• search

शेर की पूंछ से ना खेलें डोनल्ड ट्रंप, पछतावा होगा: ईरान

Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
    रूहानी और ट्रंप
    AFP
    रूहानी और ट्रंप

    ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप को ईरान से 'शत्रुता' भरी नीतियों के लिए कड़ी चेतावनी दी है.

    राष्ट्रपति हसन रूहानी ने ट्रंप के चेतावनी देते हुए कहा, ''मिस्टर ट्रंप, आप शेर की पूंछ से मत खेलिए, क्योंकि इससे केवल पछतावा ही होगा.''

    ईरानी अख़बार तेहरान टाइम्स के मुताबिक़ रूहानी ने ईरानी राजनयिकों को संबोधित करते हुए कहा, ''अमरीकी इस बात को पूरी तरह से समझते हैं कि ईरान के साथ शांति सभी तरह की शांति की जननी है और इसी तरह ईरान के साथ युद्ध सभी तरह के युद्ध की जननी है. मैं किसी को धमकी नहीं दे रहा, लेकिन कोई हमें डरा या धमका नहीं सकता.''

    https://twitter.com/realDonaldTrump/status/1021234525626609666

    ईरान की इस धमकी पर अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप ने ट्वीट कर राष्ट्रपति रूहानी को आगाह किया है.

    ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, ''ईरानी राष्ट्रपति रूहानी के लिए: अमरीका को कभी दोबारा धमकी मत देना. अगर आपने ऐसा किया तो ऐसे परिणाम भुगतने होंगे जो इतिहास में पहले कभी नहीं हुआ है. अमरीका अब वो देश नहीं रहा जो आपकी धमकी को सुन ले. इसलिए सावधान!''

    ट्रंप-रूहानी
    Getty Images
    ट्रंप-रूहानी

    तेल नहीं बेच पाएगा ईरान?

    रूहानी ने कहा, ''जो थोड़ी बहुत भी राजनीति समझता है वो यह नहीं कह सकता कि ईरान के तेल निर्यात को रोक देगा. हमलोग का इतिहास रहा है कि इस इलाक़े के समुद्री मार्ग में हम शांति के ध्वजावाहक रहे हैं.''

    ईरान होरमुज़ समुद्री मार्ग बंद करने की बात कह रहा है. इस मार्ग पर ईरान का नियंत्रण है. इससे पहले ईरान के इस्लामिक रिवॉल्युशन के नेता अयोतोल्लाह ख़मेनई ने राष्ट्रपति रूहानी का अमरीका के ख़िलाफ़ उनकी नीतियों का समर्थन किया था. इसके बाद ही राष्ट्रपति रूहानी ने अमरीका को यह चेतावनी दी है.

    राष्ट्रपति रूहानी ने कहा, ''अगर ईरान अपना तेल निर्यात नहीं कर पाएगा तो कोई भी इस इलाक़े का देश तेल निर्यात नहीं कर पाएगा. ट्रंप अपने हितों के लिए पूरी दुनिया को जोखिम में डालना चाहते हैं. इससे अच्छा कोई और वक़्त यह बताने के लिए नहीं आएगा कि अमरीका की नीतियां किस क़दर मुसलमान विरोधी हैं.''

    रूहानी
    Getty Images
    रूहानी

    सऊदी से दोस्ती के लिए ईरान तैयार

    रूहानी ने कहा, ''मैं अब आसानी से पूरी दुनिया को कह सकता हूं कि अमरीकी शांति को लेकर प्रतिबद्ध नहीं हैं. वो अंतरराष्ट्रीय संधियों और संगठनों को लेकर भी ईमानदार नहीं हैं. हमने जिस परमाणु समझौते पर 2015 में दुनिया के 6 देशों के साथ हस्ताक्षर किया था उसे अमरीका ने तबाह कर दिया.''

    रूहानी ने यह भी कहा कि अगर सऊदी अरब, बहरीन और संयुक्त अरब अमीरात अपनी ज़िद छोड़ दें तो वो दोस्ती के लिए तैयार हैं.

    ईरान में इस बात पर सहमति बनती दिख रही है कि अगर ईरान के तेल निर्यात को रोका जाता है तो खाड़ी के बाक़ी देशों के तेल निर्यात को भी रोका जाए.

    अमरीका पूरी दुनिया के उन देशों पर दबाव बना रहा है जो ईरान से तेल आयात करते हैं. अमरीका का कहना है कि जो देश ईरान से तेल ख़रीदते हैं वो किसी और देश से ख़रीदें.

    समाचार एजेंसी रॉयटर्स से ईरान के शीर्ष सैन्य अधिकारियों ने कहा है कि ट्रंप प्रशासन ईरान में हमले की योजना बना रहा है.

    ईरान
    Getty Images
    ईरान

    अमरीका के कड़े प्रतिबंध

    अमरीका के नए प्रतिबंधों के कारण ईरान के तेल निर्यात में इस साल के अंत तक दो तिहाई की गिरावट आ सकती है. अमरीका के इस रुख़ से विश्व स्तर पर तेल की आपूर्ति में भी कमी आ सकती है.

    अमरीका तो पहले चाहता था कि ईरान को तेल के वैश्विक बाज़ार से ही पूरी तरह से बाहर कर दिया जाए, लेकिन बाद में उसने अपने रुख़ को नरम किया. अमरीका को लगा कि उसके कुछ ऐसे सहयोगी देश भी हैं जो ईरान के तेल पर काफ़ी हद तक निर्भर हैं.

    ईरान
    Getty Images
    ईरान

    क्या ईरान खाड़ी के बाकी देशों का भी तेल निर्यात बंद कर देगा?

    अमरीकी ऊर्जा मंत्रालय की एक रिपोर्ट के अनुसार ईरान और ओमान के बीच एक रणनीतिक गलियारा है, जिसके ज़रिए कम से कम 18.5 मिलियन बैरल तेल 2016 में हर दिन भेजा जाता था.

    इसके अलावा होरमुज़ समुद्री मार्ग का इस्तेमाल भी खाड़ी के देश करते हैं. रूहानी ने कहा है कि क्या यह संभव है कि बाकी के देश अपना तेल बेचें और हम एक सुस्त दर्शक बने रहें?

    ईरान के राष्ट्रपति ने कहा कि किसी को यह नहीं भूलना चाहिए कि जिस रास्ते से खाड़ी के देश अपना तेल बेचते हैं उसकी सुरक्षा ईरान हमेशा से करता रहा है. रूहानी ने कहा कि अमरीका ईरान के ही लोगों को भड़काने की कोशिश कर रहा है.

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    BBC Hindi
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Do not play Donkey Trump with Lions Tails Regrets Iran

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X