• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

लद्दाख बॉर्डर पर भारत और चीन के बीच तनाव, सैनिकों में हुई धक्का-मुक्की

|
Google Oneindia News
    Laddakh में India-China Army में धक्का-मुक्की । वनइंडिया हिंदी

    नई दिल्ली। भारत और पाकिस्तान के बीच चल रहे तनाव के बीच बुधवार रात को चीन की ओर से भी बवाल पैदा हो गया, टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक भारत और चीन के सैनिक पूर्वी लद्दाख में भिड़ गए और दोनों के बीच काफी देर तक धक्का-मुक्की होती रही, समाचार पत्र के मुताबिक यह घटना 134 किलोमीटर लंबी पैंगोंग झील के उत्तरी किनारे पर हुई, जिसके एक तिहाई हिस्से पर चीन का नियंत्रण है, हालांकि दोनों पक्षों के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर पर बातचीत के बाद स्थिति सामान्य हो गई है और मामला नियंत्रण में है।

    भारत और चीन के सैनिकों में धक्का-मुक्की

    भारत और चीन के सैनिकों में धक्का-मुक्की

    कहा जा रहा है कि जिस वक्त भारतीय सैनिक पट्रोलिंग पर थे और इसी दौरान उनका आमना-सामना चीन के पीपल्स लिब्रेशन आर्मी के सैनिकों के साथ हो गया था, चीनी सैनिकों ने इलाके में भारतीय सैनिकों की मौजूदगी का विरोध किया इसके बाद दोनों ओर के सैनिकों में धक्का-मुक्की होने लगी।

    यह पढ़ें: Chandrayaan 2: 'लैंडर विक्रम' पर मंडराया माइनस 200 डिग्री का खतरा, जानिए क्या कर रहा है ISRO?यह पढ़ें: Chandrayaan 2: 'लैंडर विक्रम' पर मंडराया माइनस 200 डिग्री का खतरा, जानिए क्या कर रहा है ISRO?

     ब्रिगेडियर स्तर की फ्लैग मीटिंग के बाद मामला सुलझा

    ब्रिगेडियर स्तर की फ्लैग मीटिंग के बाद मामला सुलझा

    हालांकि देर शाम दोनों देशों के ब्रिगेडियर स्तर की फ्लैग मीटिंग के बाद मामला सुलझ गया और टकराव खत्म हो गया, बताते चलें कि ये लगभग वही जगह थी जहां वर्ष 2017 में भारत और चीनी सैनिकों के बीच जमकर मारपीट हुई थी, फिलहाल अभी स्थिति सामान्य है।

     चीन को दी थी वार्निग

    चीन को दी थी वार्निग

    अभी पिछले महीने ही पूर्वी सेना कमांड के पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल एम एम नरवाने ने चीन को चेतावनी देते हुए कहा था कि अब हम 1962 की सेना नहीं हैं और अगर चीन कहता है कि 'इतिहास मत भूलो', तो हम उन्हें भी यही बात कहेंगे। मैं 1962 में सेना पर ब्लैक मार्क के रूप में नहीं देखता हूं। सेना की सभी इकाइयों ने अच्छी तरह से लड़ाई लड़ी और उनके निर्धारित कार्यों को पूरा किया। उन्होंने कहा कि, अगर चीन ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर 'विवादित क्षेत्र में 100 बार अतिक्रमण किया है तो भारतीय सेना ने 200 बार ऐसा किया है।

    यह पढ़ें: Chandrayaan 2: जानिए अंतरिक्ष और चांद के बारे में कुछ अजब-गजब बातेंयह पढ़ें: Chandrayaan 2: जानिए अंतरिक्ष और चांद के बारे में कुछ अजब-गजब बातें

    English summary
    Border tensions between India and China flared up yet again on Wednesday with a prolonged confrontation between the rival troops in eastern Ladakh.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X