आधार का दुरुपयोग कर निकाले 1.42 करोड़ रुपए,4 सरकारी बैंकों के कर्मचारियों ने ग्राहकों को लगाया चूना

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। आधार सत्यापन के नाम पर बैंकों का फर्जीवाड़ा सामने आया है। एक रिपोर्ट के अनुसार बैंक के कर्मचारी ही आधार कार्ज की जानकारी इस्तेमाल कर ग्राहकों के खाते से रुपए निकाल रहे थे। इलाहाबाद बैंक,बैंक ऑफ इंडिया,सिंडीकेट बैंक और यूको बैंक ने जानकारी दी है कि ग्राहकों की आधार संख्या का इस्तेमाल कर के 1.42 करोड़ रुपए निकाल लिए गए। वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ल ने मंगलवार (6 फरवरी) को राज्य सभा में लिखित जवाब में कहा था कि सरकारी बैंकों से मिले आकड़ों के अनुसार ग्राहकों की आधार संख्या का दुरुपयोग कर बैंकों से पैसा निकालने का मामला सामने आया है। बता दें कि यह मामला ऐसे समय सामने आया है जब सुप्रीम कोर्ट में पांच जजों की संवैधानिक पीठ आधार के कानून की वैधता पर सुनवाई कर रही है।

गलत बैंक खातों से जोड़ा आधार

गलत बैंक खातों से जोड़ा आधार

अंग्रेजी समाचार पत्र बिजनेस स्टैंडर्ड के अनुसार बैंक ऑफ इंडिया बैंक से जुड़े दो मामलों में बैंक के दो प्रतिनिधियो ने आधार संख्या को गलत बैंक खातों से जोड़कर फर्जीवाड़ा किया। रिपोर्ट के अनुसार बैंक खातों से कुल 1.37 करोड़ रुपए निकाले गए।

सरकार को जानकारी दी गई कि...

सरकार को जानकारी दी गई कि...

बैंकों की ओर से सरकार को जानकारी दी गई कि आधार संख्या को खातों से जोड़ने, नियंत्रण उपायों को मजबूत करने और आगे ऐसी किसी भी धोखाधड़ी के मामले से निपटने के लिए बैंक के पास सक्षम कर्मचारी हैं। बैंक ने इस मामले में आरोपी कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है। वहीं इलाहाबाद बैंक भी एक ऐसे ही मामले की जांच कर रहा है जहां आधार का दुरुपयोग कर 49,000 रुपए की निकासी कर ली गई।

दो अलग अलग नामों के साथ एक ही आधार संख्या अटैच

दो अलग अलग नामों के साथ एक ही आधार संख्या अटैच

इलाहाबाद बैंक को जानकारी मिली की दो अलग अलग नामों के साथ एक ही आधार संख्या छपी थी। जब तक बैंक को इस गलती का पता चला तब तक खातों से लेन देन हो चुका था। इलाहाबाद बैंक के एक प्रवक्ता ने कहा कि हम एक ऐसे मामले की जानकारी मिली है जिसमें रुपए ट्रांसफर करने के लिए फर्जी आधार कार्ड का इस्तेमाल किया गया है।बैंक ने कहा कि वो अभी UIDAI के सत्यापन का इतंजार कर रहे हैं।

सिंडिकेट बैंक का यह है मामला

सिंडिकेट बैंक का यह है मामला

वहीं सिंडिकेट बैंक ने अपने ही कर्मचारियों की ओर से फर्जीवाड़ा कर निकाले गए 2 लाख 26 हजार रुपये बरामद किए है। यह मामला सामने आने पर बैंक आधार संख्या से जुड़े सभी खातों का दोबारा सत्यापन करा रहा है और आधार को बैंक खातों से जोडऩे के लिए मानक प्रक्रिया का पालन करने का आदेश जारी किया है। बीते साल भी ऐसे ही दो मामलों में 1 लाख 21 हजार पांच सौ रुपए की निकासी की शिकायत मिली थी।

यूको बैंक में व्यावसायिक प्रतिनिधि ने की चोरी

यूको बैंक में व्यावसायिक प्रतिनिधि ने की चोरी

यूको बैंक में शिकायत आई है कि ने भी पाया है कि आधार की जानकारी द्वारा बैंक खातों से 1 लाख 15 हजार रुपये की निकासी की गई। यह निकासी बैंक के ही व्यवसाय प्रतिनिधि ने की थी। बैंक की ओर से जानकारी दी गई कि, 'व्यवसाय प्रतिनिधि की सारी सेवाएं खत्म कर दी गई हैं। संबंधित कर्मचारियों पर एफआईआर दर्ज करा दी गई है और अनुशासनात्मक कार्रवाई की जा रही है।'

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Customers defrauded at 4 Public sector bank through aadhaar fraud

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.