• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Video: कर्नाटक में CAA और NRC के खिलाफ अनोखा विरोध प्रदर्शन, लोगों ने किया नाव का इस्तेमाल

|

नई दिल्ली। कर्नाटक में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और प्रस्तावित राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी हैं। लोगों ने यहां बुधवार को नाव पर सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन किया। नाव पर सवार होकर ये प्रदर्शनकारी मंगलुरु तक गए। इसका वीडियो समाचार एजेंसी एएनआई ने जारी किया है। दिल्ली के शाहीन बाग इलाके में भी सीएए और एनआरसी को लेकर 15 दिसंबर से प्रदर्शन चल रहा है।

    CAA-NRC के खिलाफ Karnataka में अनोखा प्रदर्शन, लोगों ने किया Boat का इस्तेमाल । वनइंडिया हिंदी

    Karnataka, Mangaluru, protest, Citizenship Amendment Act, National Register of Citizens, CAA, NRC, video, कर्नाटक, मंगलुरु, विरोध प्रदर्शन, राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर, सीएए, नागरिकता संशोधन कानून, वीडियो, सीएए, एनआरसी, वीडियो

    नागरिकता संशोधन कानून यानी सीएए राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बाद बीते साल दिसंबर में आया था। इससे पहले इसके बिल को संसद के दोनों सदनों में बहुमत से मंजूरी भी मिली थी। कानून के तहत तीन देशों पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से उत्पीड़न का शिकार छह गैर मुस्लिम समुदाय के लोग छह साल भारत में रहने के बाद यहां की नागरिकता हासिल कर सकते हैं। कानून के आने के बाद से ही देश के कई हिस्सों में भारी विरोध प्रदर्शन देखा गया।

    इससे पहले कर्नाटक के बेंगलुरू में कुछ लोग भाजपा कार्यकर्ताओं पर भी भड़क गए थे। दरअसल ये कार्यकर्ता सीएए के समर्थन में चलाए जा रहे अभियान के तहत स्थानीय लोगों के पास आए थे। तभी इन लोगों ने ना केवल कार्यकर्ताओं से वापस जाने को कहा बल्कि एनआरसी के विरोध में भी नारे लगाए। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, राजधानी बेंगलुरू के वसंत नगर इलाके के लोगों ने इतना तक कहा कि जब एनआरसी लागू होने के बाद अधिकारी उनके पास आएंगे, तब वह अपने दस्तावेज नहीं दिखाएंगे।

    वहीं राज्य के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा इन प्रदर्शनों को लेकर विपक्षी पार्टियों पर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगा चुके हैं। उन्होंने सीएए के समर्थन वाले अभियान को लॉन्च करते हुए बीते हफ्ते कहा था, 'सीएए शीत सत्र में प्रमुख राजनीतिक पार्टियों के संशोधित बिल को समर्थन देने के बाद आया था। ये उन हिंदू अल्पसंख्यकों को समर्थन देने के लिए लाया गया जिन्हें बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान में उत्पीड़न का सामना करना पड़ रहा है। ये कानून भारतीयों के किसी भी अधिकार को नहीं छीनता है।' उन्होंने कांग्रेस पर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाया था।

    लक्ष्मी अग्रवाल की बेटी ने दीपिका के साथ देखी 'छपाक', मां को गले लगाकर पूछे कई सवाललक्ष्मी अग्रवाल की बेटी ने दीपिका के साथ देखी 'छपाक', मां को गले लगाकर पूछे कई सवाल

    English summary
    people traveled by boat to mangaluru to hold protest against CAA and NRC in karnataka.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X