• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कमलनाथ का बड़ा बयान, कहा-मायावती के अड़ियल रवैये और जिद से भाजपा को मिल सकता है तगड़ा फायदा

|

भोपाल। बीएसपी सुप्रीमो मायावती द्वारा आगामी तीन राज्यों के चुनाव में अकेले लड़ने के फैसले से कांग्रेस तिलमिला उठी है, हालांकि मायावती ने गठबंधन ना होने के पीछे दिग्विजय सिंह जैसे नेताओं का नाम लिया है लेकिन अब मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने मायावती को लेकर बड़ा बयान दिया है। सीएनएन-न्यूज18 के एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में कमलनाथ ने गठबंधन ना होने का सारा दोष माया के सिर मढ़ दिया है।

'माया की जिद से भाजपा को एमपी में मिल सकता है तगड़ा फायदा'

'माया की जिद से भाजपा को एमपी में मिल सकता है तगड़ा फायदा'

कमलनाथ ने साफ लफ्जों में कहा कि मायावती के अड़ियल रवैये की वजह से ये गठबंधन नहीं हुआ जिसका फायदा अब भाजपा को मिलेगा। बीजेपी को हराने के लिए दोनों पार्टियों को साथ आना चाहिए था, इसके लिए बीएसपी से हमने सीटों के उचित बंटवारे की भी बात की थी लेकिन बसपा चीफ ने पहले ही फैसला ले लिया।

यह भी पढ़ें: राहुल गांधी ने कहा-मंदिर केवल BJP का नहीं, BSP के साथ गठबंधन पर भी दिया बड़ा बयान

मायावती ने 50 सीटों की मांग की थी: कमलनाथ

मायावती ने 50 सीटों की मांग की थी: कमलनाथ

कमलनाथ ने कहा कि मायावती ने 50 सीटों की मांग की थी, जबकि बीएसपी का मध्य प्रदेश में कुल 6.3 प्रतिशत ही वोट शेयर है, कांग्रेस का उत्तर प्रदेश में 6 प्रतिशत वोट शेयर है, तो क्या हमें भी ऐसी ही मांग करनी चाहिए? बीजेपी को सत्ता से दूर रखने के लिए हम उन्‍हें कुछ सीटें दे सकते हैं लेकिन मायावती ने इससे पहले ही ऐलान कर दिया, हालांकि अगर वो चाहें तो बातचीत अभी भी संभव हो सकती है।

क्या कहते हैं राजनीतिक पंडित?

क्या कहते हैं राजनीतिक पंडित?

राजनीतिक पंडितों की नजर में बीएसपी का कांग्रेस के साथ नहीं आने के पीछे लोकसभा 2019 का चुनाव है। मायावती जानती हैं कि उनकी वोट शेयरिंग में इजाफा हुआ है जो कि उन्हें यूपी में और मजबूत स्थिति में लेकर आएगा जिसका फायदा उन्हें 2019 के चुनाव में मिल सकता है।

बसपा-सपा का गठबंधन?

बसपा-सपा का गठबंधन?

और अगर वो सपा के साथ गठबंधन करती हैं तो ये गठबंधन लोकसभा चुनाव के मद्देनजर काफी मजबूत हो सकता है, जबकि कांग्रेस की मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में सत्ता की चाहत ने उसे गठबंधन से दूर कर दिया है, जिसकी वजह से उसे नुकसान हो सकता है और कमलनाथ का बयान उन्हीं अंदेशों की पुष्टि करता है।

यह भी पढ़ें: SP-BSP के गठबंधन को लेकर अमर सिंह का बड़ा बयान, कहा-माया को आज भी याद होगा गेस्ट हाउस कांड

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Madhya Pradesh Congress chief Kamal Nath has placed the blame for the mahagathbandhan failing before it could take-off squarely on the shoulders of the BSP supremo Mayawati.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X