Sonipat Blast 1996: अब्दुल करीम टुंडा दोषी करार, कल होगा सजा का एलान

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। हरियाणा के सोनीपत में 1996 में हुए बम धमाकों के मामले में कोर्ट ने आतंकी अब्दुल करीम टुंडा को दोषी करार दिया है। इस मामल में सोनीपत कोर्ट मंगलवार को सजा का एलान करेगी। साल 1996 में लगातार हुए दो बम धमाकों ने सोनीपत शहर को हिला दिया था और बम धमाके कराने का आरोप अब्दुल करीम टुंडा पर लगा था।

Sonipat blast: Abdul Karim Tunda guilty, conviction tomorrow

इससे पहले सितंबर में हुई सुनवाई के दौरान टुंडा ने एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज डॉ. सुशील गर्ग की कोर्ट में अपने बयान में कहा था कि वह घटना के समय पाकिस्तान में था। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के पिलखुवा का रहने वाला अब्दुल करीब टुंडा 1980 में कभी होम्योपैथिक दवाइयों की दुकान चलाता था। इसके बाद जब वह आतंकी संगठनों के संपर्क में आया तो न सिर्फ उसने अपनी दुकान को बंद कर दिया बल्कि भारत में आतंक फैलाने का भी काम किया। अब्दुल करीम टुंडा पर दाऊद इब्राहिम और हाफिज सईद का करीबी होने के साथ-साथ 1996 से 1998 के बीच दिल्ली, पानीपत, सोनीपत, लुधियाना, कानपुर और वाराणसी में हुए बम धमाकों का मास्टरमाइंड होने का भी आरोप है।

बम बनाने में माहिर है टुंडा
अब्दुल करीब टुंडा कैप्सूल बम बनाने में माहिर है। टुंडा के दाऊद इब्राहिम, हाफिज सईद, खालिस्तानी आतंकी कश्मीरा सिंह, बब्बर खालसा के चीफ वधावा सिंह जैसे खूंखार और इंटरनेशनल आतंकियों से संबंधों की बात सामने आई है।

अब्दुल करीम के नाम के साथ कैसे जुड़ा टुंडा
बताया जाता है कि बांग्लादेश में बम बनाने के दौरान ब्लास्ट हो गया जिसमें उसका बायां हाथ उड़ गया। इसके बाद उसे टुंडा के नाम से लोग बुलाने लगे। वह देसी तकनीक से बम बनाना सिखाता था। लश्कर ए तैयबा जैसे आतंकी संगठनों में उसकी भारी डिमांड थी। वह 1985 में आईएसआई से ट्रेनिंग ले चुका था।

पिलखुवा का रहनेवाला है टुंडा
टुंडा का जन्म पुरानी दिल्ली में 1943 में हुआ था। बाद में उसके पिता ने पुरानी दिल्ली छोड़ दी और पिलखुवा में जाकर बस गए। बताया जाता है कि टुंडा की हरकतों की वजह से उनको दिल्ली छोड़नी पड़ी। दिल्ली में उस पर पहला केस चोरी का दर्ज हुआ था। दिल्ली, गाजियाबाद समेत देश के कई इलाकों में उस पर कई केस दर्ज हैं।

10 मिनट में पकड़िए फ्लाइट, बेंगलुरू में देश का पहला 'आधार एयरपोर्ट'

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Sonipat Blast 1996 - Earlier in the September hearing, Tunda had said in his statement in the court of Additional District and Sessions Judge Dr. Sushil Garg that he was in Pakistan at the time of the incident.

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.