• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

'महिलाओं की नौकरी' पर मुकेश खन्ना ने ऐसा क्या बोला कि होने लगी आलोचना, अब सफाई में एक्टर ने कही ये बात

|

मुंबई: Mukesh Khanna on #MeToo movement: बॉलीवुड के वेटरन अभिनेता मुकेश खन्ना पिछले कुछ महीनों से अपने बयानों को लेकर चर्चा में है। उन्होंने हाल ही में कामकाजी महिलाओं और मी टू (MeToo) पर ऐसा बयान दिया कि वो जमकर ट्रोल हुए हैं। मुकेश खन्ना का एक वीडियो वायरल हुआ है, वायरल वीडियो एक इंटरव्यू का है। जिसमें वो कह रहे हैं कि औरत का काम घर संभालना होता है। ये मी टू की प्रॉब्लम शुरू तब हुई जब महिलाओं ने घर से बाहर निकलकर काम करना शुरू किया।'' मुकेश खन्ना अपने इस बयान को लेकर इतना ट्रोल हुए हैं कि उन्हें अब सफाई देनी पड़ी है।

मुकेश खन्ना ने कहा- मैं कामकाजी महिलाओं के खिलाफ नहीं हूं

मुकेश खन्ना ने कहा- मैं कामकाजी महिलाओं के खिलाफ नहीं हूं

अभिनेता मुकेश खन्ना ने अपने बयान पर सफाई देते हुए ट्विटर पर लिखा, ''मैं किसी भी कामकाजी महिला के खिलाफ नहीं हूं। मैं महिलाओं के नौकरी करने के विरोध में भी नहीं हूं। आपको मेरा वो पूरा इंटरव्यू देखना चाहिए। वीडियो को पूरा देखने पर आपको पता चल जाएकि मुझे बदनाम करने के लिए लिया किसी के द्वारा उस वीडियो को गलत ढंग से पेश किया गया है। मैं उस इंटरव्यू में सिर्फ इतना कह रहा था कि #MeToo कैसे होता है और कैसे ये #MeToo हमारे समाज में आया। आप इस इंटरव्यू में देख सकते हैं कि मैं महिलाओं का कितना सम्मान करता हूं।''

मुकेश खन्ना ने कहा, ''उस वीडियो में मैं सिर्फ नारी के बाहर जाकर काम करने से क्या दिक्कतें आ सकती हैं उस पर प्रकाश डाल रहा था। जैसे घर के बच्चे अकेले पड़ जातें हैं। मैं पुरुष और नारी धर्म की बात कर रहा था जो हजारों सालों से चला आ रहा है।''

#MeToo पर पढ़ें, मुकेश खन्ना का पूरा बयान

#MeToo पर पढ़ें, मुकेश खन्ना का पूरा बयान

मुकेश खन्ना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, इस वीडियो में वह महिलाओं और पुरुषों के कर्तव्यों के बारे में बात कर रहे हैं। वीडियो में मुकेश खन्ना को बोलते हुए सुना जा सकता है, ''मर्द अलग होता है और औरतें अलग होती हैं। औरतों की रचना अलग होती है। वैसे ही पुरुषों की रचना अलग होती है। महिलाओं का काम घर संभालना होता है। ये हमारे समाज में MeToo की समस्या उस वक्त से शुरू हुई , जब महिलाओं ने घर से बाहर निकलकर काम करना शुरू किया।

मर्द मर्द होता है और औरत औरत रहती है: मुकेश खन्ना

मर्द मर्द होता है और औरत औरत रहती है: मुकेश खन्ना

वीडियो में मुकेश खन्ना आगे कहते हैं, ''आज महिलाएं पुरुषों संग कंधे से कंधा मिलाकर काम करना चाहती हैं। लेकिन महिलाओं के इश कदम वो बच्चा सबसे ज्यादा सफर करता है, जिसे अपनी मां से दूर होना पड़ता है। वो बच्चा एक आया के साथ रहता है और उसके साथ घर में बैठकर टीवी सीरियल देखता है। इसलिए मर्द मर्द होता है और औरत औरत रहती है।''

मुकेश खन्ना पर भड़की सिंगर चिन्मयी

मुकेश खन्ना पर भड़की सिंगर चिन्मयी

साउथ इंडियन गायिका और डबिंग आर्टिस्ट चिन्मयी श्रीपदा (Chinmayi Sripaada) ने मुकेश खन्ना के बयान की आलोचना की है। चिन्मयी श्रीपदा ने ट्वीट किया है, ''अय्या....अभिनेता मुकेश खन्ना ने कहा कि #MeToo इसलिए शुरू हुआ क्योंकि महिलाओं ने काम करना शुरू कर दिया है। इसलिए नहीं कि पुरुषों ने अपने ऊपर कंट्रोल नहीं किया। ठीक है अंकल।''

'हर रेप कांड के खिलाफ मैं बोला हूं'-मुकेश खन्ना

'हर रेप कांड के खिलाफ मैं बोला हूं'-मुकेश खन्ना

मुकेश खन्ना ने कहा, ''मुझे सचमुच हैरानी हो रही है कि मेरे एक स्टेट्मेंट को बहुत ही गलत तरीके से लिया जा रहा है। मुझे औरतों के खिलाफ बताया जा रहा है। जितनी इज्जत मैं नारियों की करता हूं, शायद ही कोई करता होगा। इसीलिए मैंने LAXMI BOMB नाम का विरोध किया। मैं नारियों की सुरक्षा को लेकर चिंतित हूं। हर रेप कांड के खिलाफ मैं बोला हूं। मेरे एक इंटर्व्यू की क्लिपिंग को लेकर कुछ लोगों ने शोर मचा दिया है।

मुकेश खन्ना ने कहा, ''MeToo पर मैंने एक साल पहले इसी टॉपिक पर एक वीडियो बनाई थी, जो मैं आप लोगों को दिखाना चाहता हूं कि तब भी मैंने यही कहा था कि नारियों को अपने काम काने की जगह पर अपनी सुरक्षा कैसे करनी चाहिए। मैंने तब भी नहीं कहा कि नारियां काम पर ना जाएं। तो आज कैसे कह सकता हूं।''

मुकेश खन्ना ने कहा, ''मैं अपने सभी दोस्तों से यही कहना चाहता हूं कि मेरे बयान को गलत तरीके से मत पेश करें। मेरा पिछला चालीस साल, मेरा फिल्मी सफर इस बात की पुष्टि करता है कि मैंने हमेशा नारियों की इज्जत की है। इस बात को हर कलाकार या हर फिल्म यूनिट का मेम्बर जानता है कि मैंने हमेशा सबकी इज्जत की है। अगर कोई भी नारी मेरे इस स्टेट्मेंट से आहत हुई हो तो मुझे अफसोस है कि मैं अपनी बात सही ढंग से नहीं रख पाया।''

ये भी पढ़ें- ज्योतिरादित्य सिंधिया ने चुनाव प्रचार के दौरान की ऐसी गलती, जिसका कांग्रेस बना रही मजाक, देखें वायरल वीडियो

'इस बात की चिंता नहीं कि नारी समाज मेरे खिलाफ हो जाएगा'

'इस बात की चिंता नहीं कि नारी समाज मेरे खिलाफ हो जाएगा'

मुकेश खन्ना ने अपने इंस्टाग्रम पर लिखा, मुझे इस बात की चिंता नहीं कि नारी समाज मेरे खिलाफ हो जाएगा। उन्हें होना भी नहीं चाहिए। मेरी जिंदगी खुली किताब है। सब जानते हैं कि मैंने कैसे जिंदगी जी है और कैसे जी रहा हूं। मैं अपना वही इंटर्व्यू आपको पूरा दिखाना चाहता हूं, जिसमें से ये क्लिपिंग ली गई है। आपको पता चलेगा मैं नारियों के प्रति क्या विचार रखता हूं।

मुकेश खन्ना ने कहा, मैंने कभी नहीं कहा कि औरतों को काम नहीं करना चाहिए। मैं सिर्फ़ ये बताने जा रहा था कि Me Too की शुरुआत कैसे होती है। हमारे देश में औरतों ने हर फील्ड में अपनी जगह बनाई है। फिर चाहे वो डिफ़ेन्स मिनिस्टर हो, फाइनैन्स मिनिस्टर हो , विदेश मंत्री हो या स्पेस में हो हर जगह नारी ने अपना परचम लहराया है। तो मैं नारी के काम करने के खिलाफ कैसे हो सकता हूं।

मुकेश खन्ना पर भड़के लोग, हुई आलोचना

मुकेश खन्ना पर भड़के लोग, हुई आलोचना

मुकेश खन्ना का ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। वीडियो वायरल होने के बाद सोशल मीडिया यूजर ने उनकी आलचोना की। यूजर्स कमेंट कर रहे हैं कि महिलाओं के प्रति मुकेश खन्ना की सोच को जानने के बाद काफी निराशा हुई है। कई लोगों ने ये कहा है कि मुकेश खन्ना की मानसिकता और सोच ही खराब है।

शक्तिमान से फेमस हुए मुकेश खन्ना को कई लोगों ने असल जिंदगी में किलविश जैसा बताया है। मुकेश खन्ना पिछले दिनों द कपिल शर्मा शो को लेकर भी विवादित बयान दिया था। उन्होंने कपिल शर्मा के शो को वाहियात बताया था।

View this post on Instagram

मुझे सचमुच हैरानी हो रही है कि मेरे एक स्टेट्मेंट को बहुत ही ग़लत तरीक़े से लिया जा रहा है। मुझे औरतों के ख़िलाफ़ बताया जा रहा है। जितनी इज़्ज़त मैं नारियों की करता हूँ शायद ही कोई करता होगा। इसीलिए मैंने LAXMI BOMB नाम का विरोध किया। मैं नारियों की सुरक्षा को लेकर चिंतित हूँ। हर रेप कांड के ख़िलाफ़ मैं बोला हूँ।मेरे एक इंटर्व्यू की क्लिपिंग को लेकर कुछ लोगों ने शोर मचा दिया है। मैंने कभी नहीं कहा कि औरतों को काम नहीं करना चाहिए। मैं सिर्फ़ ये बताने जा रहा था कि Me Too की शुरुआत कैसे होती है। हमारे देश में औरतों ने हर फ़ील्ड में अपनी जगह बनाई है। फिर चाहे वो डिफ़ेन्स मिनिस्टर हो, फ़ाइनैन्स मिनिस्टर हो , विदेश मंत्री हो या स्पेस में हो हर जगह नारी ने अपना परचम लहराया है। तो मैं नारी के काम करने के ख़िलाफ़ कैसे हो सकता हूँ। उस विडीओ इंटर्व्यू में मैं सिर्फ़ नारी के बाहर जाकर काम करने से क्या दिक़्क़तें आ सकती हैं उस पर रोशनी डाल रहा था। जैसे घर के बच्चे अकेले पड़ जातें हैं। मैं पुरुष और नारी धर्म की बात कर रहा था जो हज़ारों सालों से चला आ रहा है। मैंने ये नहीं कहा कि नारी बाहर जाती है तो Me Too होता है। मैंने एक साल पहले इसी टॉपिक पर एक विडीओ बनाई थी जो मैं आप लोगों को दिखाना चाहता हूँ कि तब भी मैंने यही कहा था कि नारियों को अपने काम काने की जगह पर अपनी सुरक्षा कैसे करनी चाहिये। मैंने तब भी नहीं कहा कि नारियाँ काम पर ना जाएँ। तो आज कैसे कह सकता हूँ। मैं अपने सभी दोस्तों से यही कहना चाहता हूँ कि मेरे स्टेट्मेंट को ग़लत तरीक़े से मत पेश करें। मेरा पिछला चालीस साल, मेरा फ़िल्मी सफ़र इस बात की पुष्टि करता है मैंने हमेशा नारियों की इज़्ज़त की है। इस बात को हर कलाकार या हर फ़िल्म यूनिट का मेम्बर जानता है कि मैंने हमेशा सबकी इज़्ज़त की है।अगर कोई भी नारी मेरे इस स्टेट्मेंट से आहत हुई हो तो मुझे अफ़सोस है कि मैं अपनी बात सही ढंग से नहीं रख पाया। मुझे इस बात की चिंता नहीं कि नारी समाज मेरे ख़िलाफ़ हो जाएगा। उन्हें होना भी नहीं चाहिए।मेरी ज़िंदगी खुली किताब है। सब जानते हैं कि मैंने कैसे ज़िंदगी जी है और कैसे जी रहा हूँ। मैं अपना वही इंटर्व्यू आपको पूरा दिखाना चाहता हूँ जिसमें से ये क्लिपिंग ली गई है। आपको पता चलेगा मैं नारियों के प्रति क्या विचार रखता हूँ।

A post shared by Mukesh Khanna (@iammukeshkhanna) on

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Mukesh Khanna clarifies after getting criticised for his take on #MeToo says Not against working women
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X