सभी भर्तियां जांच के दायरे में हैं। जांच की जद में आने वाली ये भर्तियां 2012 से 2017 के बीच में हुई है और इन सभी भर्तियों में धांधली का आरोप है। गौरतलब है कि अखिलेश सरकार में 1 मार्च 2012 से लेकर 2017 के बीच कई भर्तियां हुई, इस दौरान लगभग 20 हजार पद भरे गए हैं। इन्हीं भर्तियों में धांधली की शिकायत को लेकर कई बार प्रतियोगियों ने प्रदर्शन किया, शिकायतें की और सड़क पर उतरे। योगी सरकार के सत्ता में आने के बाद ही सीबीआई जांच की संस्तुति कर दी गई थी और केंद्र सरकार से आग्रह किया गया था कि सीबीआई से यूपीपीएससी की भर्तियों की जांच कराई जाए।

CBI निकालेगी अखिलेश राज का सच

CBI निकालेगी अखिलेश राज का सच

अब जांच सीबीआई करेगी तो गड़े मुर्दे उखडेंखे और कुछ बड़े नामों के इसमें सामने आने की पूरी संभावना है। फिलहाल प्रतियोगी छात्र छात्रों ने इस बाबत खुशियां व्यक्त करते हुए कहा कि हमारी जीत हुई है और अब सच सामने आएगा। बता दें कि प्रतियोगी छात्र संघर्ष समिति ने भर्ती की गड़बड़ियों को लेकर लंबा आंदोलन चलाया था और आयोग पर धांधली, मनमानी का आरोप लगाते हुए पीएम और राष्ट्रपति तक आवाज उठाई थी।

योगी बार-बार लगा रहे हैं अरोप

योगी बार-बार लगा रहे हैं अरोप

कई बार मामले में निष्कर्ष की संभावना भी दिखी, लेकिन कभी वो जांच नहीं बैठी जिसकी उम्मीद छात्र कर रहे थे। हालांकि अब सीबीआई जांच से भर्तियों में हुई गड़बड़ी और मनमानी का सच सामने आ जाएगा। सबसे आश्चर्य की बात ये है कि सपा शासनकाल में लगभग जितनी भी भर्तियां हुई कोर्ट पहुंची कोर्ट में हर भर्ती विवादित रही और विवादों में भर्तियों का क्रम आखिरी समय तक जारी रहा।

CBI जल्द शुरू करेगी कार्रवाई

CBI जल्द शुरू करेगी कार्रवाई

यही कारण था कि योगी सरकार ने सत्ता में आने के बाद सभी भर्तियों के परिणामों पर रोक लगा दी थी और नई भर्तियां भी बंद कर दी थी। फिलहाल सीबीआई ने भर्तियों की जांच के लिए सहमति दे दी है और जल्द ही एफआईआर के साथ आगे की कार्रवाई शुरू होगी।

Read more:फुटबॉल में हिमाचल ने भारत की बढ़ाई शान, तरक्की मिली इंटरनेशनल

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
CBI investigate these recruitments held in Akhilesh Yadav Government that Yogi Adityanath accusing
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.