अहमदाबाद के बाद काशी है बुलेट ट्रेन की कतार में, 43 हजार करोड़ कर देगा स्मार्ट

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

वाराणसी। भले ही आज मोदी और शिंजो आबे ने देश को पहली बुलेट ट्रेन की सौगात दी हो लेकिन बुलेट के मामले में पीएम मोदी की काशी भी पीछे नहीं है। गुजरात के बाद काशी ही वो दूसरा शहर होगा जहां दिल्ली से वाराणसी के बीच दूसरी बुलेट ट्रेन दौड़ेगी। दोनों शहरों के बीच 782 किलोमीटर की दूरी ये ट्रेन महज ढाई घंटे में तय करेगी। जिसके लिए अभी करीब 10 से लेकर 15 घंटे का समय लगता है। दिल्ली-वाराणसी रूट की कॉस्ट 43,000 करोड़ रुपए मानी जा रही है। तो दिल्ली-कोलकाता रूट की कॉस्ट 84,000 करोड़ रुपए होगी। हालांकि, रेलवे सूत्रों का कहना है कि इसकी फाइनल कॉस्ट पूरी स्टडी के बाद ही बताई जा सकती है। रेलवे अफसरों का कहना है कि इस रूट पर डबलडेकर हाई स्पीड ट्रेन की संभावना को भी तलाशा जा रहा है।

Read also: Ryan School के ड्राइवर ने फिर की लापरवाही, स्कूल बस की टक्कर

Modi with Shinzo, Bullet train Project will start in Varanasi after Ahmedabad

मोदी की काशी होने से मिला ये मौका

सूत्रों की माने तो अहमदाबाद से मुंबई के बाद काशी को बुलेट ट्रेन की सौगात मिलने के पीछे सबसे बड़ी वजह प्रधानमंत्री संसदीय क्षेत्र माना जा रहा है। आज पीएम ने अहमदाबाद से मुंबई के बीच जापानी पीएम शिंजो आबे के साथ मिलकर अपने ड्रीम प्रोजेक्ट की शुरुआत कर दी है। वहीं बीते दिनों तत्कालीन मंत्री ने कहा था की देश को पहली बुलेट ट्रेन 2023 में दे दी जाएगी। शायद यही वजह है कि इस योजना की नींव आज दोनों देशों के प्रधानमंत्री ने मिलकर रख दी है। क्योंकि आज पीएम मोदी ने भी अपने संबोधन में यही कहा की देश को ये ट्रेन 2022-23 के बीच सौंप दी जाएगी। अहमदाबाद-मुंबई की तरह ही काशी को देश की राजधानी से जोड़ने वाली ये बुलेट ट्रेन भी अति महत्वपूर्ण है। तो वहीं दिल्ली से वाराणसी रूट, दिल्ली से कलकत्ता कॉरिडोर का ही हिस्सा होगा।

Modi with Shinzo, Bullet train Project will start in Varanasi after Ahmedabad

इन शहरों को मिलेगा लाभ

अहमदाबाद और मुंबई की तरह ही दिल्ली से वाराणसी सहित कलकत्ता जाने वाली बुलेट ट्रेन जिस दिन सपनों से हकीकत में बदलेगी उस दिन वाराणसी और कलकत्ता ही नहीं बल्कि अलीगढ़, आगरा, कानपुर, लखनऊ और सुल्तानपुर, जौनपुर के आलावा बिहार के पटना या फिर गया सहित कई जिलों को इसका लाख मिलेगा। यानि जब ये तेज रफ्तार की ट्रेन दौड़ेगी तो दिल्ली से लखनऊ की 506 किमी. की दूरी महज 1 घंटे 45 मिनट में तय की जा सकेगी तो वहीं दिल्ली से वाराणसी की 782 किमी की दूरी सिर्फ 2 घंटे 40 मिनट में पूरी हो जाएगी। इसके अलावा दिल्ली-कोलकाता का 1513 किमी का सफर 4 घंटे 56 मिनट में तय होगा और जो भी अप ट्रेन जिस रूट से होगी उसके आने वाले गंतव्य तक ऐसे ही समय कम लगता जाएगा।

Read more: भारत को मुफ्त में मिल रही बुलेट ट्रेन, पीएम मोदी ने समझाया पूरा गणित

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Modi with Shinzo, Bullet train Project will start in Varanasi after Ahmedabad
Please Wait while comments are loading...