• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कोरोना संकटः मनरेगा मजदूरों की दिहाड़ी 182 से बढ़ाकर 202 रुपए की गई!

|

दिल्ली। वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमन ने कोरोना संकट से निपटने के लिए देश में 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा से प्रत्‍यक्ष रूप से प्रभावित गरीब और दिहाड़ी मजदूरों के साथ-साथ गांवों में रहने वालों परिवारों की मदद के लिए 1 लाख 70 हजार करोड़ के राहत पैकेज की घोषणा की।

relief

सरकारी राहत पैकेज में सरकार ने मनरेगा मजदूरों की दिहाड़ी 182 रुपए से बढ़ाकर 202 रुपए कर दी गई है, जिससे 5 करोड़ लोगों को फायदा मिलेगा और प्रति माह उनकी आय 2000 रुपए बढ़ेगी। इसके अलावा सरकारी राहत पैकेज में कंस्‍ट्रक्‍शन से जुड़े 3.5 करोड़ मजदूरों के लिए 31,000 हजार रुपए के फंड का सदुपयोग किया जाए। इसके लिए राज्‍य सरकारों से कहा जाएगा।

relief

वहीं, गरीब वरिष्‍ठ नागरिकों, विधावाओं और दिव्‍यांगों को तीन महीने तक अतिरिक्त 1,000 रुपए डायरेक्‍ट बेनिफिट ट्रांसफर के जरिए दिया जाएगा। वहीं, महिला जन-धन खाताधारकों को 500 रुपए राशि उनके खाते में भेजी जाएगी, जिससे 20 करोड़ महिलाओं को तात्कालिक लाभ होगा।

relief

केंद्रीय वित्त मंत्री ने यह भी घोषणा की है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत 80 करोड़ गरीबों और दिहाड़ी मजदूरों को खाद्य राहत दी जाएगी। इसके तहत जिन लाभार्थियों को 5 किलो गेहूं या चावल पहले से मिलता था, अब उन्हें 5 किलोग्राम अतिरिक्त गेंहू या चावल सरकार अगले तीन महीने तक मुफ्त में देगी।

relief

इसके अलावा सरकार लाभार्थियों को अगले तीन महीने उनकी पसंद का 1 किलो दाल भी मुफ्त मुहैया कराएगी। राहत की घोषणा करते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए घोषित 21 दिनों लॉकडाउन के दौरान सरकार किसी को भूखा नहीं रहने देगी, बल्कि हर किसी को अन्‍न मिलेगा।

relief

इससे पहले, वित्त मंत्री ने कोरोना वायरस के इलाज में प्रत्‍यक्ष या अप्रत्‍यक्ष रूप से अपनी भूमिका निभा रहे हैं योद्धाओं को 50 लाख का बीमा कवर देने का ऐलान किया है। इनमें डॉक्‍टर, पैरामेडिकल स्‍टाफ, सफाई कर्मचारी आदि सभी शामिल हैं।

Relief

राहत पैकेज में किसानों के लिए भी राहत की घोषणा ऐलान किया गया है। जिन किसानों को पीएम किसान सम्‍मान निधि के तहत 6000 रुपए मिलते हैं,अब उन्‍हें सरकार 2,000 रुपए सीधे तौर पर देने जा रही है। इससे 8.69 करोड़ किसानों को लॉकडाउन के कठिन समय में मदद मिलेगी। किसानों को यह पैसे अप्रैल के पहले हफ्ते में सीधे उनके खाते में मिलेंगे।

relief

गौरतलब है कि 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा के बाद गरीब, किसान और मजूदर वर्ग जीवन खतरे में आ गया है, जो रोजाना की दिहाड़ी मजदूरी से अपना और अपने परिवार को गुजर-बसर करते थे, लेकिन कोरोना संकट के चलते सरकार द्वारा लॉकडाउन की घोषणा के बाद उनकी जिंदगी में ठहराव सा गया है और उनके भूखे मरने की नौबत तक आ गई थी। ऐसे समय में सरकार द्वारा एक बड़े वर्ग समूह को राहत प्रदान करने की कोशिश की गई है।

कोरोना संकट: गरीब तबके लिए सरकार ने किया 1.70 लाख करोड़ के राहत पैकेज का ऐलान

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
In the government relief package, the government has increased the wages of MNREGA workers from Rs 182 to Rs 202, which will benefit 5 crore people and increase their income by Rs 2000 per month. Apart from this, funds of 31,000 thousand rupees should be utilized for construction of 3.5 crore laborers associated with the government relief package. State governments will be asked for this.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more
X