जब कश्‍मीर और भारत में जेहाद के लिए ओसामा बिन लादेन से मांगी गई मदद!

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

श्रीनगर। पहले से ही आतंकवाद की आग में झुलस रहे जम्‍मू कश्‍मीर में आतंकवाद फैलाने के लिए अल कायदा और इसके सरगना ओसामा बिन लादेन की मदद की तैयारी कर ली गई थी। सिर्फ इतना ही नहीं अल कायदा से जुड़े कश्‍मीर के एक जेहादी संगठन ने अल कायदा के सरगना ओसामा बिन लादेन से भारत में जेहाद के लिए याचना की थी। इस आतंकी संगठन ने कश्‍मीर में जेहाद को और पवित्र करने के लिए लादेन के नाम का सहारा लिया है।

osama-bin-laden-kashmir-jihad-ओसामा-बिन-लादेन-कश्‍मीर-जेहाद.jpg

सीआईए की फाइलों से खुलासा

अल कायदा की 313 ब्रिगेड के हेड इलियास कश्‍मीरी की एक चिट्ठी सामने आई है। इस चिट्ठी में कश्‍मीरी ने पाकिस्‍तान की इंटेलीजेंस एजेंसी आईएसआईए को एक बेइमान एजेंसी बताया है। इसके अलावा इस चिट्ठी में कश्‍मीरी ने यह बात भी बताई है कि वह कैसे भारत में आतंकी संगठनों से काफी दुखी था और ये वे संगठन थे जिनका अल कायदा से ताल्‍लुक था। इलियास कश्‍मीरी पाकिस्‍तान का मिलिट्री कमांडर था और लादेन की मदद से अल कायदा में शामिल होना चाहता था। इसके अलावा लादेन की ही मदद से वह आईएसआईस पर एक बड़े हमले की भी तैयारी में था। कश्‍मीरी ने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि जब हम मजबूती के साथ हमला करेंगे तभी भारत में आईएसआई वाले जेहाद को पवित्र किया जा सकेगा। यह चिट्ठी उन हजारों फाइलों का ही हिस्‍सा है जिन्‍हें पिछले दिनों सीआईए ने क्‍लासीफाइड किया हे।

आईएसआई को तोड़ने की ख्‍वाहिश

इस चिट्ठी में लिखा है कि आईएसआई को नॉन-स्‍टेट ग्रुप्‍स का प्रयोग करने के लिए जाना जाता है। इसके साथ ही आईएसआई की क्षमताओं को बहुत ही कमजोर बताया है। इलियास कश्‍मीरी ने लिखा है, 'माननीय शेख, आप जानते हैं कि पिछले कुछ वर्षों में हमने भारत में 313 नाम के साथ काम किया है। मीडिया कहती है कि यह संगठन अल कायदा का है। क्‍या हमें इस नाम के साथ ही काम करते रहना चाहिए या फिर कोई और नाम रखना चाहिए।' कश्‍मीरी ने यह भी कहा है कि अब समय आ गया है जब आईएसआई के नीचे से जमीन खींचनी होगा। उसने लिखा है कि उसने भारत में अपने कुछ भाईयों से बात की है। उसने लादेन से सवाल किया है कि हमें कैसे उनके पैरों के नीचे से जमीन खींचनी हैं जो पाकिस्‍तान की इंटेलीजेंस एजेंसी के लिए काम करती हैं? कश्‍मीरी ने कहा है कि अब समय आ गया है जब हमें बताना होगा कि सही मायनों में जेहाद क्‍या होता है। फिर उसने लादेन से पूछा है कि वह इस पर क्‍या सलाह देगा।

अगस्‍त 2010 में आया लादेन का जवाब

लादेन ने इस चिट्ठी का जवाब भी दिया। लादेन ने अगस्‍त 2010 में कश्‍मीरी की चिट्ठी का जवाब दिया। उसने इस चिट्ठी में आईएसआई का कोई जिक्र नहीं किया है। लादेन ने चिट्ठी जमीरी के नाम से लिखी। उसने लिखा, 'हमारे पास और भी महत्‍वपूर्ण काम है करने को। शेख महमूद तुमको बाकी की जानकारी देगा। मुझे उम्‍मीद है कि तुम इस काम को जितना अच्‍छे से कर सकते हो उतने अच्‍छे से सभी संभव तरीकों के साथ करोगे। मैं अल्‍लाह से दुआ करूंगा कि वह तुम्‍हें कामयाबी दे और उम्‍मीद करूंगा कि हम ऐसे ही चिट्ठी के साथ बातचीत करते रहें।'

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Kashmir based jihadi groups had pleaded with Osama Bin Laden to help purify jihad in India and also termed the Pakistan's spy agency, ISI as deceitful.
Please Wait while comments are loading...