• search
मध्य प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

साइको किलर सुनील ने 9 मासूमों का दुष्कर्म और हत्या कुबूली, ग्वालियर में मिलीं 5 साल पहले मारी गई बच्ची की अस्थियां

|

ग्वालियर/गुड़गांव। गुड़गांव पुलिस के हत्थे चढ़े साइको किलर सुनील की निशानदेही पर पुलिस ने ग्वालियर में 5 साल पहले गायब हुई मासूम बच्ची की अस्थियां को बरामद किया है। ये अस्थियां काजल काल्पनिक नाम की बताई जा रही हैं, हालांकि जांच के लिए फोरेंसिक लैब भेजी गई हैं। जहां इन हड्डियों का डीएनए टेस्ट भी होगा।

9 मासूम बच्चियों के साथ दुष्कर्म कर उनकी हत्या कर दी

9 मासूम बच्चियों के साथ दुष्कर्म कर उनकी हत्या कर दी

गुड़गांव पुलिस के हत्थे चढ़े किलर साइको सुनील ने प्रारंभिक पूछताछ में ही 9 मासूम बच्चियों के साथ दुष्कर्म कर उनकी हत्या करना स्वीकारा है। संभव है कि उसने और भी बच्चियों को शिकार बनाया हो। बहरहाल, पुलिस ने यह पता लगाया ​है कि इन 9 में से एक वारदात ग्वालियर की भी है, जिसे बेरहम हत्यारे सुनील ने पांच साल पहले अंजाम दिया था। ग्वालियर की कम्पू थाना पुलिस ने सिंधिया राजवंश छत्री से यह कुछ हड्डियां बरामद की हैं। पुलिस और फॉरेंसिक टीम ने जमीन में दबी इन हड्डियां को बाहर निकाला। वहीं साइको किलर सुनील का दावा है कि ये हड्डियां 2013 में गायब हुई 5 साल की काजल की ही हैं, लेकिन सच जांच रिपोर्ट आने के बाद ही सामने आ सकेगा।

2013 में दिया था वारदात को अंजाम

2013 में दिया था वारदात को अंजाम

मासूम बच्चियों को बहला फुसलाकर उनके साथ दुष्कर्म कर उनकी हत्या करने वाले महोबा उत्तरप्रदेश निवासी साइको किलर सुनील को गिरफ्तार करने के बाद जब पुलिस ने पूछताछ की तो उसने ग्वालियर में सितम्बर 2013 में अचलेश्वर महादेव मंदिर से गायब की गई 5 वर्षीय काजल की हत्या करना स्वीकार किया। पुलिस ने जब सुनील से कड़ाई से पूछताछ की तो उसने दुष्कर्म और हत्या के बाद मासूम बच्ची को सिंधिया राजवंश की छत्री में दबाना बताया। शनिवार को कम्पू थाना पुलिस ने फॉरेंसिक एक्सपर्ट की टीम के साथ सुनील की बताई जगह पर खुदाई की तो वहां थोड़ी सी खुदाई के बाद ही हड्डियां बरामद हो गईं। हालांकि पुलिस इन हड्डियों को काजल की मानकर चल रही है क्योंकि अचलेश्वर मंदिर और सिंधिया राजवंश की छत्री में कुछ ही मीटर की दूरी है। लेकिन पुलिस का कहना है कि हड्डियों की फॉरेंसिक जांच के बाद ही कुछ पुख्ता तौर पर कहा जा सकेगा। उल्लेखनीय है कि सितम्बर 2013 में पांच साल की काजल अचलेश्वर मंदिर पर भंडारा खाने गई थी और वहां से गायब हो गई थी।

मासूम की मां को नहीं पुलिस पर भरोसा

मासूम की मां को नहीं पुलिस पर भरोसा

पूरे घटनाक्रम के बारे में काजल की मां गुड्डी बाई ने बताया कि उन्होंने 2013 में कम्पू थाने में काजल के गायब होने की शिकायत की थी और उसके गायब करने में रानी परिहार नाम की महिला का हाथ बताया था। उन्होंने पुलिस पर आरोप लगाया कि 3 महीने चक्कर लगवाने के बाद पुलिस ने उसके अपहरण की शिकायत दर्ज की थी। शनिवार को हड्डियों की बरामदगी के बाद पुलिस ने गुड्डी बाई को थाने बुलाकर उसके बयान लिए। लेकिन गुड्डी बाई अभी भी पुलिस की बात पर भरोसा नहीं कर रही है। उसका कहना है कि यदि काजल को सुनील ने सिंधिया की छत्री में दबाया होता तो पूरी हड्डियां मिलतीं। गुड्डी ने यह भी आरोप लगाए हैं कि पुलिस ने उसकी सुनील से बात भी नहीं कराई। जिससे मामले में अभी भी पेंच फंसा हुआ है।

क्या कहती है विवेचना

क्या कहती है विवेचना

विवेचना अधिकारी धर्मेंद्र कुशवाह ने बताया कि पहले तो यह पता लगाने का प्रयास किया जा रह है कि ये हड्डियां मानव की हैं या नहीं। इसके लिए फॉरेंसिक जांच कराई जाएगी और डीएनए टेस्ट भी कराया जाएगा। इसके लिए काजल की मां का ब्लड सेम्पल लिया जाएगा। कंपू पुलिस 5 साल से मामले की जांच कर रही है पर उसके हाथ खाली हैं। लेकिन गुड़गांव पुलिस द्वारा झांसी से पकड़े गए महोबा के साइको किलर सुनील की स्वीकारोक्ति के बाद पुलिस अब कुछ राहत की सांस ले रही है।

चलती ट्रेन में चाकू ले चढ़े 2 लुटेरे, पति के सामने ही महिला से नोंचे गहने; ले उड़े लाखों की नगदी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
India's worst paedophile serial killer sunil confession the gwaliar child-case
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X