• search
उत्तर प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

नाबालिग को 9 माह बाद भी नहीं मिला इंसाफ, दबंगों के डर से घर से बाहर निकलना भी हुआ मुश्किल

|

इटावा। उत्तर प्रदेश में इटावा के थाना सहसो क्षेत्र में दबंगों की धौंस के चलते नाबालिग रेप पीड़िता की जिंदगी कैद में कट रही है। रेप केस के 9 माह बाद भी उसे इंसाफ नहीं मिल सका है। पढ़ाई जारी रखना तो दूर, वह घर से बाहर भी नहीं निकल पाती है। जबकि, दबंग आरोपी खुले घूम रहे हैं और उल्टे पीड़िता के पिता को ही जेल कराने पर तुले हैं।

etawah-girl-victim

कैद में नाबालिग रेप विक्टिम!

दुष्कर्म का यह मामला फरवरी का है, जब पिपरौली गढिया में रहने वाली 12वी की नाबालिग छात्रा को रात घर में सोते समय गांव के ही युवक ने हवश का शिकार बनाया था। छात्रा के चिल्लाने के बाद जागे पिता ने पुलिस को शिकायत की। जिसके बाद सिपाही आरोपी को पकड़ ले गए। लेकिन अगले ही दिन जब रेप पीड़िता के पिता ने आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म का केस दर्ज कर एक्शन लिए जाने की गुहार लगाई तो सिपाहियों ने पीड़िता के पिता को ही धमकाया। पुलिस ने थाने में आरोपी पर बलात्कार की धाराओं में मुकदमा भी दर्ज नहीं किया। उधर, पीड़िता के पिता को ही अवैध तमंचा रखने के झूठे आरोप में जेल में ठूंसने की धमकी दे डालीं। उन पर रेप के आरोपी से समझौता का दबाब बनाया। इस केस में अब तक पीड़ित पक्ष को इंसाफ नहीं मिला है।

 इटावा,उत्तर प्रदेश में अपराध, यूपी, उत्तर प्रदेश पुलिस, Etawah, crime in Uttar Pradesh, Uttar Pradesh police, शारीरिक शोषण, बलात्कारी, यूपी में दरिंदगी, दरिंदगी, criminal, crime, Uttar Pradesh

दबंगों के आतंक से तंग आकर पीड़िता ने पढाई छोडकर अपने आपको कमरे में कैद कर लिया है। पीड़िता को घर के कमरे में कैद हुए 9 महीने से ज्यादा हो चुके हैं। पीड़िता के साथ हुई बलात्कार की घटना के बाद से घबराकर पीड़िता समेत उसकी बहन ने भी पढ़ाई बंद कर दी है। पीड़िता के परिजन 9 महीने से पुलिस अधिकारियों के चक्कर लगा-लगाकर थक चुके हैं और अब मजबूरी में गाँव से पलायन करने का भी मन चुके हैं।

etawah-girl-victim

डीजीपी से शिकायत की तो हुआ केस दर्ज

पुलिस थाने से निराशा हाथ लगने के बाद पीड़िता के पिता ने मामले की शिकायत डीजीपी से की। डीजीपी के दखल से दबाव में आई स्थानीय पुलिस ने बलात्कार के मामले को मामूली मारपीट की धाराओं में दर्ज कर लिया। वहीं पुलिस की कार्यवाही का दबाव बनता देख दबंग आरोपित बौखला उठे। दबंगों ने फिर ​पीड़िता की बहन पर भी फब्तियां कसनी शुरू कर दीं। जिसके चलते रेप पीड़िता और उसकी बहन ने पढ़ाई-लिखाई छोड़ दी। अपने आपको घर की चार दीवारी के अंदर ही कैद कर लिया। पिछले 9 महीने से वे घर से बाहर निकलने में डरती हैं।

Read: बीवी के अवैध रिश्ते के वहम में पति ने छुरी से किया 3 माह की मासूम पर हमला, घर में आग लगाई

कैमरे के सामने कुछ नहीं बोले एसएसपी

वहीं, जब पत्रकारों ने एसएसपी अशोक कुमार त्रिपाठी से इस मामले पर सफाई मांगी तो उन्होंने कैमरे पर कुछ भी बोलने से साफ इनकार कर दिया। ऑफ कैमरा उन्होंने कहा कि मामला पुराना है। हमारे समय का नही हैं, लेकिन फिर भी पीड़ित परिजन से मिलकर उनकी बात सुनी जाएगी।

साइको किलर सुनील ने 9 मासूमों का दुष्कर्म और हत्या कुबूली, ग्वालियर में मिलीं 5 साल पहले मारी गई बच्ची की अस्थियां

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
etawah minor girl, a victim who physically exploited by neighbour criminal
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X