• search
छत्तीसगढ़ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

छत्तीसगढ़: जैविक खाद को लेकर सियासत, भाजपा के किसान मोर्चा ने गोबर लेकर किया प्रदर्शन

|
Google Oneindia News

रायपुर, 23 मई। छत्तीसगढ़ में गोबर से बनी जैविक खाद को लेकर सियासत शुरू हो गई है। सोमवार को रायपुर में छत्तीसगढ़ भाजपा के किसान मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने हाथो में गोबर लेकर पैदल मार्च करते हुए जोरा स्थित सहकारी समिति के कार्यालय का घेराव किया ।

g

अपने प्रदर्शन के दौरान भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष गौरीशंकर श्रीवास ने सहकारी समिति के अफसरों पर भ्रष्टाचार करने का गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश में किसानों को घटिया किस्म की खाद दी जा रही है,जिसका सीधा असर किसानों की आय पर पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि हमने प्रशासन को ज्ञापन सौंपकर अपनी शिकायत सरकार तक पहुंचाई है,अगर इसपर कार्यवाही नहीं की गई,तो भाजपा बड़े पैमाने पर अपना आंदोलन आगे बढ़ाएगी।

इस दौरान गौरीशंकर श्रीवास ने दावा किया कि छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार किसान विरोधी नीतियां चला रही है। छत्तीसगढ़ भाजपा नेता ने कहा कि राज्य में किसान अपनी विभिन्न समस्याओं को लेकर परेशान है, राज्य में सैकड़ों किसान आत्महत्या कर चुके है,लेकिन कांग्रेस सरकार अपने आप में मस्त है। आगे भाजपा नेता ने कहा कि केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार किसानों को 625 रूपए प्रति क्विंटल यूरिया खाद उपलब्ध करवा रही है। वहीं राज्य में किसानों को प्रति एकड़ 3 बोरी ख़राब खाद रेत, मिट्टी मिली गोबर खाद लेने के लिए बाध्य किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें यह रील लाइफ की नहीं, रियल लाइफ की हीरोइन है, मिलिए छत्तीसगढ़ की पहली महिला IPS अंकिता शर्मा से

(1 ) छत्तीसगढ़ के सभी किसानों को प्रति एकड़ 3 बोरी गोबर खाद खरीदी की बाध्यता खत्म की जाये।

(2) छत्तीसगढ़ राजीव गांधी न्याय योजना के आखरी किस्त की राशि में 30 से 50 फीसदी तक की कटौती करते हुए लगभग 470 करोड़ की राशि किसानों को कम जारी की गई है। इस अंतर की राशि को तुरंत किसानों को जारी किया जावे।
(3) सरकार ने किसानों से फसल का हर दाना धान खरीदने वादा किया गया था। छत्तीसगढ़ में रवि की फसल पर्याप्त मात्रा में होने के कारण
(4) राज्य में किसानों के रवि फसल की खरीदी 2500 रूपए प्रति क्विंटल में तुरंत प्रारंभ किया जावे।
(6) कांग्रेस के जनघोषणा पत्र में रमन सरकार के कार्यकाल के दौरान के 2 सालों के धान बोनस देने का वादा किया था। लेकिन आज साढ़े 3 वर्ष से ज्यादा हो गए है बकाया बोनस की राशि तुरंत किसानों को जारी की जाये ।

(7) हर साल गिरदावरी के नाम पर किसानों के रकबे में लगातार कटौती हो रही है। खेत में रकबा कम किया जा रहा है, जिससे पूरे राज्य के किसान आक्रोशित है। किसानो से पूरे खेतीहर रकबे का 15 क्विंटल के हिसाब से धान की खरीदी किया जानी चाहिए ।

कांग्रेस ने दिया जवाब

इधर भाजपा के आरोपों पर छत्तीसगढ़ कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि बीजेपी जैविक खाद का विरोध करके खुद अपने नेता प्रधानमंत्री के नारे लोकल फॉर वोकल के नारे का विरोध कर रही है। पीएम मोदी लोकल उत्पादों को बढ़ावा देने की बात करते है। छत्तीसगढ़ में उनके दल के नेता छत्तीसगढ़ के लोकल स्तर पर उत्पादित किये गये वर्मी कंपोस्ट का विरोध कर रहे है। बीजेपी का वर्मी कंपोस्ट का विरोध रासायनिक खादों के उत्पादों के एजेंट के जैसा आचरण है।

छत्तीसगढ़ कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि वर्मी कंपोस्ट लेने की अनिवार्यता के आदेश नहीं है ,बल्कि छत्तीसगढ़ भर में वर्मी कंपोस्ट के उपयोग के लिये किसानों को प्रोत्साहित करने की योजना पर काम किया जा रहा है ताकि प्रदेश के किसानों की उर्वरकों पर निर्भरता कम हो सके। किसान जब उपयोग करेंगे, तभी जैविक खाद के लाभ को महसूस करेंगे। जिस तरह से लगातार रासायनिक उर्वरकों की कमी हो रही है, आने वाले समय में यही जैविक खाद किसानों का बड़ा सहारा बनेगी।

Comments
English summary
Chhattisgarh: Politics over organic manure, BJP's Kisan Morcha demonstrated with cow dung
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X