रोजा इफ्तार के बाद 150 लोगों को ले जाना पड़ा अस्पताल

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

बहराइच। हरवा टांड़ गांव में सोमवार शाम को रोजा इफ्तार पार्टी का आयोजन था। क्षेत्र के 150 से ज्यादा लोग शामिल हुए थे। इन सभी को इफ्तार के दो घंटे बाद मिचली और दस्त की शिकायत हुई। देखते ही देखते सभी बीमार हो गए। आनन-फानन में सभी को चिरैंयाटाड़ अस्पताल में पहुंचाया गया। यहां पर इलाज शुरू हुआ। लगभग 150 से ज्यादा लोग चपेट में हैं। हालांकि सभी खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं। आसपास स्वास्थ्य केंद्रों के चिकित्सक और चिकित्साकर्मी भी चिरैयाटांड़ सीएचसी भेजे गए हैं।

रोजा इफ्तार के बाद 150 लोगों को ले जाना पड़ा अस्पताल

हुजूरपुर थाना अंतर्गत हरवा टांड़ गांव स्थित मदरसे में सोमवार शाम को सामूहिक रोजा इफ्तार पार्टी का आयोजन हुआ था। लेकिन रोजा इफ्तार में नाश्ता करने के दो घंटे बाद सभी को पेट में दर्द, मिचली और दस्त की शिकायत शुरू हो गई। इस पर गांव के 20 से ज्यादा लोग सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चिरैयाटांड़ पहुंचे। कुछ देर बाद गांव में अन्य लोगों के बीमार होने की सूचना मिली। इस पर आनन-फानन में एंबुलेंस भेजी गई। 150 से ज्यादा लोग एंबुलेंस के द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाए गए।

रोजा इफ्तार के बाद 150 लोगों को ले जाना पड़ा अस्पताल

रोजा इफ्तार के बाद 150 लोगों को ले जाना पड़ा अस्पताल

चिरैयाटांड़ सीएचसी के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. एनके सिंह ने सीएमओ डॉ. अरुणलाल को मामले से अवगत कराया। इस पर कैसरगंज, हुजूरपुर, फखरपुर स्वास्थ्य केंद्रों के चिकित्सक और चिकित्साकर्मियों को भी चिरैयाटांड़ सीएचसी भेजा गया है। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. अरुणलाल ने बताया कि लूजमोशन की शिकायत हुई। शायद बासी खाना या नाश्ता करने से ऐसी स्थिति बनी है। सीएमओ ने कहा कि चिरैयाटांड़ के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. एनके सिंह से बात हुई है। इलाज के बाद सभी सुरक्षित हैं। कोई खतरे में नहीं है। फिलहाल 20 से 22 मरीज सीएचसी पर हैं। इलाज के बाद उन्हें भी घर भेज दिया जाएगा। उधर घटना की सूचना पाकर थानाध्यक्ष विनोद अग्निहोत्री भी सीएचसी रवाना हो गए हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
150 people were taken to Hospital after Roja Iftar
Please Wait while comments are loading...