• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

पुलवामा हमला: भारत की चेतावनी से घबराया पाकिस्‍तान, LoC पर सेनाएं हाई अलर्ट पर

|

इस्‍लामाबाद। जम्‍मू कश्‍मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आतंकी हमले के बाद से ही पाकिस्‍तान में भी अफरा-तफरी का माहौल है। पाकिस्‍तान की ओर से भले हर हमले में हाथ होने से इनकार कर दिया गया हो लेकिन कहीं न कहीं उस पर अंतरराष्‍ट्रीय दबाव बढ़ता जा रहा है। इसी दबाव का नतीजा है कि पाक ने अपनी सेनाओं को जम्‍मू कश्‍मीर से सटी एलओसी और इंटरनेशनल बॉर्डर पर हाई अलर्ट पर रख दिया है। भारत की ओर से पाकिस्‍तान पर दबाव बनाने के लिए अंतरराष्‍ट्रीय समुदाय के बीच सभी डिप्‍लोमैटिक कदम उठाए जा रहे हैं। पाक अब इसी दबाव के चलते थोड़ा परेशान हो रहा है। पुलवामा में हुए आतंकी हमले में करीब 40 जवान शहीद हो गए और कुछ घायल हैं। इस हमले के साथ ही घाटी में दो दशकों बाद सबसे खतरनाक हमला देखा गया।

भारत ने दी बदला लेने की वॉर्निंग

भारत ने दी बदला लेने की वॉर्निंग

भारत ने शुक्रवार को साफतौर पर पुलवामा हमले के लिए पाकिस्‍तान को दोषी ठहराया है। इसके साथ ही भारत के विदेश मंत्रालय के अधिकारी यूनाइटेड नेशंस सिक्‍यो‍रिटी काउंसिल के पी5 देशों से मुलाकात करने में लग गए।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से भी पाकिस्‍तान को बदले की चेतावनी दी गई है। उन्‍होंने साफ कर दिया है कि सेनाएं तय करें कि उन्‍हें इस हमले का बदला कैसे लेना है। सरकार की ओर से सेनाओं को पूरी छूट दे दी गई है। पाकिस्‍तान ने भी पी5 देशों के प्रतिनिधियों से मुलाकात की और पुलवामा हमले को भारत का प्रपोगेंडा बताया।

अपनी साख बचाने में जुटा पाकिस्‍तान

अपनी साख बचाने में जुटा पाकिस्‍तान

पाक की विदेश सचिव तहमिना जंजुआ ने पी5 देशों अमेरिका, चीन, रूस, ब्रिटेन और फ्रांस के राजदूतों से मुलाकात की। इसके अलावा विदेश मंत्रालय की ओर से स्थिति के बारे में जानकारी दी गई है। पाक का कहना है कि बिना किसी सुबूत के भारत पर झूठे इल्‍जाम लगा रहा है। शुक्रवार को अमेरिकी राजदूत पॉल जोन्‍स ने पाकिस्‍तान की विदेश सचिव तहमिना जंजुआ को तलब किया। जोन्‍स ने तहमिना को अपने राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की ओर से एक कड़ा संदेश देने के लिए बुलाया था।

अमेरिका ने छोड़ा साथ

अमेरिका ने छोड़ा साथ

पाकिस्‍तान में अमेरिकी दूतावास के प्रवक्‍ता रिचर्ड स्‍नेलसाइर की ओर से बताया गया है कि यह मुलाकात काफी जरूरी थी। लेकिन रिचर्ड ने मीटिंग से जुड़ी जानकारियों को साझा करने से मना कर दिया। वहीं सूत्रों की मानें तो इस मीटिंग में पाकिस्‍तान को अमेरिका ने हमले के बाद होने वाली स्थितियों के बारे में साफ-साफ संदेश दे दिया है। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोंपेयो की ओर से भी यही बात कही गई है और उन्‍होंने साफ कर दिया है कि पाक को देश के अंदर मौजूद आतंकी ठिकानों को खत्‍म करना होगा। पोंपेयो ने भी ट्वीट कर कहा है कि भारत, आतंकवाद का सामना कर रहा है और पाकिस्‍तान में मौजूद आतंकियों के सुरक्षित ठिकाने अंतरराष्‍ट्रीय समुदाय के लिए बड़ा खतरा हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Pulwama attack: Pakistan fearing action putting his army on high alert along LoC and International Border in Jammu Kashmir.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X