• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

21 फरवरी को मोदी सरकार देने जा रही है ये बड़ा तोहफा, 6 करोड़ लोगों को होगा लाभ

|

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार 6 करोड़ लोगों को बड़ा तोहफा देने जा रही है। सरकार पीएफ खाताधारकों को बड़ी राहत दे सकती है। माना जा रहा है कि ब्याज दरों में कमी के बावजूद सरकार पीएफ के ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं कर सकती है और ये दरें 8.55% पर बनी रह सकती है। माना जा रहा है कि सीबीटी की बैठक में ब्याज दर में बढ़ोतरी की संभावना है या मौजूदा दर को ही स्थिर रखा जाए। जिसका फायदा 6 करोड़ पीएफ अंशधारकों को होगा।

21 फरवरी को मिलेगा तोहफा

21 फरवरी को मिलेगा तोहफा

माना जा रहा है कि 21 फरवरी को सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टी की बैठक होनी है। इस बैठक में सरकार न्यूनतम पेंशन बढ़ाने पर विचार कर सकती है। उम्मीद है कि सरकार न्यूनतम पेंशन को बढ़ाकर दोगुनी कर सकती है। अगर ऐसा होता है कि ईपीएफओ के पेंशन स्कीम के करीब 50 लाख सब्सक्राइबर्स को इसका लाभ मिलेगा।

PF खाताधारकों के लिए अच्छी खबर

PF खाताधारकों के लिए अच्छी खबर

इतना ही नहीं सीबीटी की बैठक से पहले FIAC क बैठक होनी है, जिसमें साफ हो जाएगा कि PF पर ब्याज दर कितनी रहेगी। इसमें बदलाव की उम्मीद बहुत कम है और इसे मौजूदा दर 8.55% पर बनाए रखा जा सकता है। अगर ऐसा होता है कि 6 करोड़ पीएफ अंशधारकों को इसका लाभ होगा। उम्मीद है कि मोदी सरकार कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के वित्त वर्ष 2018-19 के लिए प्रॉविडेंट फंड (PF) पर ब्याज दर में इजाफा कर सकती है। 21 फरवरी को होने वाली सीबीटी की बैठक में पीएफ पर ब्याज दर को बरकरार रखने या बढ़ाने का प्रस्‍ताव आ सकता है।

 कितना है पीएफ पर मौजूदा ब्याज दर

कितना है पीएफ पर मौजूदा ब्याज दर

आपको बता दें कि मौजूदा वक्त में सरकार 8.55 फीसदी ब्याज दर से पीएफ पर ब्याज दे रही है। हालांकि इसकी उम्मीद बेहद कम है कि इसे बढ़ाया जा सकता है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इसे मौजूदा दर पर ही बनाए रखा जाएगा। गौरतलब है कि श्रम मंत्रालय की अगुवाई में सीबीटी की बैठक होनी है। यह बॉडी ही पीएफ पर ब्याज दर की सिफारिश करती है। अगर सीबीटी की सिफारिश पर मुहर लगती है तो लगभग 6 करोड़ पीएफ अकाउंट होल्डर्स को फायदा मिलेगा। आपको बता दें कि इस वक्त 8.55 प्रतिशत की दर से ब्याज दर मिल रहा है। इससे पहले 2016-17 में 8.65 फीसदी और 2015-16 में 8.8 फीसदी का ब्याज मिल रहा था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
It has been reported that Employees' Provident Fund Organisation (EPFO) may keep the interest rate on EPF unchanged at at 8.55%.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X