• search
छत्तीसगढ़ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

8 लाख के इनामी नक्सली सोढ़ी मुया ने सुकमा में किया छत्तीसगढ़ पुलिस को सरेंडर, जंगलों में करता था नेतृत्व

|
Google Oneindia News

सुकमा। छत्तीसगढ़ पुलिस को सुकमा में बड़ी कामयाबी मिली। यहां एक 8 लाख के इनामी नक्सली ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया। इस नक्सली का नाम सोढ़ी मुया है, जो​कि जंगली इलाके में नक्सलियों की अगुवाई करता था। वह न​क्सिलयों का नेतृत्व करने में माहिर है। सुकमा के एसपी सुनील शर्मा ने उसके आत्मसमर्पण करने की पुष्टि की है।

सुकमा के एसपी सुनील शर्मा ने कहा, "सोढ़ी मुया अब पुलिस के हाथ लग चुका है। उस पर लाखों रुपए का इनाम था। उसके आने से अब हमें नक्सलियों के काम करने का तरीका, पैसों के लेन-देन व उनके शहरी संपर्कों के बारे में जानकारी मिलेगी।"

Naxals surrender in Chhattisgarh

पिछले दिनों ही हुई थी मुठभेड़
सुकमा जिला छत्तीसगढ़ के सर्वाधिक नक्सल प्रभावित क्षेत्र में से है। यहां पिछले दिनों गोमपाड़ और कन्हैयागुड़ा के जंगलों में नक्सलियों की पुलिस से मुठभेड़ थी। पुलिस ने तब दो नक्सलियों को ढेर कर दिया था। मारे गए नक्सलियों में एक नक्सली पर पांच लाख रुपये का इनाम था। उसकी शिनाख्त नक्सली कमांडर कवासी हूंगा के रूप में हुई। हालांकि, दूसरे मृतक नक्सली की पहचान नहीं हो पाई। एक पुलिस अधिकारी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा, नक्स​लियों से हुए एनकाउंटर में सुरक्षाबलों को घटनास्थल से भारी मात्रा में हथियार, विस्फोटक एवं नक्सलियों की अन्य जरूरी चीजें बरामद हुई हैं।

Naxals surrender in Chhattisgarh
सुकमा जिले के एसपी सुनील शर्मा ने कहा, "घटनास्थल से नक्सली हूंगा व एक अन्य नक्सली का शव बरामद किया गया। दूसरे की पहचान नहीं हो पाई। उन्होंने कहा कि, मुठभेड़ में मारा गया नक्सली लोकल ऑब्जर्वेशन स्क्वायड (LOS) कमांडर कोंटा इलाके में सक्रिय रहा है।" सुकमा पुलिस के अनुसार, अगस्त के आखिरी हफ्ते में जवान ऑपरेशन को सफल कर लौटे।

सुरक्षाबलों और नक्सलियों की मुठभेड़ हुई, 5 लाख का इनामी कवासी हूंगा मारा गयासुरक्षाबलों और नक्सलियों की मुठभेड़ हुई, 5 लाख का इनामी कवासी हूंगा मारा गया

इन जंगलों में ज्यादा रहते हैं नक्सली
सुरक्षाबलों से ​मिली जानकारी के मुताबिक, सुकमा जिले के गोमपाड़ और कन्हैयागुड़ा के जंगलों में बड़ी संख्या में नक्सली मौजूद रहते हैं। पिछले दिनों जब
सुकमा पुलिस को उनकी लोकेशन के बारे में सूचना मिली तो उसी आधार पर डीआरजी, सीआरपीसी 217 बटालियन और कोबरा-202 बटालियन भेजी गई। उसके बाद एनकाउंटर हुआ।

English summary
Naxals surrender in Chhattisgarh, this man carried a cash prize of Rs 8 lakh
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X