• search
उन्नाव न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

शादी के सात साल तक नहीं हुई औलाद तो घरवालों की जिद ने पति-पत्नी को मौत के मुंह में पहुंचाया

|

Unnao news, उन्नाव। यूपी के उन्नाव में एक पति-पत्नी ने जिंदगी खत्म करने का दुखद फैसला लिया। शादी के कई साल बाद भी संतान का सुख नहीं मिला। परिवारवाले युवक पर पत्नी से तलाक लेने का दबाव बना रहे थे। दबाव इतना बढ़ गया कि पति ने तलाक देने की जगह पत्नी के साथ मरने का फैसला कर लिया और घर से बाहर निकल कर जहरीला पदार्थ खा लिया। इसके पहले उन्होंने मोबाइल पर जहरीला पदार्थ खाने की जानकारी परिवारजनों को दे दी थी। परिवार वाले बार-बार फोन करके जहरीला पदार्थ खाने के लिए मना रहे थे। लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। मौके पर पहुंचे परिवारवालों ने आनन-फानन में स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में दोनों को भर्ती कराया। जहां उपचार के दौरान पत्नी की मौत हो गई और पति की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है।

husband wife ate poison after family tortured for talaq

सोहरामऊ थाना क्षेत्र की घटना

घटना सोहरामऊ थाना क्षेत्र के बजेहरा गांव की है। लखनऊ के वजीरगंज थाना क्षेत्र के गोला गंज निवासी रजा हुसैन उर्फ विक्की पुत्र निसार ने अपनी पत्नी नाजिया फातिमा 34 के साथ जहरीला पदार्थ खा लिया। घटनास्थल पर मोटरसाइकिल भी पड़ी हुई थी। घटना की जानकारी मिलते ही आनन-फानन रजा हुसैन और नाजिया को नवाबगंज स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। जहां उपचार के दौरान नाजिया की मौत हो गई। वहीं रजा हुसैन की गंभीर स्थिति को देखते हुए जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।

इस संबंध में बातचीत करने पर थाना अध्यक्ष सोहरामऊ ने बताया कि रजा हुसैन हालत गंभीर है। उसका उपचार अस्पताल में चल रहा है। बताया जाता है रजा हुसैन की शादी के लगभग 7 साल हो गए थे। लेकिन कोई संतान नहीं हुई थी जिसके बाद रजा हुसैन के परिवारजन उस पर पत्नी नाजिया को तलाक देने का दबाव बना रहे थे। लेकिन रजा हुसैन में तलाक देने से इनकार कर दिया। दबाव बढ़ता देख उसने घातक कदम उठा लिया।

ये भी पढ़ें-संतान की उम्मीद में 82 साल का बुजुर्ग ले आया 40 साल की दुल्हन, शहर में हुआ चर्चित

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

उन्नाव की जंग, आंकड़ों की जुबानी
वर्ष
प्रत्याशी का नाम पार्टी स्‍थान वोट वोट दर मार्जिन
2014
स्वामी सच्चिदानंद हरि साक्षी भाजपा विजेता 5,18,834 43% 3,10,173
अरुण शंकर शुक्ला समाजवादी उपविजेता 2,08,661 17% 0
2009
अन्नू टंडन कांग्रेस विजेता 4,75,476 53% 3,02,092
अरुण शंकर शुक्ला बीएसपी उपविजेता 1,73,384 19% 0
2004
ब्रजेश पाठक बीएसपी विजेता 1,78,366 33% 17,761
दीपक कुमार समाजवादी उपविजेता 1,60,605 29% 0
1999
दीपक कुमार समाजवादी विजेता 2,07,242 35% 37,775
मोहम्मद मोइन बीएसपी उपविजेता 1,69,467 29% 0
1998
देवी बक्स भाजपा विजेता 2,08,077 33% 8,129
दीपक कुमार समाजवादी उपविजेता 1,99,948 32% 0
1996
देवी बक्स भाजपा विजेता 1,67,301 35% 45,656
पी. वाजीउरहमान सफ़वी उर्फ ​​वाजी मियान बीएसपी उपविजेता 1,21,645 25% 0
1991
देवी बक्स सिंह भाजपा विजेता 1,19,227 28% 18,949
ज़ियाउरहमान कांग्रेस उपविजेता 1,00,278 23% 0
1989
अनवर अहमद जेडी विजेता 1,45,029 32% 29,365
जियाउर्रहमान अंसारी कांग्रेस उपविजेता 1,15,664 26% 0
1984
ज़ियाउरहमान अंसारी कांग्रेस विजेता 2,15,433 53% 43,996
मनोहर लाल एलकेडी उपविजेता 1,71,437 42% 0
1980
ज़ियार रहमान अंसारी कांग्रेस(आई) विजेता 1,16,375 38% 34,869
बजरंगबाली ब्रह्मचारी जेएनपी उपविजेता 81,506 27% 0
1977
राघवेंद्र सिंह बीएलडी विजेता 2,25,122 70% 1,60,874
जैरू रहमान अंसारी कांग्रेस उपविजेता 64,248 20% 0
1971
ज़ियार रहमान कांग्रेस विजेता 1,32,054 51% 59,158
बजरंग बाली ब्रह्मचारी BJS उपविजेता 72,896 28% 0
1967
के. देव कांग्रेस विजेता 93,820 39% 34,386
के सिंह पीएसपी उपविजेता 59,434 25% 0
1962
कृष्णा देव उर्फ़ मुन्नू कांग्रेस विजेता 73,340 39% 44,136
बीरपाल सिंह जेएस उपविजेता 29,204 16% 0
1957
गंगा देवी कांग्रेस विजेता 1,62,211 25% 1,62,211

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
husband wife ate poison after family tortured for talaq
For Daily Alerts

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more