• search
राजस्थान न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

राजस्थान-यूपी बॉर्डर पर पुलिसकर्मी भिड़े, दो जवान घायल, देखें वायरल वीडियो

|

भरतपुर। लॉकडाउन के चलते फंसे बिहार-झारखंड के करीब चार सौ मजदूर राजस्थान बॉर्डर पर फंस गए हैं। ये यूपी होते हुए अपने राज्यों में जा रहे थे, मगर बॉर्डर पर यूपी सरकार ने इन्हें आगे बढ़ने से रोक दिया। ऐसे में सभी मजदूर राजस्थान के भरतपुर जिले के एक सरकारी स्कूल में डेरा डाले हुए हैं। खबर यह भी है कि मजदूरों के मामले में राजस्थान-यूपी पर दोनों राज्यों की पुलिस भी आमने सामने हो गई। दो पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।

ग्रामीणों में कोरोना फैलने का डर

ग्रामीणों में कोरोना फैलने का डर

वहीं, इतनी बड़ी संख्या में मजदूरों को महज आठ कमरों के स्कूल में ठहराए जाने से स्थानीय लोगों को कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने का डर सता रहा है। लोगों ने भरतपुर जिला प्रशासन से मजदूरों को अन्य जगह पर ठहराए जाने की मांग की है। जानकारी के अनुसार बिहार और झारखंड के लोग राजस्थान के जोधपुर में मजदूरी करते थे। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए देशभर में 17 मई 2020 तक लॉकडाउन घोषित है। मजदूरों के सामने रोजी-रोटी का संकट हुआ तो उन्होंने अपने घरों की ओर पलायन कर दिया।

 जोधपुर में करते थे मजदूरी

जोधपुर में करते थे मजदूरी

करीब 400 मजदूर जैसे तैसे राजस्थान के भरतपुर जिले तक पहुंचे और यहां से राजस्थान-यूपी बॉर्डर पर मथुरा जिले को पार करते हुए अपने राज्य में जान चाह रहे थे, मगर बॉर्डर पर तैनात मथुरा पुलिस ने उन्हें बॉर्डर पर ही रोक दिया। मजदूर दो दिन तक बॉर्डर के आस-पास ही शरण लिए रहे। फिर राजस्थान-यूपी के अधिकारियों के बीच वार्ता हुई। इसके बाद फैसला लिया गया कि जब इन मजदूरों के लिए कोई श्रमिक स्पेशल ट्रेन की व्यवस्था नहीं हो जाती तब तक इनको भरतपुर में ही ठहराया जाएगा।

 क्या कहते हैं पूर्व सरपंच

क्या कहते हैं पूर्व सरपंच

भरतपुर जिले की रारह ग्राम पंचायत के पूर्व सरपंच मोहन रारह के मुताबिक मजदूरों को आठ कमरों वाले राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय रारह में रोका गया है। यहां मजदूरों की संख्या के लिहाज से जगह कम है। सोशल डिस्टेंसिंग की भी कोई पालना नहीं हो रही। ऐसे में डर है कि मजदूरों की वजह से ग्रामीणों में कोरोना ना फैल जाए।

 राजस्थान-यूपी पुलिस में टकराव, वीडियो वायरल

राजस्थान-यूपी पुलिस में टकराव, वीडियो वायरल

खबर है कि सोमवार सुबह राजस्थान और यूपी पुलिस प्रवासी मजदूरों को लेकर आमने सामने हो गई। राजस्थान पुलिस पुलिस पर आरोप है कि यूपी पुलिस का बैरियर गिरा दिया और जबरन प्रवासी मजदूरों को यूपी में प्रवेश करने का प्रयास कर रही थी। इस बात को लेकर यूपी पुलिस और राजस्थान पुलिस में आपस में टकराव हो गया। यूपी पुलिस के दो एसआई घायल हो गए थे।

भरतपुर जिला प्रशासन को दी सूचना

भरतपुर जिला प्रशासन को दी सूचना

मथुरा के एसएसपी डॉ. गौरब ग्रोवर ने बताया कि बैरियर गिरारे की घटना में यूपी पुलिस के दो कर्मचारियों को चोटें आई हैं। मामले को लेकर भरतपुर जिला प्रशासन को अवगत करवाया गया है। प्रवासी मजदूरों को हमारे राज्य में नियमानुसार ही प्रवेश ​दिया जाएगा, मगर सोमवार सुबह कुछ श्रमिकों को जबरन प्रवेश करवाने की कोशिश की गई है।

Mothers day : वो 5 मां जिन्होंने पिता की भी भूमिका निभाकर बेटों को बनाया IAS

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
400 workers of Bihar-Jharkhand get no entry in UP on Rajasthan border
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X