• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अमेरिकी कार्रवाई से बचने के लिए पाकिस्तान ऐसे बोल रहा है झूठ

|

नई दिल्ली- पाकिस्तान को अंदाजा लग चुका है कि एफ-16 के गलत इस्तेमाल के लिए अमेरिका उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर सकता है। बस उसे अपनी तफ्तीश पूरी होने का इंतजार है। इसलिए, पाकिस्तान लगातार झूठ पर झूठ बोल रहा है। अपने बयानों को बदल रहा है। अब उसने कह दिया है कि भारत के खिलाफ जिस फाइटर जेट का उसकी वायुसेना ने इस्तेमाल किया था, वह अमेरिका का एफ-16 नहीं, बल्कि चीन की मदद से बनाया गया फाइटर जेट जेएफ-17 था।

अमेरिकी डंडे के डर से गिरगिराया पाकिस्तान

अमेरिकी डंडे के डर से गिरगिराया पाकिस्तान

पाकिस्तान ने कहा है कि 27 फरवरी को उसने अमेरिका से मिले फाइटर जेट एफ-16 (F-16)का इस्तेमाल नहीं किया था। डॉन न्यूज में छपी खबर के मुताबिक उसने अब दावा किया है कि जिस फाइटर जेट की चर्चा हो रही है,वह दरअसल चीन का डिजायन किया हुआ जेएफ-17 (JF-17)था, जिसे उसने चीन के साथ मिलकर बनाया था। गौरतलब है कि अमेरिका, पाकिस्तान की ओर से फाइटर जेट एफ-16 (F-16)के इस्तेमाल के बारे में जानकारियां जुटा रहा है। अमेरिका ने कहा है कि अगर ये बात सही साबित हुई, तो इसे रक्षा सौदे का दुरुपयोग माना जाएगा और उसे बहुत ही गंभीरता से लिया जाएगा। शायद यही वजह है कि पाकिस्तान अब एफ-16 (F-16)के इस्तेमाल पर सफेद झूठ बोलने की कोशिश कर रहा है।

भारत सबूत दे चुका है कि पाकिस्तानी जेट एफ-16 ही था

भारत सबूत दे चुका है कि पाकिस्तानी जेट एफ-16 ही था

जानकारी के मुताबिक फाइटर जेट एफ-16 (F-16) के सेल एग्रीमेंट में यह बात शामिल है कि पाकिस्तान इसका इस्तेमाल सिर्फ आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में ही कर सकता है। जबकि, भारत के पास इस बात के पुख्ता डिजिटल और फिजिकल सबूत मौजूद हैं कि पाकिस्तान ने उस दिन एफ-16 (F-16)को ही जम्मू-कश्मीर में भारतीय सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने के लिए भेजा था। भारतीय सेना ने उस एमरैम मिसाइल( Amraam missile) के टुकड़े भी दिखाए थे, जो राजौरी इलाके में एफ-16 से गिराए गए थे। अब पाकिस्तान इस बात को कैसे झुठलाएगा कि यह हवा से हवा में मार करने वाला मिसाइल सिर्फ एफ-16 में ही उपयोग होता है, जो कि पाकिस्तान के पास है। यही नहीं, पाकिस्तान ने पहले दिन पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर में गिरे दो फाइटर जेट की तस्वीरें दिखाकर उसे भारत का होने का दावा किया था। जबकि, एक्सपर्ट ने उसी समय पकड़ लिया था कि उनमें से एक मलवा एफ-16 (F-16)का था। बाद में यह बात भी साबित हो गई कि भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान ने ही अपने मिग-21 विमान से भारत में घुस आए उस पाकिस्तानी एफ-16 (F-16) को मार गिराया था। तब वे भारतीय वायु सीमा में घुस आए पाकिस्तानी लड़ाकू विमान का पीछा करते हुए पीओके (PoK) में घुस गए थे। बाद में एफ-16 को मार गिराने के बाद उनका विमान क्रैश हो गया था।

पाकिस्तान की दाढ़ी में तिनका

पाकिस्तान की दाढ़ी में तिनका

पाकिस्तान की तरफ से झूठ बोलने का मोर्चा सबसे पहले वहां के प्रधानमंत्री इमरान खान ने खुद ही संभाला था। उन्होंने पहले दिन सरेआम दावा किया था कि पाकिस्तानी वायुसेना ने भारत के दो लड़ाकू विमान मार गिराए हैं। उन्होंने दो हिंदुस्तानी पायलट के पाकिस्तान के कब्जे में होने का भी दावा किया था, जिनमें से एक को हिरासत में और दूसरे को अस्पताल में भर्ती बताया था। उन्होंने ही मिग-21 के फाइटर पायलट की जानकारी सार्वजनिक की थी। लेकिन, दूसरे पायलट और दूसरे विमान के बारे में आज तक कुछ नहीं मौन हैं। क्योंकि, दूसरा विमान वही पाकिस्तानी एफ-16 (F-16)था,जिसे जांबाज अभिनंदन वर्तमान ने मार गिराया था। लेकिन, पहले पाकिस्तान ने उसे भारतीय विमान ही समझ लिया था। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने जिस दूसरे फाइटर पायलट को पकड़ने की बात कही थी, वह भारतीय नहीं, बल्कि उसी पाकिस्तानी एफ-16 का पायलट था, जो अभिनंदन वर्तमान के विमान से चली मिसाइल का शिकार हो गया था। यही नहीं, खबरों के मुताबिक सबसे चौकाने वाली बात ये है कि बाद में वहां के लोगों ने एफ-16 के उस पायलट को भारतीय समझकर मॉब लिंचिंग में मार दिया था। अब इमरान खान किस मुंह से इस सच्चाई को स्वीकार करेंगे।

आत्मरक्षा में मिग-21 को मार गिराने का दावा भी झूठा

आत्मरक्षा में मिग-21 को मार गिराने का दावा भी झूठा

पाकिस्तान 27 तारीख से लगातार दावा किए जा रहा है कि उसने बालाकोट एयर स्ट्राइक के दूसरे दिन पाकिस्तानी वायु सीमा में घुसे भारतीय फाइटर जेट को मार गिराया। पाकिस्तान यह दावा तब कर रहा है, जब वहां की सरकार खुद मान चुकी है कि 26 फरवरी की रात भारतीय मिराज-2000 विमानों ने बालाकोट में बम गिराए थे। तब पाकिस्तान सरकार ने यह कहकर जवाबी कार्रवाई से पीछे हटने की बात कही थी, कि उसके एयर फोर्स को रात में दिखाई नहीं देता है। यहां भी पाकिस्तान की झूठ आसानी से पकड़ में आ जाती है। अगर भारतीय वायुसेना रात के समय पाकिस्तानी सीमा के 80 किलोमीटर भीतर घुसकर बम बरसा कर लौट सकती है, तो क्या दिन में पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर में घुसने के लिए वो मिग-21 जैसे विंटेज लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल करेगी। जबकि सुरक्षा मामलों की समझ रखने वाला कोई भी बता देगा कि ऐसे विमान एयर डिफेंस के लिए होते हैं, एयर स्ट्राइक के लिए नहीं। यानी पाकिस्तान एफ-16 (F-16)फाइटर जेट का भारत के खिलाफ इस्तेमाल करके बुरी तरह फंस चुका है।

इसे भी पढ़ें- पाकिस्तान पर हो सकती है एक और सर्जिकल स्ट्राइक, अब भारत के दोस्त ने चेताया

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
JF 17 not F 16 were used pakistan lie continues
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X