• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

स्‍टार्टअप कंपनी का दावा- बीजेपी ने चुराई मेहनत, बिना क्रेडिट दिए वेबसाइट लेआउट किया प्रयोग

|

नई दिल्‍ली। भारतीय जनता पार्टी पर आंध्र प्रदेश की एक स्‍टार्टअप कंपनी डब्ल्यूथ्रीलेआउट (W3layout) ने वेबसाइट का टेम्‍पलेट चोरी करने का आरोप लगाया है। कंपनी ने दावा किया है कि यह टेम्‍पलेट उसके द्वारा विकसित किया गया है और बीजेपी ने इसे बिना अनुमति न सिर्फ इस्‍तेमाल किया है बल्‍कि टेम्‍पलेट में दिया गया बैकलिंक भी दिया है। वहीं बीजेपी की तरफ से कंपनी को कोई क्रेडिट भी नहीं दिया गया है। हालांकि यह टेम्पलेट मुफ्त है लेकिन कंपनी की स्थिति को देखते हुए यूजर्स द्वारा कंपनी को श्रेय देने के लिए टेम्पलेट के स्रोत को लिंक करना आवश्यक है।

स्‍टार्टअप कंपनी का दावा- बीजेपी ने चुराई मेहनत, बिना क्रेडिट दिए वेबसाइट लेआउट किया प्रयोग

जिसके बाद उन्होंने ट्वीट के ज़रिए बीजेपी की आईटी सेल से बात करने की कोशिश की। काफी देर तक जब बीजेपी की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई तो कंपनी ने ब्‍लॉग लिखा। ब्‍लॉग में लिखा गया कि 'बीजेपी ने कोड को पूरी तरह से बदल दिया है। हम शॉक्ड है कि एक राष्ट्रीय राजनीतिक दल का नेतृत्व एक ऐसा नेता करता है जो खुद को देश का चौकीदार कहता है। उन्होंने एक छोटी सी दुकान का पसीना और खून चुराने का फैसला किया। जब उनकी चोरी पकड़ी गई तब वो पूरी तरह से मुकर गए।

कंपनी की तरफ से इस बात का बार-बार दावा किए जाने के बाद जब विवाद जोर पर पहुंचा तो बीजेपी ने मामले पर अपनी सफाई पेश की है। भाजपा के राष्ट्रीय सूचना प्रौद्योगिकी प्रकोष्ठ (आईटी सेल) के प्रमुख अमित मालवीय ने कहा कि लेआउट एक 'फ्री-टू-यूज़ एप्लिकेशन' था और जब कंपनी ने लिंक लगाने पर जोर दिया, तब से डब्ल्यूथ्रीलेआउट का कोड हटा दिया गया क्योंकि हम सामान्य रूप से ऐसा नहीं करते हैं।

मालवीय ने कहा कि हम उनका टेम्पलेट नहीं इस्तेमाल कर रहे हैं। बीजेपी की इस सफाई के बाद कंपनी ने कोड का स्‍क्रीनशॉट शेयर किया। कंपनी ने भाजपा को अपने लाइसेंस की शर्तें भी ट्वीट कीं। उन्होंने आरोप लगाया कि माफी मांगने या उचित श्रेय देने के बजाय, पार्टी की वेबसाइट के डेवलपर्स ने कंपनी के किसी भी उल्लेख को हटाने के लिए कोड को ही बदल दिया।

Read Also- जिस जगह रखा था मनोहर पर्रिकर का शव, उस स्‍थान का किया गया 'शुद्धिकरण', जांच के आदेश

डब्ल्यूथ्रीलेआउट के लाइसेंस की शर्तें बताती हैं कि उपयोगकर्ताओं को टेम्पलेट में शामिल बैकलिंक्स को हटाने की अनुमति नहीं है, जब तक कि उन्होंने इसके लिए भुगतान नहीं किया हो।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
An Andhra Pradesh-based technology start-up has accused the Bharatiya Janata Party (BJP) of using its web template to get its own hacked website up without giving them credit.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X