• search
हिमाचल प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

बारिश से हुए नुकसान का जायजा लेने मंडी पहुंचे CM ठाकुर, कहा- 'इस मुश्किल घड़ी में सभी को साथ रहना चाहिए'

बारिश से हुए नुकसान का जायजा लेने मंडी पहुंचे CM ठाकुर, कहा- 'इस मुश्किल घड़ी में सभी को साथ रहना चाहिए'
Google Oneindia News

मंडी, 24 अगस्त: बारिश और बाढ़ से हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए बुधवार 24 अगस्त को प्रदेश के सीएम जय राम ठाकुर मंडी में अपने विधानसभा क्षेत्र के थुनाग इलाके का दौरा किया। इस दौरान सीएम जय राम ठाकुर पीड़ितों से मिले और कहा कि इस मुश्किल घड़ी में सभी को साथ रहना चाहिए। हम यथासंभव हर मदद करने की कोशिश करेंगे। बता दें कि सीएम ठाकुर ने दो दिन पहले गोहर, सयांज और काशनी का भी दौरा किया था।

CM Jairam Thakur visited the Mandi and took stock of the loss caused by rains and floods

सीएम जय राम ठाकुर बुधवार सुबह सरकारी अमले के साथ अपने विधानसभा क्षेत्र थुनाग पहुंचे। इस दौरान उन्होंने पैदल ही पूरे इलाके का दौरा किया। इस दौरान अधिकारियों के पसीने भी छूट गए। उन्होंने सराज विधानसभा क्षेत्र के थुनाग में बाढ़ प्रभावितों को संबोधित करते हुए कहा कि वे चिंता न करें, संकट की इस घड़ी में प्रदेश सरकार उनके साथ है। उन्हें सरकार की ओर से संभव सहायता मुहैया कराई जाएगी। सीएम ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति का जीवन बहुमूल्य है।

सीएम ठाकुर ने कहा कि आपदा प्रभावित क्षेत्रों में बचाव व पुनर्वास, क्षतिग्रस्त सड़कों की मुरम्मत, पेयजल व विद्युत की निर्बाध आपूर्ति, राशन, चिकित्सा जैसी मूलभूत सुविधाओं सुनिश्चित करने के लिए प्रदेश सरकार तत्परता से कार्य कर रही है। कहा कि क्षतिग्रस्त पैदल पुल, सड़कों आदि का मुरम्मत कार्य शीघ्र ही पूर्ण किया जाएगा। प्रदेश में इस मानसून में भारी बरसात की वजह से मरने वालों की तादाद 254 हो गई है। 89 सडकें अभी भी बंद हैं, जिनमें कुल्लू की 36, चंबा में 35 और मंडी की 12 सड़कें हैं। 86 बिजली ट्रांसफार्मर खराब हैं। तो 85 पेयजल योजनायें भी बंद हैं।

ये भी पढ़ें:- हिमाचल में आसमानी आफत से 32 लोगों की हुई मृत्यु, छह लापता और 12 घायलये भी पढ़ें:- हिमाचल में आसमानी आफत से 32 लोगों की हुई मृत्यु, छह लापता और 12 घायल

प्रदेश के कई इलाकों में बीती रात भी तेज बारिश हुई है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, अकेले मंडी जिला में 43 लोग की मृत्यु हो गई। जबकि शिमला में 40, चंबा में 33, कांगड़ा में 22 और कुल्लू 32 और सिरमौर में बीस उना में 20 भी बीस, सोलन में 12 हमीरपुर में 11, बिलासपुर में 11, किन्नौर में तीन और लहौल स्पिती में सात लोग मारे गये हैं। जिससे प्रदेश के कई परिवार उजड गये हैं।

Comments
English summary
CM Jairam Thakur visited the Mandi and took stock of the loss caused by rains and floods
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X