ट्रायल में फेल हुई होवित्जर तोप, गोला दागते ही फट गया गन बैरल

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। अमेरिका से खरीदी गई अल्ट्रा लाइट होवित्जर तोप पोखरण फायरिंग रेंज में फील्ड ट्रायल के दौरान फेल हो गई। फायरिंग के दौरान तोप का गोला कई हिस्सों में टूट गया। अल्ट्रा लाइट होवित्जर M-777 तोप को अमेरिका से खरीदा गया है और इसकी कीमत 35 करोड़ रुपये है। सेना के सूत्रों के मुताबिक इस मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

 कई हिस्सों में टूटा तोप का गोला

कई हिस्सों में टूटा तोप का गोला

आपको बता दें कि मई में भारत को दो M-777 हॉवित्जर तोप मिली हैं। बोफोर्स मामला सामने आने के 30 साल बाद भारत को यह तोप मिली थी। आर्मी सूत्रों का कहना है कि फायरिंग के दौरान तोप का गोला कई हिस्सों में टूट गया। हालांकि इस हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ है।

 2 सितंबर की घटना

2 सितंबर की घटना

दो सितंबर को तोप का बैरल क्षतिग्रस्त हो गया और इसमें कितना नुकसान हुआ, संयुक्त जांच टीम इसकी पड़ताल कर रही है। बीएई सिस्टम्स के एक प्रवक्ता ने बताया कि एम-777 के फील्ड फायरिंग के दौरान इसमें दर्ज की गई खराबी से कंपनी अवगत है।

 भारतीय सेना ने अमेरिका से 145 हॉवित्जर तोपों के लिए करार किया है

भारतीय सेना ने अमेरिका से 145 हॉवित्जर तोपों के लिए करार किया है

गौरतलब है कि भारतीय सेना ने अमेरिका से 145 हॉवित्जर तोपों के लिए करार किया था। इनमें 25 तोपें बनी-बनाई खरीदी जाएंगी। शेष तोपों को बीएई सिस्टम्स और उसकी सहयोगी कंपनी महिंद्रा डिफेंस की ओर से भारत में ही असेंबल किया जाएगा। इन तोपों के लिए पिछले साल नवंबर में भारत और अमेरिका के बीच लगभग पांच हजार करोड़ रुपये का सौदा हुआ था। सितंबर 2018 को ट्रेनिंग के लिए तीन और तोप सेना को दी जाएंगी। सेना में इन तोपों को मार्च 2019 से शामिल किया जाना है और इसके बाद से 2021 के मध्य तक हर महीने पांच तोपों को सेना में शामिल किया जाना है। चीन और पाकिस्तान के साथ जुड़े विवाद को देखते हुए भारतीय सेना को इन तोपों की सख्त जरूरत है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Army's M-777 howitzer damaged during firing in Pokhran
Please Wait while comments are loading...