चार पैरों वाले बच्चे ने लिया जन्म, भगवान विष्णु का अवतार समझ कर लोग करने लगे पूजा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

पटना। बिहार के लखीसराय जिले के सदर अस्पताल में उस वक्त लोगों की भीड़ जमा हो गई जब एक महिला ने चार पैर वाले बच्चे को जन्म दिया। जैसे ही बच्चा अपनी मां के गर्भ से बाहर निकला वहां उपस्थित डॉक्टर और नर्स उसे देखकर एकबार डर गए। बच्चे की रोने की आवाज सुनकर उसे देखने के लिए अस्पताल में उपस्थित सभी लोग वहां पहुंचे जिससे काफी भीड़ जमा हो गई।

भगवान विष्णु का अवतार बताया

भगवान विष्णु का अवतार बताया

देखते ही देखते हैं उसी भीड़ मे किसी ने उसे भगवान विष्णु का अवतार बताया। फिर क्या था लोग उसकी पूजा आरती करने लगे। हांलकि जन्म से ही कमजोर बच्चा को डॉक्टरों ने परिजनों के कहने पर एससीएनयू वार्ड में ऑक्सीजन पर रखा । जहां उसकी इलाज चल रही थी। पर इस बात की जानकारी जिस किसी को भी मिली वह वहां पहुंच कर उसे देखने के लिए भीड़ लगाये हुऐ थे। हालांकि जन्म के 2 घंटे बाद उसकी मृत्यु हो गई।

2 घंटे बाद ही मर गया बच्चा

2 घंटे बाद ही मर गया बच्चा

यह मामला बिहार के लखीसराय जिले के पचाम गांव का है। गांव के रहने वाले रेश साहिल की पत्नी सविता को प्रसव पीड़ा के बाद शनिवार देर रात सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे जल्द ही मां बनने की बात बताई। जिसे सुनने के बाद घर के सभी सदस्य काफी खुश थे। पर सभी की खुशी उस वक्त गम में बदल गई जब इस बच्चे ने जन्म लिया। हालांकि बच्चे को देखने के बाद भी उसके परिवार वाले हार नहीं मानी और उसके इलाज के लिए उसे ऑक्सीजन वार्ड में भर्ती करवाया। लेकिन बच्चा 2 घंटे से ज्यादा जीवित नहीं रह सका। हालांकि बच्चे की मां की हालात बिल्कुल स्वस्थ है।

क्या कहना है डॉक्टर का?

क्या कहना है डॉक्टर का?

वही मामले की जानकारी देते हुए सदर अस्पताल के उपाधीक्षक मुकेश कुमार ने बताया कि विचित्र बच्चे के जन्म लेने का कारण गर्भासय के विकसित नहीं होने का है। जिसके वजह से बच्चा गर्भ मे पूरी तरह डेवलप नहीं हो पाया और जन्म लेने के कुछ घंटे बाद ही उसकी मृत्यु हो गई।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
a baby born with four legs in lakhisarai, bihar
Please Wait while comments are loading...