India
  • search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

'अकेली महिला MLA को 100 लोग घेर लेंगे तो कैसा लगेगा', शिवसेना के बागी MLA का खौफ

|
Google Oneindia News

गुवाहाटी, 24 जून: महाराष्ट्र में जारी सियासी संकट में बाहुबल के इस्तेमाल की धौंस दिखाई जा रही है। इसका खौफ अब गुवाहाटी में कैंप कर रहे शिवसेना के बागी विधायक भी बयां कर रहे हैं। वह बता रहे हैं कि ऐसे क्या हालात पैदा हुए कि उन्हें विधान परिषद चुनाव के परिणाम वाले दिन मुंबई से सूरत और सूरत से गुवाहाटी भागना पड़ा। उन्हें सत्ता में बैठे लोग जिस तरह से मुंबई आने को कह रहे हैं, उसका भी अंदाज उन्हें संदिग्ध लग रहा है। यही वजह है कि अब ये बागी विधायक खुलकर बीजेपी के साथ सरकार बनाने की बात भी कहने लगे हैं। साथ ही यह भी कह रहे हैं कि अभी भी अगर उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस और एनसीपी का साथ छोड़ दिया तो उन्हें उनसे कोई दिक्कत नहीं रहेगी।

2/3 की संख्या हम पहले ही पार कर चुके हैं- बागी एमएलए

2/3 की संख्या हम पहले ही पार कर चुके हैं- बागी एमएलए

न्यूज18 ने शिवसेना के बागी विधायक दीपक केसरकर से बातचीत की है, उसमें कई चीजों का खुलासा हुआ है। उन्होंने यह भी बताया है कि ऐसी क्या परिस्थितियां हुईं कि उन लोगों को मुंबई छोड़ने को मजबूर होना पड़ा। केसरकर ने यह भी दावा किया है कि वे भारतीय जनता पार्टी के संपर्क में हैं और उनके साथ पार्टी के 38 एमएलए हैं। हालांकि, महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने शुक्रवार को कोल्हापुर में कहा है कि 'किसी ने भाजपा को सत्ता में आने का प्रस्ताव नहीं दिया है।' दीपक केसरकर ने कहा है कि 'इस समय हमारे कैंप में 38 एमएलए हैं और 12 से ज्यादा निर्दलीय एमएलए भी हमारे साथ हैं। कई एमएलए रास्ते में हैं और जब वे पहुंच जाएंगे तो हम आपको बताने की स्थिति में होंगे। हम पूरी तरह से आश्वस्त हैं। इसमें कोई शक नहीं है। दो-तिहाई (55 शिवसेना विधायक) की जो संख्या की आवश्यकता है, हम उसे पहले ही पार कर चुके हैं।'

'हम लोकतंत्र के सभी नियमों का पालन कर रहे हैं'

'हम लोकतंत्र के सभी नियमों का पालन कर रहे हैं'

शिवसेना विधायक ने कहा है कि उनकी ओर से महाराष्ट्र के डिप्टी स्पीकर को 37 नाम दिए गए हैं। वो बोले कि 'हम इंतजार करेंगे और अगर इसपर विचार नहीं किया गया तो हम अदालत का रुख करेंगे।' उन्होंने कहा कि हम इसपर भी चर्चा करने वाले हैं कि विधायक दल के नेता पर फैसले को कैसे चुनौती दें। (दरअसल डिप्टी स्पीकर ने उद्धव ठाकरे गुट के एमएलए की ओर से अजय चौधरी को विधायक दल का नेता चुनने के फैसले पर मुहर लगा दी है। ) उनके मुताबिक, 'हम लोग कुछ भी गलत नहीं कर रहे हैं। मामला पूरी तरह साफ है। हमारे साथ लोग हैं। हम सिस्टम और लोकतंत्र के सभी नियमों का पालन कर रहे हैं। '

हमारे विधायक बाहुबल का सामना करने क्यों जाएंगे- दीपक केसरकर

हमारे विधायक बाहुबल का सामना करने क्यों जाएंगे- दीपक केसरकर

एकनाथ शिंदे के साथ मौजूद विधायक ने आरोप लगाया है कि उद्धव खेमा विधायकों पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है, जो कि चलने वाला नहीं है। इनका कहना है कि वह जो चाहे कर लें, इससे कुछ भी होने वाला नहीं है। वे कोर्ट जाने को भी तैयार हैं। जब उनसे पूछा गया कि एनसीपी सुप्रीमो ने कहा है कि उन्होंने सदन में कुछ भी साबित नहीं किया है। वे महाराष्ट्र क्यों नहीं आ रहे हैं? इसपर बागी एमएलए का कहना है कि 'स्पीकर जब भी सदन में बहुमत साबित करने को कहेंगे, हम कर देंगे। हमारे विधायक बाहुबल का सामना करने के लिए क्यों जाएंगे? वे लोग इस तरह की बातें क्यों कर रहे हैं? लोकतंत्र में बाहुबल सही नहीं है। वास्तव में जब हमने स्पीकर को सारे हस्ताकर के साथ लिखा, उन्हें तत्काल हमें मान्यता दे देनी चाहिए थी। लेकिन, हमने देखा कि सिर्फ 14 एमएलए वाले ग्रुप में से एक को सीएलपी घोषित कर दिया गया। चौधरी को सीएलपी कहना गैरकानूनी है।'

'एक महिला MLA को 100 लोग घेर लेंगे तो कैसा लगेगा'

'एक महिला MLA को 100 लोग घेर लेंगे तो कैसा लगेगा'

लेकिन, इसके बाद उन्होंने जिस खौफ को बयां किया है, वह बहुत ही गंभीर है। दीपक केसरकर ने कहा कि 'हम कभी भी महाराष्ट्र नहीं छोड़ना चाहते थे, लेकिन 100-150 लोग आपकी कार का पीछा करेंगे तो हम क्या कर सकते हैं? यह बालासाहेब की विचारधारा नहीं है। कोंकण में शांति के लिए मैंने लड़ाई लड़ी है। एक महिला एमएलए को कैसा लगेगा जब 100 लोग उसकी कार को घेर लेंगे?'

इसे भी पढ़ें- क्या अब महाराष्ट्र में 'बाहुबल' से तय होगा उद्धव सरकार का भविष्य ? नेताओं की ये भाषा खतरनाक हैइसे भी पढ़ें- क्या अब महाराष्ट्र में 'बाहुबल' से तय होगा उद्धव सरकार का भविष्य ? नेताओं की ये भाषा खतरनाक है

सिर्फ बीजेपी की मदद से सरकार बना सकते हैं- बागी एमएलए

सिर्फ बीजेपी की मदद से सरकार बना सकते हैं- बागी एमएलए

शिवसेना के बागी विधायक ने पहली बार बीजेपी के साथ सरकार बनाने को लेकर भी अपना नजरिया साफ कर दिया है। उन्होंने कहा- 'हम हमेशा से बीजेपी के साथ रहना चाहते हैं। हम कई बार कह चुके हैं। हमारी बालासाहेब ठाकरे की विचारधारा है। हम उससे पीछे हट रहे हैं। यह सही नहीं है। हम सिर्फ बीजेपी की मदद से ही सरकार बना सकते हैं। हम उनके साथ संपर्क में हैं। अगर उद्धव ठाकरे एनसीपी और कांग्रेस को छोड़ देते हैं तो हमें को दिक्कत नहीं है।'

Comments
English summary
Shiv Sena's rebel MLA Deepak Kesarkar has said in Guwahati that how would it feel if 100 people surrounded a woman MLA
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X