गोरखपुर: BRD मेडिकल कॉलेज में 33 हुई मौतों की संख्या, अब लाए जा रहे हैं ऑक्सीजन के सिलिंडर

Subscribe to Oneindia Hindi

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृहजनपद स्थित बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज में बीते 5 दिनों के भीतर 60 बच्चे मौत के मुंह में समा गए। इतना ही नहीं अकेले 11 अगस्त को 33 बच्चों की मौत हो गई। इस घटना की जांच के लिए प्रदेश सरकार मजेस्ट्रेटी जांच के आदेश दिए हैं। परिजन आरोप लगा रहे हैं कि इतनी बड़ी संख्या में मौते इन्फेंक्शन और पीडीऐट्रिक्स वार्ड ( बालचिकित्सा) में ऑक्सीजन की सप्लाई रुकने के चलते हुईं। हालांकि अस्पताल प्रशासन और जिला प्रशासन ने ऑक्सीजन की कमी के आरोप को खारिज कर दिया।  

गोरखपुर: BRD मेडिकल कॉलेज में मौत की संख्या बढ़ी, प्रशासन अब मंगा रहा ऑक्सीजन
Gorakhpur BRD Medical College में अब तक 6 दिन में 63 मौत । वनइंडिया हिंदी

बता दें कि दो दिन पहले ही मुख्यमंत्री आदित्यनाथ मेडिकल कॉलेज आए थे और पीडीऐट्रिक्स वार्ड का निरीक्षण किया था। आदित्यनाथ ने इस दौरान 10 बेडों पाला आईसीयू, 6 बेड के CCU का उद्घाटन किया था। इस दौरान योगी ने जापानी इंसेफेलाइटिस वायरस और एक्यूट एंसेफ़ेलाइटिस सिंड्रोम यानी एईएस से पीड़ित बच्चों के वार्ड का निरीक्षण भी किया था।

शुक्रवार को बीआरडी मेडिकल कॉलेज की ओर से 60 मौतों की जानकारी मुहैया कराई गई। अस्पताल प्रशासन की ओर से कहा गया है कि 7 अगस्त से लेकर अब तक जो 60 मौतें हुईं हैं जिनकी वजह ऑक्सीजन की कमी नहीं है। अस्पताल प्रशासन के अनुसार 7 अगस्त को कुल 9 मौत हुई जिसमें नियोनेटल इंटेंसिव केयर यूनिट (एनआईसीयू) के चलते 4, एईएस से 2 और गैर एईएस से 3 मौतें हुईं।

गोरखपुर: BRD मेडिकल कॉलेज में मौत की संख्या बढ़ी, प्रशासन अब मंगा रहा ऑक्सीजन

ये है अस्पताल का दावा

वहीं 8 अगस्त को कुल 12 मौतें हुईं जिसमें 7 एनआईसीयू, 3 एईएस,और 2 गैर एईएस मौत हुई। वहीं 9 अगस्त को कुल 9 मौत हुई, जिसमें 6 एनआईसीयू, 2 एईएस और 1 गैर एईएस मौत हुई। 10 अगस्त को मौतों की संख्या 23 पहुंच गई जिसमें14 एनआईसीयू, 3 एईएस और 6 गैर एईएस मौत हुई। वहीं 11 अगस्त को 7 मौतें हुई थी जिसमें 3 एनसीआईयू, 2 एईएस और 2 गैर एईएस मौत हुई थी। योगी सरकार का कहना है कि मौत 32 बच्चों की नहीं बल्कि सिर्फ 7 मौतें हुई हैं।

सरकार का दावा है कि कि किसी भी बच्चे की मौत ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई। हालांकि अब अस्पताल प्रशासन की ओर से ऑक्सजीन की ओर से मंगाया जा रहा है। इस मसले पर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि मामले की जांच की जाएगी और कदम उठाया जाएगा। उन्होंने कहा कि विपक्ष इस पर राजनीति ना करें। सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि आज गोरखपुर जाएंगे। 

ये भी पढ़ें: BRD: ऑक्सीजन मसले पर इस चिट्ठी ने खोल दी योगी सरकार की पोल

इसके साथ ही कांग्रेस नेता राजबब्बर और राज्यसभा में नेता विपक्ष गुलाम नबी आजाद भी BRD मेडिकल कॉलेज पहुंचे और हालात का जायजा लिया।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
death of childrens in BRD Medical college at gorakhpur uttar pradesh,home district of cm yogi adityanath
Please Wait while comments are loading...