चचेरे भाई के साथ संबंध बनाती थी पत्नी, रोकने के लिए बन गया 'आतंकवादी'

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मऊ। यूपी एटीएस और जीआरपी ने संयुक्त ऑपरेशन कर उत्तर प्रदेश में मऊ रेलवे स्टेशन को बम से उड़ने की धमकी देने वाले शख्स को गिरफ्तार किया है। शख्स ने 15 अगस्त से दो दिन पहले मऊ रेलवे स्टेशन को बम से उड़ाने की धमकी दी थी। जिसके बाद से ही रेलवे के साथ साथ आईबी की भी नींद हराम हो गयी थी की कहीं कोई आतंकी संगठन अचानक से उत्तर प्रदेश में सक्रिय तो नहीं हो गया हैं। लेकिन जब एसटीएफ और जीआरपी ने मामले का खुलासा किया तो कुछ और ही सच सामने आया। पकड़े गए आरोपी ने पुलिस के सामने कबूल किया हैं कि उसने अपने चचेरे भाई को फंसाने के लिए उसकी आईडी से एक सि‍म खरीदा और लखनऊ जीआरपी के एडि‍शनल डीजीपी को कॉल कर धमकी दी।

चचेरे भाई के संबंध बनाती थी पत्नी, रोकने के लिए बन गया 'आतंकवादी'

मेरी पत्नी को ब्लैकमेल कर बनाता था संबंध

पुलिस की गिरफ्त में आये राजेश पटेल और अरविंद चचेरे भाई हैं। धमकी देने वाले राजेश ने बताया, पि‍छले दो साल से अरविंद ने मेरी वैवाहिक जीवन खराब करके रख दिया था। शुरू में वह मेरे सामने ही मेरी पत्नी को अंडरगार्मेंट्स गिफ्ट देता था। धीरे-धीरे अफेयर शुरू हो गया और दोनों के बीच अवैध संबध बन गए। मैंने इसका व‍िरोध किया तो पत्नी मान गई और दोबार ऐसा न करने की बात कही, लेकिन अरविंद उसे ब्लैकमेल करने लगा। इसके बाद मेरी पत्नी मजबूर होकर उससे र‍िलेशन बनाती रही। पत्नी को इस नर्क से न‍िकालने के लिए एक साल पहले मैंने अरविंद को सबक सिखाने का प्लान बनाया। वह फर्जी सिम बेचता था, इसकी वजह से वह एक बार जेल भी जा चुका है। मैंने उसकी आईडी पर ही एक सिम उसी से खरीदा। मैंने सोचा था कि अगर उसकी आईडी के सिम से कुछ गलत काम करता हूं तो वही पकड़ा जाएगा। मैंने इंटरनेट से लखनऊ जीआरपी के एडि‍शनल डीजीपी का नंबर निकाला और उर्दू के शब्दों को इस्तेमाल करते हुए मऊ रेलवे स्टेशन को बम से उड़ाने की धमकी दी। फोन पर मैंने कहा, ''हैलो, सलाम वालेकुम... दो दिन बाद मऊ स्टेशन को उड़ा दूंगा... रोक सको तो रोक लो।''

दोनों आरोपी गए जेल

वही इस पुरे मामले पर मिडिया से बात करते हुए जीआरपी के एसपी डॉ. धर्मवीर सिंह ने बताया कि धमकी देने वाला अरविंद कुमार और राजेश पटेल चचेरे भाई हैं। दोनों के बीच पुरानी रंजिश पिछले दो साल से चल रही है। अरविंद को फंसाने के लिए ही एडि‍शनल डीजीपी जीआरपी लखनऊ के नंबर पर फोन करके धमकी दी थी। राजेश फर्जी सि‍म भी बेचने का काम करता है। दोनों आरोपियों को जेल भेज दिया गया है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
police arrested a man who give therat to blast mau railway station
Please Wait while comments are loading...