अखिलेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट पर किसानों ने विरोध में चलाया ट्रैक्टर, नहीं देना चाहते जमीन

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

उन्नाव। अखिलेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट ट्रांस गंगा सिटी के लिए यूपीएसआईडीसी द्वारा अधिग्रहित की गई जमीन पर किसानों ने ट्रैक्टर चलाकर अपने कब्जे में लेने का कोशिश की। 1151 एकड़ जमीन पर बसी ट्रांस गंगा सिटी का मामला पिछले कई सालों से विवादों में रहा है। तत्कालीन कमिश्नर के आदेश को सामने रखते हुए किसानों ने जिला प्रशासन और शासन से मांग की है कि उनकी जमीनों को वापस कर दिया जाए। इस संबंध में किसानों ने गुलाबी गैंग की महिला सदस्यों के सहयोग से जिला प्रशासन का घेराव कर अपनी बात रखने का प्रयास किया। लेकिन डीएम के प्रतिनिधि के रूप में सिटी मजिस्ट्रेट ने ज्ञापन लेकर किसानों को चलता कर दिया।

किसानों ने पहले ही किया था ऐलान

किसानों ने पहले ही किया था ऐलान

किसानों का मानना है कि प्रशासन उनकी बात को गंभीरता से नहीं ले रहा है। किसानों ने जिला प्रशासन को चेतावनी दी थी कि 2 अक्टूबर को हल चलाकर किसान अपनी जमीन को वापस ले लेंगे। जिसको देखते हुए जिला प्रशासन ने मौके पर कई थानों की पुलिस भेज दी थी। इसके साथ ही पीएसी और फायर ब्रिगेड की गाड़ियां भी मौके पर मुस्तैद रही। लेकिन किसानों द्वारा ट्रैक्टर चलाने के दौरान प्रशासनिक अमला मूक दर्शक की भांति मौजूद रहा। किसानों ने जिला प्रशासन को लिखित ज्ञापन देकर बताया था कि आगामी 2 अक्टूबर को ट्रांस गंगा सिटी के लिए अधिग्रहित की गई जमीन पर किसान ट्रैक्टर से जुताई कराकर अपने कब्जे में ले लेंगे।

गुलाबी गैंग भी गया है अड़

गुलाबी गैंग भी गया है अड़

इसी क्रम में आज हजारों की संख्या में किसानों ने मौके पर पहुंचकर प्रदर्शन किया। लगभग सैकड़ों ट्रैक्टर के माध्यम से उन्होंने खाली पड़ी जमीन को जोतकर कब्जे में लेने का कोशिश की। किसानों के पक्ष में गुलाबी गैंग के मुखिया संपत पाल ने कहा कि किसान अपने आप को अकेला ना समझे। वो और उनके गैंग के सदस्य हमेशा उनके साथ है। गुलाबी गैंग की महिला सदस्य गुलाबी साड़ी पहनकर बड़े ही जोश के साथ नारेबाजी करते हुए अपनी उपस्थिति का एहसास कराती हैं।

SDM ने कहा शिकायत आने पर कार्रवाई होगी

SDM ने कहा शिकायत आने पर कार्रवाई होगी

जिला प्रशासन ने भी किसानों को चेतावनी देते हुए कई थानों की पुलिस मौके पर भेज दी। इस मौके पर पीएसी और फायर ब्रिगेड की गाड़ियां भी मौके पर मौजूद थी। किसानों द्वारा ट्रैक्टर से जुताई के समय प्रशासन दर्शक की भांति मौके पर मौजूद रहा। इस संबंध में बातचीत करने पर उप जिलाधिकारी ने बताया कि प्रशासन पूरी तरह तैयार है। यदि यूपीएसआईडीसी की तरफ से कोई शिकायत आती है तो किसानों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Read more:बलिया में बवाल के बाद कर्फ्यू हटने के बाद भी पसरा है सन्नाटा, तस्वीरें

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Farmers Protest against Akhilesh Dream Project in Unnao
Please Wait while comments are loading...