• search
मध्य प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

MP: संत के कहे सुराग पर कर दी गलत कार्रवाई, ASI सस्पेंड, SI, TI लाइन अटैच

Google Oneindia News

सागर, 19 अगस्त। मप्र में अब हत्या जैसे प्रकरण में पुलिस भी संत की शरण में जाने लगी है। बीते दिनों बुंदेलखंड इलाके में ऐसा ही मामला सामने आया, जिसमें खजुराहो क्षेत्र के बमीठा थाने के एएसआई हत्या के एक प्रकरण को सुलझाने और सुराग लगाने के लिए संत के दरबार में अर्जी लगाने पहुंच गए। संत ने भी निराश नहीं किया और विवेचना से जुड़े कुछ नाम बताकर पुलिस को आरोपी व केस की गुत्थी सुलझाने का सुराग दे दिया। संत के कहे सुराग अनुसार एएसआई ने कार्रवाई भी कर डाली। संत के आधिकारिक सोशल मीडिया अकाउंट पर उक्त पुलिस अधिकारी का दरबार का वीडियो वायरल हो गया, जिसके बाद किरकिरी से बचने के लिए एसपी ने कार्रवाई करते हुए एएसआई को सस्पेंड कर दिया वहीं थाना प्रभारी व एसआई को लाइन अटैच कर दिया गया है।

Recommended Video

संत के दरबार में अर्जी लगाने पहुंची पुलिस, मिला सुराग, कर दी गलत कार्रवाई, अब सस्पेंड
संत के कहे सुराग पर कर दी गलत कार्रवाई, ASI सस्पेंड, TI अटैच

जानकारी अनुसार दो दिन से छतरपुर जिले के बमीठा थाने में पदस्थ अशोक शर्मा का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें वे पंडोखर सरकार के दरबार में अर्जी लगाते नजर आ रहे हैं। पंडोखर सरकार और एएसआई अशोक शर्मा के बीच का करीब ढाई मिनट का पूरा वीडिया संत के सोशल मीडिया अकाउंट से शेयर हुआ था। इसमें एक हत्या के प्रकरण को सुलझाने के लिए पुलिस अधिकारी अर्जी लगाते और संत उनको प्रकरण के मामले में कुछ क्लु देते नजर आ रहे हैं। इसमें कुछ कागज भी एएसआई बताते हैं, हालांकि उसमें क्या लिया है, इसको लेकर संत पहले ही बता देते हैं कि इनमें से ही एक व्यक्ति जिसका उन्होंने नाम नहीं लिया है वहीं मामले की प्रमुख कड़ी है और मामले का निराकरण कर सकता है। यह वीडियो सामने आने के बाद पुलिस विभाग की हास्यास्पद स्थिति बन गई और लोग विभाग की किरकिरी करने में कतई पीछे नजर नहीं आ रहे हैं।

संत के कहे सुराग पर कर दी गलत कार्रवाई, ASI सस्पेंड, TI अटैच

एसपी ने कार्रवाई कर एएसआई को सस्पेंड, पूरा थाना लाइन अटैच
छतरपुर पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा ने हत्या जैसे प्रकरण को सुलझाने के लिए उनके मातहत अधिकारी बमीठा थाना के एएसआई अशोक शर्मा के पंडोखर सरकार के दरबार में अर्जी लगाने और सार्वजनिक रुप से मंच पर कैमरे के सामने केस को सुलझाने के लिए संत द्वारा चर्चा करने और क्लू देने के मामले को गंभीरता से लिया है। उन्होंने संत के पास अर्जी लगाने वाले एएसआई अशोक शर्मा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। इसके अलावा थाना प्रभारी पंकज शर्मा और एसआई नंदकिशोर सोलंकी को लाइन अटैच कर दिया है।

नाबालिग मृतका के चाचा को हत्य का आरोपी, जेल भेज दिया
जिस मामले में एसपी ने पूरे थाने को निलंबित कर दिया है। उसमें एएसआई ने संत के क्लू से एक मृतका के चाचा को ही हत्या का आरोपी बनाकर जेल भेज दिया था। मृतका के पिता और गांववालों ने इस मामले में एएसआई को फर्जी जांच करने और संत के कहने पर गलत कार्रवाई करने के आरोप लगाते हुए ज्ञापन दिया था। जानकारी अनुसार बमीठा थाना के ओटा पुरवा गांव निवासी हरिराम की 17 साल कि बेटी का शव कुएं में मिला था। इसके उसके पिता और परिजन ने मोबाइल काॅल रिकाॅर्डिंग के आधार पर गांव के लिए कुछ युवकों पर बेटी का अगवा कर हत्या करने के आरोप लगाए थे। संत के पास से वापस लौटे एएसआई की जांच में क्लू के आधार पर पुलिस ने जांच कर मृतका किशोरी के चाचा तीरथ अहिरवार को हत्या का आरोपी बनाकर गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था, जिसके बाद परिजन ने ही पुलिस के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था।

Comments
English summary
After the government in MP, now the police are also seen in the shelter of the saints. ASI Ashok Sharma of Bamitha police station in Chhatarpur district had reached the court of Pandokhar government to solve a murder case. His video also went viral from the Facebook account of Pandokhar Sarkar. The important thing is that the ASI sent the uncle of the deceased to jail on the basis of the clue given by the saint. After grit, the SP has taken action on the entire police station.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X