• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

चीन में सांपों से बनाई जाती थी शराब और ड्रिंक, कोरोना के चलते बेरोजगार हुए सांप पालने वाले

|

नई दिल्ली। चीन के वुहान शहर से निकला कोरोना वायरस आज 97 हजार से ज्यादा लोगों की मौत का कारण बन चुका है। वैश्विक महामारी से अब तक 16 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं और यह संख्या तेजी से बढ़ रही हैं। चीन से निकला यह वायरस अब चीन के ही हजारों लोगों की बेरोजगारी का कारण बन गया है। कोरोना वायरस के चलते वहां की सरकार ने वन्य जीवों का मांस खाने, उनके कारोबार और ब्रीडिंग पर बैन लगा दिया गया है।

सांपों के गांव के नाम से जाना जाता है जिसिकियाओ

सांपों के गांव के नाम से जाना जाता है जिसिकियाओ

पश्चिमी चीन के जिसिकियाओ गांव के लोगों की जिंदगी रातों-रात बदल गई। पूरे चीन में ये गांव सांपों की ब्रीडिंग का बड़ा केंद्र माना जाता है, जहां एक साल में 30 लाख से ज्यादा सांप पैदा किए जाते हैं और ये सिलसिला कई दशक से चल रहा है। चीन में पारंपरिक रूप से सांपों की बहुत मांग रही है, कहीं इससे शराब और ड्रिंक बनती हैं तो कहीं लजीज व्यंजन। कई जगहों पर सांप की खाल से चमड़ा भी बनता है।

चीन में कोरोना महामारी के चलते किया गया बैन

चीन में कोरोना महामारी के चलते किया गया बैन

चीन में कोरोना महामारी की वजह से वन्य जीवों का मांस खाने, उनके कारोबार और ब्रीडिंग पर बैन लगा दिया गया है। ऐसे में चीनी गांव में सैकड़ों लोग बेरोजगार हो गए हैं क्योंकि जिसिकियाओ गांव में लोग अब सांपों की ब्रीडिंग का काम नहीं कर पाएंगे। इसकी वजह है विश्व भर में फैली कोरोना वायरस नाम की महामारी। जिसिकियाओ के लोगों के लिए सांप पालने का काम अच्छी आमदनी का जरिया रहा है जिसे अब कोरोना वायरस ने छीन लिया है।

सांपों की ब्रीडिंग का काम करते हैं लोग

सांपों की ब्रीडिंग का काम करते हैं लोग

जिसिकियाओ गांव के निवासी 75 साल के यांग योंगफा ने बताया कि उन्होंने जिंदगीभर सांपों की ब्रीडिंग का ही काम किया है लेकिन चीन में वन्य जीवों के कारोबार पर लगे प्रतिबंध ने अब उनकी मुश्किलें बढ़ा दी हैं। उन्होंने कहा, अब यह काम कारना आसान नहीं होगा, क्योंकि वे जंगली जीव हैं। मैं बहुंत सारे सांप पाला करता था, इस गांव का हर परिवार सांपों की ब्रीडिंग का काम करता है।

पूरा गांव ही सांपों का है: यांग योंगफा

पूरा गांव ही सांपों का है: यांग योंगफा

यांग योंगफा ने आगे कहा, आप देख सकते हैं कि हैं कि पूरा गांव ही सांपों का है। बता दें कि दुनियाभर में महामारी बना कोरोना वायरस चीन के शहर वुहान के एक सी फूट मार्केट से पूरी दुनिया में फैला। इसके बात चीन ने अपने यहां सभी जंगली जानवरों के कारोबार, उन्हें खाने और उनकी ब्रीडिंग पर रोक लगाने के कदम उठाए हैं। ऐसा भी माना जाता है कि कोरोना वायरस चमगादड़ों से फैला है लेकिन यह वायरस इंसानों में कैसे फैला यह अभी साफ नहीं है।

कानून में बदलाव करना चाहता है चीन

कानून में बदलाव करना चाहता है चीन

जिसिकियाओ गांव में सैकड़ों लोग इस काम में लगे हुए थे लेकिन अब सबकुछ बंद है। लकड़ी के जिन खांचों को सांप रखने के लिए बनाया गया था आज वो खाली पड़े हैं। हालांकि बैन अभी अस्थाई है लेकिन चीन पशु संरक्षण और महामारी रोकथाम से जुड़े अपने कानून में बदलाव करना चाहता है ताकि इस प्रतिबंध को स्थायी बनाया जा सके। वन्य जीवों के कारोबार पर लगे बैन के बाद से चीन के रेस्तरां और फैक्टियों में काम ठप है।

दुनियाभर में कोरोना से हुई 97,192 लोगों की मौत

दुनियाभर में कोरोना से हुई 97,192 लोगों की मौत

कोरोना वायरस का खतरा पूरी दुनिया में लगातार बढ़ता जा रहा है। दुनियाभर में वायरस के कारण 97,192 लोगों की मौत हो गई है। वहीं संक्रमित लोगों की संख्या 17 लाख के आंकड़े के करीब पहुंच गई है। शुक्रवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि भारत में 6,761 लोगों में कोरोना की पुष्टि हो चुकी है। अभी तक 206 लोगों की मौत हुई है। बता दें कोरोना वायरस को देखते हुए इस समय देश में 21 दिनों तक लॉकडाउन लगा हुआ है, जो 14 अप्रैल तक चलेगा।

कोरोना वायरस: पीएम मोदी ने चीन के प्रतिद्वंदी जापान के पीएम आबे से की फोन पर बात

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
People of the Jiciciao village raised snakes in China became unemployed due to Corona virus
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X