• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अजय से बनी अप्सरा, जानिए कौन हैं ये ट्रांसजेंडर जिन्हें राहुल ने सौंपी बड़ी जिम्मेदारी

|

नई दिल्ली। 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुटे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हाल ही में पत्रकार और एक्टिविस्ट ट्रांसजेंडर अप्सरा रेड्डी को ऑल इंडिया महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव के पद पर नियुक्त किया है। अप्सरा रेड्डी कांग्रेस की पहली ट्रांसजेंडर पदाधिकारी हैं। कांग्रेस से पहले अप्सरा भारतीय जनता पार्टी और एआईएडीएमके में भी सक्रिय रह चुकी हैं, लेकिन उनकी पहचान एक पत्रकार और ट्रांसजेंडर एक्टिविस्ट के तौर पर ज्यादा है। अप्सरा अक्सर ट्रांसजेंडर समुदाय के मूलभूत मुद्दों को मजबूती से उठाती रही हैं। आइए जानते हैं, कौन हैं अप्सरा रेड्डी, जिन्हें राहुल गांधी ने 2019 से पहले कांग्रेस में सौंपी है बड़ी जिम्मेदारी।

अजय रेड्डी से कैसे बनी अप्सरा रेड्डी

अजय रेड्डी से कैसे बनी अप्सरा रेड्डी

अप्सरा रेड्डी जन्म से लड़का थीं और उनका नाम था अजय रेड्डी। आंध्र प्रदेश के नेल्लोर में जन्मे अजय ने थाईलैंड के एक अस्पताल में अपना लिंग परिवर्तन कराया और उसके बाद अपना नाम अप्सरा रखा। अप्सरा बताती हैं कि लिंग परिवर्तन कराने से पहले उन्हें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। उनके साथ हर जगह भेदभाव होता था। अप्सरा ने जब अपना लिंग परिवर्तन कराने का फैसला लिया तो उनकी मां ने इस फैसले में साथ दिया, लेकिन उनके पिता इस निर्णय के खिलाफ थे।

ये भी पढ़ें- अखिलेश-मायावती के महागठबंधन में फंसा RLD का पेंच, जयंत चौधरी ने मांगी इतनी सीटें

मन में आते थे आत्महत्या के ख्याल

मन में आते थे आत्महत्या के ख्याल

लिंग परिवर्तन कराए जाने के दौरान अस्पताल में करीब आठ घंटे तक अप्सरा की सर्जरी चली। अप्सरा ने बताया कि हॉर्मोन थैरेपी के दौरान कई बार उनके मन में आत्महत्या के ख्याल भी आते थे। अप्सरा ने अपनी शुरुआती पढ़ाई तमिलनाडु से की और इसके बाद ऑस्ट्रेलिया की मोनाश यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन किया। अप्सरा ने पोस्ट ग्रेजुएश की पढ़ाई लंदन से की है। इस दौरान उन्होंने वहां कई मीडिया संस्थानों के लिए भी काम किया। इसके बाद अप्सरा सामाजिक कार्यों में सक्रिय हुईं और ट्रांसजेंडरों के मुद्दे को लेकर भी आगे आईं।

BJP में भी रह चुकी हैं अप्सरा

BJP में भी रह चुकी हैं अप्सरा

बीबीसी, द हिंदू, न्यू इंडियन एक्सप्रेस और डेक्कन क्रॉनिकल जैसे संस्थानों में काम कर चुकीं अप्सरा निकोलस केज, माइकल शूमाकर, अमिताभ बच्चन और ऐश्वर्या राय जैसी दिग्गज हस्तियों का इंटरव्यू भी कर चुकी हैं। सामाजिक कार्यों में सक्रिय रहने के दौरान ही अप्सरा एआईएडीएमके से जुड़ी और पार्टी प्रवक्ता के तौर पर जिम्मेदारी संभाली। जयललिता के निधन के बाद वो एआईएडीएमके छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गईं लेकिन कुछ समय बाद भाजपा छोड़ दी। अब उन्हें कांग्रेस में बड़ी जिम्मेदारी सौंपी गई है।

कांग्रेस में मिली बड़ी जिम्मेदारी

कांग्रेस में मिली बड़ी जिम्मेदारी

अप्सरा को कांग्रेस में राष्ट्रीय महासचिव के पद पर नियुक्त करने के राहुल गांधी के फैसले को उनकी पार्टी की महिला नेताओं ने सराहा है। वहीं, आम आदमी पार्टी की विधायक अलका लांबा ने भी इस फैसले पर राहुल गांधी की तारीफ की है। वहीं, अप्सरा ने कहा कि अक्सर ट्रांसजेंडर महिलाएं उनसे कहती थी कि यहां मैं कुछ नहीं कर पाऊंगी और मुझे कहीं और चले जाना चाहिए, लेकिन आज देश की सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी ने मेरा स्वागत और सम्मान किया है। मुझे विश्वास है कि कांग्रेस के भरोसे को मैं कायम रख पाऊंगी।

ये भी पढ़ें- नेहा कक्कड़ ने फोटोशूट में अचानक उतार दिया अपना गाउन, Video हुआ वायरल

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Who is Apsara Reddy, Congress First Transgender Office Bearer.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X