• search
सीतापुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

सीतापुर जेल में बंद आजम खान से ​मुलाकात के बाद क्या बोलीं उनकी बहू?

|

सीतापुर। समाजवादी पार्टी सांसद आजम खान, उनकी पत्नी तंजीम फातिमा व बेटे अब्दुल्ला आजम खान को रामपुर से सीतापुर जेल शिफ्ट कर दिया गया है। सीतापुर जेल में शिफ्ट किए जाने के बाद आजम से मिलने वालों का तांता लगा रहा। समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम, सम्भल की विधायक पिंकी सहित स्थानीय नेताओं ने आज खान व उनके परिवार से मुलाकात की। आजम खान से मिलने उनकी बहू सिदरा खान और बेटा अदिब आजम भी शुक्रवार को सीतापुर जेल पहुंचे।

azam khan son and daughter in law met her family in sitapur jail

क्या बोलीं आजम की बहू सिदरा खान?

बहू सिदरा खान और बेटा अदिब आजम ने जेल में बंद परिजनों से मुलाकात की। जेल से बाहर निकलने पर मीडिया से बातचीत करते हुए आजम की बहू सिदरा ने कहा कि परिवार वालों से मिलकर उनकी हालत देखकर बहुत दुख हुआ। उन्होंने कहा कि जेल में मच्छर बहुत थे, जिससे वालिद (आजम खान) रात भर सो नहीं सके। उन्होंने बताया कि सास (तंजीम फातिमा) को बैक बोन में दर्द है। आजम की बहू सिदरा ने सीतापुर जेल प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि 'वालिद और वालिदा की तबीयत खराब होने के बावजूद भी जेल प्रशासन दवा नहीं दे रहा है।' उन्होंने कहा कि उन्हें अल्लाह पर पूरा भरोसा है, कोर्ट का जो फैसला आएगा, वह हमारे हक में आएगा क्योंकि जो एफआईआर दर्ज हुई वो झूठी है। सिदरा ने आजम और तंजीम फातिमा की उम्र का हवाला देते हुए उन्हें दवा और इलाज मुहैया कराए जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि शासन और प्रशासन से मांग करते हुए कहा कि दोनों ही उम्रदराज हैं, इस चीज को ध्यान में रखते हुए उनका ख्याल रखा जाए।

बेटे के दो जन्म प्रमाण पत्र मामले में भेजे गए जेल

आजम खान, उनकी पत्नी और बेटे के खिलाफ मंगलवार को अपर जिला न्यायाधीश धीरेंद्र कुमार की अदालत ने कुर्की का वाॅरंट जारी किया था। यह वाॅरंट पूर्व विधायक अब्दुल्ला आजम के दो जन्म प्रमाण पत्र बनवाने से संबंधित मुकदमे में जारी किए गए थे। कोर्ट में पेश न होने के कारण तीनों के खिलाफ गैर जमानती वाॅरंट पहले ही जारी किए जा चुके थे। बुधवार को तीनों ने अपर जिला न्यायाधीश की कोर्ट में सरेंडर किया था, जहां उन्हें 2 मार्च तक के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। सांसद आजम समेत तीनों नेताओं को रामपुर जेल में रखा गया था, लेकिन कानून व्यवस्था का हवाला देकर अब तीनों को सीतापुर जेल में शिफ्ट कर दिया गया।

आजम वकील ने कहा- सीतापुर जेल में जान का खतरा

आजम के वकील खलील उल्लाह खान ने आजम और उनके परिवार को सीतापुर जेल में जान का खतरा बताते हुए रामपुर अदालत में अर्जी लगाई है। उन्होंने कहा कि हाल ही में सीतापुर जेल भेजे गए कुछ अभियुक्तों की संदिग्ध हालत में मौत हुई है। कोर्ट की अनुमति के बिना जेल प्रशासन ने तीनों नेताओं को सीतापुर जेल 24 घंटे के भीतर शिफ्ट कर दिया। अर्जी को संज्ञान में लेते हुए कोर्ट ने रामपुर जेल अधीक्षक को तलब किया है।

आजम खान को सीतापुर जेल ट्रांसफर करने पर कोर्ट ने रामपुर जेल अधीक्षक को किया तलब

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
azam khan son and daughter in law met her family in sitapur jail
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X