• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

लखनऊ: विधानसभा के सामने खुद को आग लगाने वाली महिला की मौत, पूर्व राज्यपाल का बेटा आलोक हिरासत में

|

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के हजरतगंज स्थित विधानसभा के पास में भारतीय जनता पार्टी के कार्यालय के गेट के सामने मंगलवार को अंजलि तिवारी उर्फ आयशा ने अपने ऊपर तेल डालकर खुद को आग लगा ली थी। बुधवार देर शाम को उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। इस मामले में लखनऊ पुलिस ने पूर्व राज्यपाल सुखदेव प्रसाद के बेटे आलोक को हिरासत में लिया है। पुलिस को मामले में साजिश की आशंका है। महाराजगंज पुलिस के इनपुट पर लखनऊ पुलिस ने आलोक को हिरासत में लिया है। सूत्रों के मुताबिक, घटनास्थल पर आलोक की लोकेशन मिल रही थी। ये भी कहा जा रहा है कि आलोक महिला के संपर्क में भी था।

Woman who set herself on fire in front of UP assembly died during treatment
    Lucknow में BJP कार्यालय के सामने आत्मदाह, पूर्व राज्यपाल का बेटा हिरासत में | वनइंडिया हिंदी

    मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बुधवार दोपहर महराजगंज पुलिस की एक टीम भी आलोक से पूछताछ में शामिल होने के लिए लखनऊ पहुंच गई। दरअसल, आलोक के खिलाफ हजरतगंज कोतवाली के दरोगा नरेंद्र प्रताप राय ने खुदकुशी के लिए उकसाने की धारा में केस दर्ज कराया है। वहीं, पुलिस ने बताया कि पीड़िता का बयान लेने के लिए मजिस्ट्रेट दो बार सिविल अस्पताल गए। मगर डॉक्टर ने पीड़िता की हालत गंभीर होने की बात कहते हुए उन्हें लौटा दिया। चिकित्सकों का कहना था कि महिला अभी होश में नहीं है।

    क्या है पूरा मामला

    महराजगंज की एक महिला मंगलवार को न्याय की आस में लखनऊ पहुंची। हजरतगंज स्थित विधान भवन के सामने उसने खुद को आग लगा ली। डीसीपी मध्य सोमेन वर्मा ने बताया कि अंजली तिवारी ने दो वर्ष पहले महराजगंज जिले के घुघली थाना क्षेत्र के पचरूखिया निवासी अखिलेश तिवारी से शादी की थी। इस दौरान दोनों में विवाद हुआ और अंजली अलग रहने लगी। इस दौरान अखिलेश ने उसे फोन पर तलाक दे दिया। इसके कुछ दिन बाद अंजली ने महराजगंज में ही राजघराना साड़ी सेंटर पर कार्य शुरू कर दिया।

    धर्म परिवर्तन कर किया था निकाह

    दुकान पर काम करने के दौरान ही अंजलि का वीरबहादुर नगर निवासी आशिक रजा से संबंध हो गया। अंजली का दावा है कि उन दोनों ने निकाह कर लिया था। अंजली ने अपना धर्म परिवर्तन कराकर नाम भी आयशा कर लिया। इस निकाह के कुछ दिन बाद में आशिक रजा सऊदी अरब भाग गया। आशिक के जाने के बाद अंजली उसके घर में रहने की जिद करने लगी। चार अक्टूबर को वह अपने कथित पति के घर के सामने धरने पर बैठ गई। वहां पर मौके पर पहुंची महाराजगंज पुलिस उसे लेकर महिला थाने गई थी, लेकिन मामले का हल नहीं निकल पाया।

    ये भी पढ़ें:- लखनऊ: विधानसभा के सामने महिला के आत्मदाह की कोशिश के मामले में पूर्व राज्यपाल का बेटा हिरासत में, घटना से पहले संपर्क में था

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Woman who set herself on fire in front of UP assembly died during treatment
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X