• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

भारी बारिश की वजह से यूपी के 300 से अधिक गांव खतरे में, जनजीवन अस्त-व्यस्त

|

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में पिछले कुछ दिनों में हुई जोरदार बारिश की वजह से कई गांवों में बाढ़ जैसे हालात हैं। उत्तर-पश्चिम यूपी के तकरीबन 300 गांव भारी बारिश की वजह से जिला मुख्यालय से पूरी तरह से कट चुके हैं, जिसकी वजह से लोगों को काफी मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है। ये अधिकतर गांव मुरादाबाद, संभल, अमरोहा, रामपुर, पीलीभीत और लखीमपुर खीरी व नेपाल की सीमा से जुड़े हैं, जहां बाढ़ के पानी ने लोगों की जीवन को मुश्किल कर दिया है।

flood

मुरादाबाद के 53 गांव संकट में
अमरोहा गांव में रहने वाले मंसूर खान का कहना है कि है कि मेरा घर नौ फीट पानी में डूब गया है, हमारा सारा सामान बर्बाद हो गया है, किसी तरह से हम गांव छोड़ने में सफल हुए हैं और अपनी जान को बचा सके हैं। उन्होंने बताया कि हम हमारे परिवार के पांच सदस्य अमरोहा में अपने एक रिश्तेदार के घर पर रहे है हैं। वहीं मुरादाबाद के भी 53 गांव पानी में डूब गए हैं, यहां लोगों का संपर्क जिला मुख्यालय से पूरी तरह से खत्म हो गया है, जिसकी वजह से सड़के से खाद्य पदार्थ और अन्य सामान गांव तक नहीं पहुंच पा रहा है।

9 लोगों की मौत
मुरादाबाद के डीएम राकेश कुमार ने बताया कि कुछ गांव ठाकुरद्वार, कांथ और बिलारी राम गंगा में बढ़ते पानी की वजह से प्रभावित हुए हैं। इसी तरह से पीलीभीत और लखीमपुर खीरी में शारदा नदी में बढ़ते पानी की वजह से यहां के 40 गांवों में पानी भर गया है और इन गांवों का जिला मुख्यालय से संपर्क कट गया है। बाढ़ की वजह से हुए हादसों में अलग-अलग जगहों पर 9 लोगों की मौत हो चुकी है।

राहत और बचाव कार्य जारी
पीलीभीत के डीएम अखिलेश मिश्रा ने बताया कि हमने 14 बाढ़ राहत पोस्ट की स्थापना की है, इन पोस्ट पर लोगों को हर संभव मदद मुहैया कराई जाती है, जिससे कि ग्रामीणों को किसी भी तरह कीमदद पहुंचाई जा सके। साथ ही इन कैंप भी बनाए गए हैं, जहां लोगों को स्वास्थ्य सेवा और खाना मुहैया कराया जा रहा है। डीएम ने बताया कि आपदा प्रबंधन की टीम कों को भी राहत और बचाव के काम में लगा दिया गया है।

ये नदियां खतरे के निशान से उपर

जिन नदियों में बाढ़ का सबसे अधिक असर है वह गंगा, राम गंगा, शारदा, घाघरा, कुवानो, हैं, जहां पानी मंगलवार को खतरे के निशान से उपर बह रहा था। वहीं पलिया की शारदा नदी में भी पानी खतरे के निशान से उपर है। बाराबंकी में घाघरा नदी, मुरादाबाद में राम गंगा नदी का भी पानी खतरे के निशान से उपर बह रहा है।

इसे भी पढ़ें- शाहजहांपुर: बाढ़ के खतरे को देखते हुए जिलाधिकारी ने प्रशासन का अलर्ट मोड किया ऑन

English summary
Flood in Uttar Pradesh more than 300 villages affected. Many people are suffering.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X