• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

आपके पास कोई स्‍मार्ट फोन नहीं है तो भी लैंडलाइन से आरोग्य सेतु का कर सकेंगे इस्तेमाल, 1921 डायल करें

|

नई दिल्ली। कोरोना के मरीजों को ट्रैस करने के लिए भारत सरकार की ओर से आरोग्य सेतु ऐप लांच किया गया था। वहीं अब जिन लोगों के पास स्मार्टफोन नहीं है जिस कारण वो आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड नहीं कर सकते हैं उन्‍हें अब परेशान होने की जरुरत नहीं है क्योंकि मोदी सरकार ने अब आईवीआरएस सेवाओं को लागू किया है। आरोग्य सेतु के संरक्षण में फीचर फोन और लैंडलाइन वाले नागरिकों को शामिल करने के लिए, "आरोग्य सेतु इंटरएक्टिव वॉयस रिस्पांस सिस्टम (आईवीआरएस)" लागू किया गया है। यह सेवा देश भर में उपलब्ध है। यह एक टोल-फ्री सेवा है, जहां नागरिकों को 1921 नंबर पर एक मिस्ड कॉल देने के लिए गया है और उन्हें अपने स्वास्थ्य के बारे में जानकारी के लिए अनुरोध करने पर कॉल बैक मिलेगा।

ये ऐसे करेगा काम

ये ऐसे करेगा काम

पूछे गए प्रश्नों को अरोग्य सेतु ऐप के साथ जोड़ दिया गया है, और दी गई प्रतिक्रियाओं के आधार पर, नागरिकों को उनके स्वास्थ्य की स्थिति का संकेत देने वाला एक एसएमएस भी मिलेगा और उनके स्वास्थ्य को आगे बढ़ाने के लिए और भी अलर्ट मिलेंगे। यह सेवा मोबाइल एप्लिकेशन के समान 11 क्षेत्रीय भाषाओं में लागू की गई है। नागरिक द्वारा प्रदान किए गए इनपुट को आरोग्य सेतु डेटाबेस का हिस्सा बनाया जाएगा और उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए की जाने वाली कार्रवाई पर नागरिकों को अलर्ट भेजने के लिए जानकारी संसाधित की जाती है।

    Aarogya Setu App में कोई सुरक्षा चूक नहीं हो सकती: हैकर की चेतावनी पर सरकार | वनइंडिया हिंदी
    आरोग्य सेतु को इसलिए किया गया था लांच

    आरोग्य सेतु को इसलिए किया गया था लांच

    बता दें आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय द्वारा विकसित किया गया है। यह लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण को पकड़ने के जोखिम का आंकलन करने में सक्षम बनाता है। सभी नागरिकों से मोबाइल एप्लिकेशन डाउनलोड करने का आग्रह किया गया है। यह उपयोगकर्ता को सूचित रखने के लिए डिज़ाइन किया गया है, यदि वह किसी पॉजिटिव के संपर्क में आया हैं तो उसमें कोई कोरोना के लक्षण तो नहीं नजर आ रहे।

    10 भारतीय भाषाओं और अंग्रेजी में उपलब्ध है

    10 भारतीय भाषाओं और अंग्रेजी में उपलब्ध है

    आरोग्य सेतु को डाउनलोड करने में कई सवालों के जवाब देने के लिए कहा जाता है। यदि कुछ उत्तर COVID-19 लक्षणों का सुझाव देते हैं, तो जानकारी एक सरकारी सर्वर को भेज दी जाएगी। डेटा तब सरकार को समय पर कदम उठाने में मदद करेगा और यदि आवश्यक हो तो आइसोलेशन प्रक्रिया शुरू कर सकता है और यह भी अलर्ट करता है कि कोई व्यक्ति सकारात्मक परीक्षण किए गए व्यक्ति के साथ निकटता में आता है। ऐप दोनों Google Play (एंड्रॉइड फोन के लिए) और iOS ऐप स्टोर (आईफ़ोन के लिए) पर उपलब्ध है। यह 11 भाषाओं -10 भारतीय भाषाओं और अंग्रेजी में उपलब्ध है।

    पेड़ पर दिखा ब्लैक पैंथर सोशल मीडिया पर वायरल, लोगों को याद आया जंगल बुक का बघीरा

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Dial 1921 to access Aarogya Setu if you have a landline or no smart phone
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X