• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

जिन देशों के पास सबसे ज़्यादा कच्चा तेल है, वो ग़रीब क्यों?

By Bbc Hindi

दुनिया में किसके पास कितना कच्चा तेल
Getty Images
दुनिया में किसके पास कितना कच्चा तेल

आज भी दुनिया में ईंधन का सबसे बड़ा स्रोत कच्चा तेल यानी डीज़ल और पेट्रोल ही हैं. और जब तक 'काला सोना' कहे जाने वाले कच्चे तेल की जगह पूरी तरह अक्षय उर्जा नहीं ले लेता इस पर हमारी निर्भरता भी बढ़ती रहेगी.

एक साल पहले की तुलना में साल 2018 में दुनिया में अधिक कच्चे तेल का इस्तेमाल हुआ. ऑर्गेनाइज़ेशन ऑफ़ पेट्रोलियम एक्सपोर्टिंग कन्ट्रीज़ (ओपेक) की एक रिपोर्ट के अनुसार दुनिया में 2017 में जहां 9.720 करोड़ बैरल प्रति दिन कच्चे तेल की खपत हुई वहीं 2018 में दुनिया में 9.882 करोड़ बैरल प्रति दिन कच्चे तेल का इस्तेमाल हुआ.

ओपेक के आकलन के अनुसार 2019 में ये आंकड़ा 10.023 करोड़ बैरल प्रति दिन तक पहुंच सकता है.

यही कारण है कि कई देशों के राजस्व में एक बड़ा हिस्सा कच्चे तेल की बिक्री से होने वाली कमाई है.

ऐसे में ये मान लेना स्वाभाविक है कि जिन देशों के पास कच्चे तेल का बड़ा ज़खीरा है वो फायदे की स्थिति में होंगे.

लेकिन असल में ऐसा नहीं है क्योंकि कच्चा तेल हमेशा देश के लिए अधिक नकदी ले कर नहीं आता.

वो देश जिनके पास है सबसे अधिक कच्चा तेल

दुनिया में किसके पास कितना कच्चा तेल
Getty Images
दुनिया में किसके पास कितना कच्चा तेल

वेनेज़ुएला वो देश है जिसके पास कच्चे तेल का सबसे बड़ा भंडार है. अमरीका की ख़ुफ़िया एजेंसी सीआईए के अनुसार इस देश में 30,230 करोड़ बैरल कच्चा तेल है.

दूसरे नंबर पर है सऊदी अरब. माना जाता है इसके पास 26,620 करोड़ बैरल कच्चे तेल का ज़खीरा है. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ये देश कई प्रतिबंधों से जूझ रहा है.

कनाडा तीसरे नंबर पर है, जिसके पास अनुमान है कि 17,050 करोड़ बैरल कच्चा तेल है.

इस सूची में भारत 23वें पायदान पर है जिसके पास 449.5 करोड़ बैरल कच्चा तेल है.

देशों के नाम

कितने बैरल कच्चा तेल है देश के पास

1- वेनेज़ुएला

302,300,000,000 बैरल

2- सऊदी अरब

266,200,000,000 बैरल

3- कनाडा

170,500,000,000 बैरल

4- ईरान

157,200,000,000 बैरल

5- इराक़

148,800,000,000 बैरल

6- कुवैत

101,500,000,000 बैरल

7- संयुक्त अरब अमीरात

97,800,000,000 बैरल

8- रूस

80,000,000,000 बैरल

14- ब्राज़ील

12,630,000,000 बैरल

23- भारत

4,495,000,000 बैरल

1 जनवरी 2018 तक का आंकड़ा. (स्रोत- सीआईए, द वर्ल्ड फैक्टबुक)

ये आंकड़ा जियोलॉजिकल और इंजीनियरिंग के मिले डेटा के आधार पर इकट्ठा किया गया है.

वेनेज़ुएला के पास सबसे अधिक कच्चा तेल है और देश की 96 फीसदी आय कच्चे तेल पर ही निर्भर है.

अमरीका की लगाई पाबंदी के कारण वेनेज़ुएला अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में कच्चा तेल नहीं बेच पा रहा है.

ये देश फिलहल गंभीर राजनीतिक संकट से जूझ रहा है. देश की सरकारी स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा चुकी है और देश में खाद्य पदार्थों के साथ-साथ ज़रूरी वस्तुओं की भारी कमी है. कई बार ये देश बिजली जाने से ब्लैक आउट होने के कारण भी चर्चा में रहा है.

और तो और वेनेज़ुएला के पास समुद्र की स्थति भी कुछ ऐसी है कि यहां से कच्चा तेल निकालना महंगा सौदा है. यहां का तेल भारी माना जाता है जिसके लिए इसे निकालने के लिए सोल्वेटन्स की जरूरत होती है.

दुनिया में किसके पास कितना कच्चा तेल
Getty Images
दुनिया में किसके पास कितना कच्चा तेल

कनाडा की स्थिति भी लगभग ऐसी ही है, यहां का तेल भारी माना जाता है और इसे निकालने में अधिक खर्च करना पड़ता है.

ब्राज़ील में तेल पर काफी टैक्स लगाया गया है जिस कारण यहां कच्चे तेल का उत्पादन कम होता है.

एक अनुमान के अनुसार एक बैरल तेल निकालने में सऊदी अरब में जितना खर्च होगा उसका चार गुना ब्राज़ील और वेनेज़ुएला में खर्च होगा.

ओपेक के आंकड़ों के अनुसार सऊदी अरब में एक बैरल कच्चा तेल निकालने में यदि 9 अमरीकी डॉलर खर्च होते हैं तो वेनेज़ुएला में इसके लिए 27.62 अमरीकी डॉलर और ब्राज़ील में 34.99 अमरीकी डॉलर खर्च होंगे.

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
The countries which have the most crude oil why are they poor
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X