लश्कर के छात्र संगठन और दो नेताओं पर अमेरिका ने लगाया प्रतिबंध

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

इस्लामाबाद। भारत में कई आतंकी हमलों के जिम्मेदार पाकिस्तानी आतंकी संगठन लश्कर ए तोएबा की छात्र इकाई 'अल-मोहम्मदिया स्टूडेंट्स' को अमेरिका ने आतंकी संगठन घोषित कर दिया है। इसके साथ संगठन के दो शीर्ष नेताओं पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है। लश्कर को अमेरिका ने 2001 में आतंकी संगठन घोषित किया था। प्रतिबंध लगने के बाद से ही लश्कर ने नाम बदलकर आतंकी गतिविधियां जारी रखने के लिए अलग-अलग संगठन बनाए।

लश्कर के छात्र संगठन और दो नेताओं पर अमेरिका ने लगाया प्रतिबंध

युवाओं को लश्कर में भर्ती कराते थे

अमेरिका के विदेश विभाग ने कहा, '2001 में आतंकवादी संगठन घोषित होने के बाद लश्कर ने अपने नाम बदलने शुरू किए और कई ऐसे संगठन बनाए ताकि प्रतिबंध से बच सके। अल-मोहम्मदिया स्टूडेंट्स भी ऐसी ही एक इकाई थी, जिसे छात्र संगठन के रूप में बनाया गया था। साल 2009 में बना छात्र संगठन लश्कर के शीर्ष नेताओं के साथ मिलकर काम करता था। यह युवाओं लश्कर के प्रति आकर्षित करता था।

लश्कर का नेटवर्क तोड़ने की दिशा में बड़ा कदम

संगठन पर प्रतिबंध लगाने के साथ ही अमेरिका ने इसके दो नेताओं मोहम्मद सरवर और शाहिद महमूद को वैश्विक भी आतंकवादी घोषित कर दिया है। ये दोनों पाकिस्तान में रहते हैं और लश्कर की आतंकी गतिविधियों के लिए पैसे जुटाते थे। चंदे के तौर पर जमा किया पैसा ये लश्कर के बड़े नेताओं तक पहुंचाते थे। अमेरिका ने कहा कि इस कार्यवाही का मकसद सिर्फ इनकी गतिविधियों को सामने लाना नहीं था। इसका मकसद लश्कर के आर्थिक नेटवर्क को तोड़ना भी था। मोहम्मद सरवर बीते 10 सालों से लश्कर का वरिष्ठ अधिकारी था और कई तरह की भूमिकाओं को अंजाम दे रहा था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Lashkar-e-Taiba's student wing Al-Muhammadia Students designated a terrorist organisation.
Please Wait while comments are loading...