कोटखाई गैंगरेप: सीबीआई जांच शुरू, नेपाली समुदाय ने हड़ताल का किया ऐलान

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

शिमला। कोटखाई में स्कूली छात्रा से गैंगरेप मर्डर मामले के एक अहम किरदार नेपाली मूल के सूरज सिंह की पुलिस हिरासत में हत्या के मामले में उसकी बिरादरी के लोगों ने बगावत का बिगूल फूंक दिया है। शिमला के सेब बागानों में काम करने वाला ये नेपाली समुदाय ने आज से हड़ताल कर दी है। नेपालियों की इस बगावत से बागवानों का करोड़ों रूपया डूबने का खतरा पैदा हो गया है। सेब की फसल के लिये यह खासा अहम है। नेपाली एकता मंच ने यह ऐलान करते हुए कहा कि जब तक सूरज के परिजनों को इंसाफ नहीं मिलेगा और उसके कातिलों का पता नहीं चलेगा कोई भी नेपाली सेब के बगीचों में काम नहीं करेगा।

पत्नी ने शव लेने से किया इंकार

पत्नी ने शव लेने से किया इंकार

कोटखाई गैंगरेप मर्डर और सूरज की हत्या के मामले में नया मोड़ उस समय आया जब मृतक सूरज की पत्नी ने दावा किया कि पैसे का लालच देकर उसके पति को फंसाया गया है। इसके तुरंत बाद सूरज की पत्नी ममता की पत्नी की सुरक्षा बढ़ा दी गई। उसकी सुरक्षा के लिये शिमला पुलिस के आठ जवान तैनात किये गये हैं। लेकिन सूरज नेपाली के शव को अभी तक उसकी पत्नी ने नहीं लिया है। सूरज की लाश शिमला के आईजीएमसी अस्पताल के शव गृह में अभी भी पड़ी है। बताया जा रहा है कि अभी भी सूरज की पत्नी ममता अपने पति की मौत से बेखबर है। भले ही सूरज की मौत के कुछ सबूत कोटखाई थाना में उसकी हत्या के बाद मचे उत्पात की वजह से मिट चुके हों, लेकिन पुलिस ने यहां भी एक कहानी गढ़ दी है।

सीबीआई जांच शुरू

सीबीआई जांच शुरू

इस बीच हिमाचल हाई कोर्ट के आदेशों में तहत सीबीआई ने अपनी जांच शुरू करने के साथ ही चंडीगढ़ थाना में इसकी एफआईआर दर्ज की है। सीबीआई इसके साथ कोटखाई थाना में पुलिस हिरासत में मारे गये नेपाली मूल के सूरज की हत्या के मामले की भी जांच करेगी। सीबीआई का विशेष दल बीती शाम को ही शिमला पहुंच गया था। हालांकि शिमला में अभी भी लोगों का गुस्सा थमा नहीं है। प्रर्दशन के चलते नेशनल हाईवे पर यातायात ठप्प होकर रह गया है। जिससे लोगों उम्मीद जताई जा रही थी कि सीबीआई जांच शुरू होने के साथ लोगों का गुस्सा शांत होगा,लेकिन ऐसा कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा।

नए एसआईटी चीफ बने

नए एसआईटी चीफ बने

ठियोग में चल रहे प्रर्दश के साथ सीबीआई भी अपने काम में जुटी है। दोनों मामलों की जांच के लिये सीबीआई की ओर से बनाई गई एसआईटी कमान एसपी राम गोपाल को सौंपी गई है। संभावना जताई जा रही है कि सीबीआई की टीम शनिवार शाम तक कोटखाई में स्कूली छात्रा के परिजनों से बातचीत कर सकती है। खुद एसआईटी चीफ राम गोपाल कोटखाई रवाना हो रहे हैं। इससे पहले वह एसपी शिमला सौम्या संबाशिवन से मिलें हैं व स्थानीय पुलिस की मदद उन्होंने मांगी है। राम गोपाल अपनी टीम के साथ महासू व हलाईला और दांदी के जंगल में भी जायेंगे। साथ ही कोटखाई थाना भी जाने का कार्यक्रम है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
sp ram gopal will new sit chief in kotakhai gangrape and murder case
Please Wait while comments are loading...