• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

चीन ने पैंगोंग झील के पास ऑप्टिकल फाइबर केबल बिछाने के दावों को किया खारिज, तनाव पर कही ये बात

|

नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। सीमा विवाद के बीच ऐसी खबरें सामने आई थीं कि चीन पैंगोंग झील के आसपास के इलाकों में अब ऑप्टिकल फाइबर केबल बिछा रहा है। हालांकि इस दावे के कुछ देर बाद ही चीन का बयान सामने आता है और उसने ऐसे किसी भी प्रेजक्ट से साफ इनकार कर दिया है। मंगलवार को चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने कहा, सैनिक लद्दाख फ्लैशपोइंट पर फाइबर ऑप्टिक केबल नहीं बिछा रहे हैं। चीन और भारत राजनयिक और सैन्य चैनलों के माध्यम से संचार में बने रहेंगे।

चीन के ‘जीन’ में है विस्तारवाद , उसकी जमीन हड़पो नीति से भारत समेत दुनिया के 23 देश परेशान

China rejects claims of laying optical fiber cable near Pangong lake

बता दें कि इससे पहले एक विदेशी न्यूज एजेंसी के हवाले से दावा किया गया था कि चीन एलएसी पर तैनात अपने जवानों से बेहतर और पूरी तरह से सुरक्षित संवाद कायम करने के लिए पूर्वी लद्दाख के पैंगोंग झील इलाके में ऑप्टिकल फाइबर केबल बिछा रहा है। यह न्यूज रिपोर्ट भारत के दो अधिकारियों के हवाले से सामने आई थी। इसके मुताबिक चीन की सेना भारत के साथ हिमालय की सीमावर्ती इलाकों में ऑप्टिकल फाइबर केबल नेटवर्क बिछा रहा है। अधिकारियों ने कहा था कि दोनों देशों के बीच तनाव कम करने के लिए उच्चस्तरीय बातचीत होती रही है, बावजूद चीन की सेना खुदाई करने में लगी हुई थी।

भारत-चीन तनाव: अधीर रंजन चौधरी बोले- हमें जवानों के सम्मान में बोलने नहीं दिया, चर्चा से डरती है सरकार

चीन ने मंगलवार को इन सभी दावों को खारिज करते हुए अपना पक्ष रखा है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने कहा कि हमरी सेना सीमा पर ऐसा कोई कार्यक्रम नहीं चला रही है। हम भारत के साथ शांतिपूर्ण वार्ता के जरिए हल निकालना चाहते हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक झील के दक्षिणी इलाके में करीब 70 किलोमीटर लंबे क्षेत्र में भारत और चीन के हजारों सैनिक मौजूद हैं, जिनके पीछे टैंक और एयरक्राफ्ट बैकिंग के लिए तैनात हैं। भारत के एक तीसरे अधिकारी ने सोमवार को कहा है कि पिछले हफ्ते दोनों देशों के विदेश मंत्रियों के मुलाकात के बाद दोनों ओर से सेनाओं में कोई महत्वपूर्ण कमी नहीं की गई है। उन्होंने कहा, 'पहले की तरह तनाव बरकरार है।'

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
China rejects claims of laying optical fiber cable near Pangong lake
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X