सस्ते कर्ज की उम्मीदों को झटका, रिजर्व बैंक ने नहीं किया ब्याज दरों में बदलाव

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने साल के आखिरी मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक में लोगों को राहत नहीं दी। आरबीआई ने ब्याज दरों में कटौती नहीं की।  रिजर्व बैंक की छह सदस्यीय मौद्रिक नीति समिति ने दरों में कोई बदलाव नहीं किया। आरबीआई के इस फैसले से लोगों के सस्ते कर्ज की उम्मीद खत्म हो गई।

 Policy repo rate under liquidity adjustment facility (LAF) unchanged at 6.0 per cent:RBI

आरबीआई ने मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक में जीडीपी ग्रोथ की दरों को बरकरार रखा और इसे 6.7% पर ही कायम रखा। रिजर्व बैंक ने तीसरी तिमाही में महंगाई दर 4.3 से 4.7 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया है। आरबीआई ने रेपो रेट 6 प्रतिशत और रिवर्स रेपो रेट को 5.75 प्रतिशत पर बरकरार रखा।

आरबीआई ने मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक में जीडीपी ग्रोथ की दरों को बरकरार रखा और इसे 6.7% पर ही कायम रखा। रिजर्व बैंक ने तीसरी तिमाही में महंगाई दर 4.3 से 4.7 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया है। आरबीआई ने रेपो रेट 6 प्रतिशत और रिवर्स रेपो रेट को 5.75 प्रतिशत पर बरकरार रखा।

समीक्षा बैठक में आरबीआई ने रेपो और रुवर्स रेपो रेट के साथ-साथ मार्जनल स्टैंडिंग फैसिलिटी को भी बरकरार रखा है। आबीआई ने एमएसएफ को 6.25 प्रतिशत पर बरकरार रखा है। इस बैठक में आरबीआई ने अनुमान जताया है कि आने वाले साल में जीडीपी 6.7 प्रतिशत की दर से बढ़ सकती है। वहीं तीसरी तिमाही में महंगाई दर 4.3 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Policy repo rate under liquidity adjustment facility (LAF) unchanged at 6.0 per cent.Consequently, reverse repo rate under the LAF remains at 5.75 per cent and marginal standing facility (MSF) rate and the Bank Rate at 6.25 per cent
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.