• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अमेरिकी कैफे में कॉफी पीने आई मुस्लिम महिला के कप पर लिखा था ISIS...हुआ हंगामा

|

नई दिल्ली। अमेरिकी राज्य मिनिसोटा के सेंट पॉल शहर में एक मुस्लिम महिला बरिस्ता कंपनी की मशूहर कॉफी शॉप स्टारबक्स में कॉफी पीने जाती है और एक कॉफी के ऑर्डर के बाद कथित रूप से जो कॉफी कप उसे दिया जाता है, उस पर आईएसआईएस लिखा मिलता है। बदन पर हिजाब पहने और चेहरे को ढंककर गई 19 वर्षीय मुस्लिम महिला जिसका नाम आयशा बताया जाता है, उसने स्टारबक्स के कर्मचारियों के खिलाफ भेदभाव की शिकायत दर्ज कराई है।

जब दिवंगत सुशांत सिंह राजपूत को एक-दो नहीं बल्कि 12 फिल्में एक साथ ऑफर हुईं थीं...

सेंट पॉल सिटी के स्टारबक्स कॉफी शॉप पर 1 जुलाई को गई थी महिला

सेंट पॉल सिटी के स्टारबक्स कॉफी शॉप पर 1 जुलाई को गई थी महिला

घटना सेंट पॉल सिटी के बरिस्ता के स्टारबक्स कॉफी शॉप पर गत 1 जुलाई को घटी थी। आईएसआईएस लिखे कॉफी कप पर आपत्ति दर्ज कराते हुए महिला ने कॉफी शॉप कर्मचारी के खिलाफ भेदभाव का आरोप लगाते हुए अपनी सुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि जब उसने एक जुलाई को स्टारबक्स में एक कॉफी का ऑर्डर दिया, तो कॉफी कप पर आईएसआईएस लिखकर उसके साथ भेदभावपूर्ण व्यवहार किया गया।

पीड़ित महिला ने स्टोर के सुपरवाइजर के सामने मुद्दे को उठाया था

पीड़ित महिला ने स्टोर के सुपरवाइजर के सामने मुद्दे को उठाया था

पीड़ित महिला ने स्टोर के सुपरवाइजर के सामने मुद्दे को उठाया था, लेकिन हुसैन ने बताया कि उसकी शिकायत को खारिज कर दिया गया। शिकायत के अनुसार कैफे के पर्यवेक्षक ने उसे बताया कि कभी-कभी ग्राहकों के नामों के साथ गलतियां होती हैं। महिला ने बताया कि ऐसा बिल्कुल नहीं हो सकता है कि बरिस्ता ने मेरा नाम आईएसआईएस सुना हो। मैंने अपना नाम कई बार दोहराया था और आयशा एक अज्ञात नाम नहीं है।

कंपनी ने बाद में खेद जताते हुए महिला को 25 डॉलर का गिफ्ट कार्ड दिया

कंपनी ने बाद में खेद जताते हुए महिला को 25 डॉलर का गिफ्ट कार्ड दिया

हालांकि महिला ने बताया कि उसे स्टोर सिक्यूरिटी से बाहर निकलने से पहले एक नया ड्रिंक और एक 25 डॉलर का गिफ्ट कार्ड दिया गया और स्टोर की तरफ से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि यह रवैया स्टोर में मेहमानों के अनुभव के लिए बहुत खेदजनक था। साथ ही, उसने कहा कि जब उसने स्टोर के मैनेजर मामले से वाकिफ हैं, तो बरिस्ता के प्रतिनिधियों ने तुरंत उनसे माफी मांग ली।

यह जानबूझकर किया गया कार्य नहीं था, बल्कि एक दुर्भाग्यपूर्ण गलती थी

यह जानबूझकर किया गया कार्य नहीं था, बल्कि एक दुर्भाग्यपूर्ण गलती थी

बरिस्ता द्वारा जारी एक बयान में कहा गया कि उन्होंने मामले की जांच की है और माना है कि यह जानबूझकर किया गया कार्य नहीं था, बल्कि एक दुर्भाग्यपूर्ण गलती थी, जिसे अधिक स्पष्टता से टाला जा सकता था। कंपनी के मुताबिक वो कर्मचारियों को अतिरिक्त प्रशिक्षण देने समेत टीम के सदस्यों के साथ उचित कार्रवाई कर रहे हैं, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि ऐसी गलती दोबारा नहीं हो।

अफ्रीकी-अमेरिकी नागरिक जार्ज फ्लाएड की पुलिस हिरासत में मौत हुई

अफ्रीकी-अमेरिकी नागरिक जार्ज फ्लाएड की पुलिस हिरासत में मौत हुई

अभी हाल में अमेरिका में नस्लीय भेदभाव का मामला सामने आया था जब अफ्रीकी-अमेरिकी नागरिक जार्ज फ्लाएड की पुलिस हिरासत में मौत हो गई थी, जो एक पुलिस अधिकारी की निर्दयता का शिकार हुआ था, जिसके बाद पूरे अमेरिका में हिंसात्मक प्रदर्शन हुए थे और कई लोगों की जान भी गई थी। यह प्रदर्शन इतना आक्रामक था कि व्हाइट हाउस तक को कुछ दिन के लिए बंद रखना पड़ गया था, क्योंकि प्रदर्शनकारी आगजनी पर उतारू थे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
In the US state of Minneota, St. Paul, a Muslim woman goes to drink coffee at Starbucks, the company's popular coffee shop, and ISIS inscribes the coffee cup she was allegedly given after ordering a coffee. A 19-year-old Muslim woman, who is said to be Ayesha, wearing a hijab and covering her face, has filed a discrimination complaint against Starbucks employees.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more